गर्मियों की छुट्टियों को मज़ेदार बनाना है तो आज़माओ ये बेहतरीन तरीके

Tripoto

गर्मी की छुट्टियाँ भले ही साल का छोटा- सा हिस्सा हो, लेकिन ये साल का सबसे अहम हिस्सा होता है। मैं तो इस बात से बिल्कुल वाकिफ रखती हुँ। तो अब जब गर्मियों की छुट्टियाँ दरवाज़े पर दस्तक दे रही हैं, तो चलिए इन छुट्टियों को पर्फेक्ट बनाने की तैयारी ले!

क्या आप स्कूल या कॉलेज में पढ़ हैं? तो अपनी छुट्टी बिल्कुल बर्बाद मत करो!

बिना पढ़ाई या किसी ज़िम्मेदारी की बोझ ये अपनी क्रिएटिविटी, अपना ज्ञान और अपने कौशल को बढ़ाने का सबसे अच्छा वक्त है। तो ये रही वो चेकलिस्ट जो ध्यान रखेगी कि आप ये सब कुछ करें, वो भी घूमते हुए! चलिए देखते हैं आप इन गर्मी की छुट्टियों में कितनी चीज़ें कर पाते हैं!

1. एक असली, सच्चे अनुभव को ज़िंदगी से जोड़ें

हम में से ज्यादातर लोगों के लिए गर्मी की छुट्टी का मतलब है ननिहाल या दाद-दादी के घर जाकर अपने भाई-बहनों के साथ वक्त बिताना। इस गर्मी में, एक बिल्कुल नई जगह पर जाने के लिए कुछ वक्त निकालें। और भी बेहतर होगा अगर उस जगह की संसकृति आपके रहन-सहन से बिल्कुल अलग हो। जैसे बौद्ध और तिब्बती संसकृति को समझने के लिए दलाई लामा का घर कहे जाने वाले मैक्लॉडगंज की यात्रा करें। टिबेट वर्ल्ड में जाकर निर्वासन में रह रहे तिब्बतियों के साथ बातचीत करें, दलाई लामा मंदिर में बोने वाली प्रार्थना में भाग लें या तुशिता ध्यान केंद्र में बौद्ध क्लास में हिस्सा लें। बस एक नई जगह की खोज करने भर से ही आप संस्कृति, इतिहास और परंपरा के बारे में अपनी समझ को कई गुना बढ़ा लेंगे। बारे में अपनी समझ को बढ़ाएंगे।

गर्मियों में कैसे मैंने एक मठ में रहना चुना, इसके बारे में यहाँ पढ़ें।

2. ट्रेकिंग पर जाएँ!

आपको इस गर्मी में ट्रेक करना चाहिए, खासकर तब अगर आप मैदानी इलाकों में रहते हैं। ट्रेकिंग आपको शहर की ज़िंदगी की टेंशन से दूर ले जाएगा, आपको जंगल में फेंक देगा, और आपकी शारीरिक और मानसिक काबिलियत का एक बढ़िया टेस्ट लेगा। ट्रेक पर आप ज़िंदगी के वो ज़रूरी सबक सीखते हैं जो किसी भी क्लास में नहीं सिखाए जाते। आप सीखेंगे कि प्रकृति की सराहना कैसे करें, खुद को अनुशासित करें, कैसे किसी मुश्किल का सामना डट कर करें, और सबसे ज़रूरी बात, खुद पर भरोसा करना। अगर आप पहली बार ट्रेक कर रहे हैं तो एक छोटा ट्रेक या हाइक चुनें। गर्मियों में हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में ट्रेक करने का सबसे अच्छा समय है। तो आप किसका इंतज़ार कर रहे हैं?

मेरे पापा के साथ मेरे पहले ट्रेकिंग अनुभव के बारे में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

3. समाज सेवा करें

गर्मियों के दौरान, ज्यादातर संगठन स्वयं सेवा या वॉलंटीयर के लिए आवेदन खोल देते हैं। शिक्षा,आतिथ्य, यात्रा, मार्केटिंग, एडवेंचर जैसे कई सारे क्षेत्रों में आप स्वयं सेवा करना चुन सकते हैं। इसके लिए आप एक नई जगह की यात्रा भी कर सकते हैं। इस अनुभव को ना सिर्फ अपने बायोडाटा में जोड़ सकते हैं (बस इसके लिए ऐसा न करें) बल्कि इससे समाज की भलाई में अपना योगदान भी दे सकेंगे। मैं आपको विश्वास दिलाती हूँ कि अपना वक्त इस तरह से कुछ अच्छा करने में बिताएँगे तो ये अनुभव ज़िंदगी भर आपके साथ रहेगा।

भारत में कुछ बेहतरीन स्वयंसेवा के मौकों के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।

