दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी

Tripoto
6th May 2022
Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या
Day 1

गर्मियों के मौसम में हम अक्सर अपने घरों की चार दीवारी में रहना पसंद करते हैं। लेकिन गर्मी का मौसम वो होता है जब आप घुमक्कड़ी की नयी जगहों की देख परखकर समझ सकते हैं। हमने ख़ास आपके लिए ग़ाज़ियाबाद के नज़दीक कुछ पर्यटन स्थलों की सूचि तैयार की है जिन्हें आप इन दिनों एक्स्प्लोर कर सकते हैं।

1. ड्रिज्लिंग लैंड वॉटर एवं मनोरंजन पार्क

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

वॉटर और मनोरंजन पार्क लगभग सभी उम्र के लोगों को पसंद होते हैं, कोई भी व्यक्ति, किसी भी सवारी को चुन सकता है जैसे मल्टी स्लाइड पूल, वेव पूल, बच्चों और परिवार के पूल, पूल साइड रेस्तरां, स्वादिष्ट नाश्ता और भोजन की सुविधा देता है। इसलिए वे सप्ताहांत में अपने दोस्तों और परिवार के साथ घूमने और गर्मी को मात देने के लिए यहाँ पर आते हैं।

पार्क में उच्च प्रशिक्षित सुरक्षा कर्मचारी और साथ ही मेडिकल स्टाफ उपलब्ध हैं, जिसमें वे सख्त सुरक्षा मानदंडों का पालन करते हैं, पूल प्रशिक्षकों का मार्गदर्शन प्रत्येक अतिथि को एक आनंद भरे दिन के लिए सहायता प्रदान करता है।

स्थान: 8 किलोमीटर मील स्टोन, दिल्ली–मेरठ राजमार्ग, दुहाई, गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश।

2. इस्कॉन मंदिर

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

भक्तों से अकारण दया के कारण सभी खुश थे। वैदिक अध्ययन और प्रदर्शन कला केंद्र, जिसे इस्कॉन गाजियाबाद के रूप में भी जाना जाता है। यह मंदिर हरे कृष्ण मार्ग, राजनगर गाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश में स्थित है।

इस्काॅन मंदिर के लिए जमीन अरोड़ा परिवार ने (जो की लंदन में रहती है) दान द्वारा दी गई थी। मंदिर चार मंजिला है और इसमें पंद्रह कमरों वाला गेस्ट हाऊस भी है। मंदिर का यह स्थान गाज़िबाद के सबसे समृद्ध इलाकों में से एक है। यह मंदिर गुलाबी जयपुर पत्थर से बनाया गया है