4. धरती को बचाने में मदद करें

इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता है कि हम अपने पर्यावरण की ज़्यादा परवाह ना करके हालातों को बेहद हल्के में लेते हैं। अगर आप को भी यही लगता है और आप इसके बारे में कुछ करना चाहते हैं तो उन जगहों की यात्रा करें जहाँ स्वयंसेवक कार्यक्रम आपको पर्यावरण को संरक्षित करने का मौका देते हैं। अंडमान और निकोबार द्वीप जाएँ और ANET के साथ स्वयंसेवक के तौर पर जुड़ें। यह संगठन द्वीपों की प्रणाली बना रहा है। ये ना सिर्फ आपको यात्रा का बढ़िया बहाना देता है, बल्कि आपको समुद्री जीवन को करीब से देखने और द्वीपों को समझने का मौका भी देता है।

पर्यावरण को बचाते हुए आप कैसे यात्रा कर सकते हैं, यह जानने के लिए इस आर्टिकल को पढ़ें।

5. विदेश में पढ़ाई करें

एक नए देश का अनुभव करने का ये एक शानदार तरीका है और साथ ही आप कुछ नया पढ़कर अपना ज्ञान भी बढ़ाते हैं। विदेशों में लगभग सभी विश्वविद्यालयों, चाहे यूके हो, यूएसए हो या सिंगापुर ,सभी जगह कई सारे कोर्स करवाए जाते हैं जिनमें आप गर्मियों कि छुट्टियों में हिस्सा ले सकते हैं। ये स्कूल आपको 3-4 सप्ताह के लिए अपने देश में रहने की अनुमति देते हैं, जहाँ आप दुनिया भर के छात्रों के साथ पढ़ते हैं, उनसे दोस्ती करते हैं और साथ घूमते हैं। हाँ ये थोड़ा महंगा ज़रूर है, लेकिन अगर ये खर्च उठा सकते हैं तो इसे कुछ नया सीखने के तौर पर ज़रूर आज़माएँ।

6. एकल यात्रा करें

जो लोग घूमना पसंद करते है, उनके लिए सोलो ट्रिप तो जैसे एक ज़रूरी पढ़ाव की तरह है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप स्कूल या कॉलेज में या आप किस लिंग के हैं, सभी के लिए सोलो ट्रैवलिंग संभव है। यह एक बेहतरीन अनुभव है जो आपको अपने आप को बेहतर समझने का मौका देता है। हालांकि, इस यात्रा पर तभी निकलें जब आप इसके लिए पूरी तरह तैयार हों।

ये 11 टिप्स आपको आपकी पहली एकल यात्रा प्लान करने में मदद करेंगी।

7. आध्यात्म के समंदर में डुबकी लगाओ

जो लोग अपनी ज़िंदगी को अधूरा या खुद को अकेला महसूस कर रहे हैं वो अध्यात्म की एक यात्रा पर जाने का मन बना सकते हैं। आध्यात्मिकता एक पूरी तरह से अलग दुनिया के दरवाज़े खोल देती है और हमारी स्वार्थ और वस्तुवाद भरी ज़िंदगी को संंतुलन भी देती है। आप बौद्ध धर्म, विपासना और दूसरी तरह के ध्यान से जुड़ें कोर्स के जुड़ सकते हैं। एक ऐसे आयाम से जुड़ें जिसके बारे में शायद अपना कभी सोचा भी नहीं होगा और अपना मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाएँ।

आध्यात्मिक केन्द्रों की यात्रा की लिस्ट के लिए यहाँ क्लिक करें।

8. अपने दोस्तों के साथ यात्रा करें

दुनिया में अपने दोस्तों के साथ यात्रा करने से ज्यादा रोमांचक कुछ नहीं है! एक नए शहर में, दिन भर एक-दूसरे के साथ रहना, वो भी बिना किसी रोक-टोक या घरवालों की निगरानी के! इस गर्मी में, अपने दोस्तों के साथ घूमने का प्लान बनाएँ; भले ही वो जगह गोवा ना हो, लेकिन ये सफर ऐसा होगा जिसे आप ज़िंदगी भर नहीं भुला पाएँगे।

इसलिए अगरआपके पास गर्मियों की छुट्टियाँ हैं, तो अपनी कमरे की चार दिवारों में कैद रहने की कोई वजह नबीं है। तो चलिए बाहर निकलिए और अपनी यात्रा से कुछ मकसद पूरा कीजिए।

इस आर्टिकल को अपने उन दोस्तों के साथ शेयर करों जो गर्मियों की छुट्टियाँ टीवी के सामने बिताने का सोच रहे हैं।

अगर आपके पास भी अपनी यात्रा के रोमांचक अनुभव हैं तो उन्हें यहाँ लिखकर Tripoto मुसाफिरों के साथ बाँटें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment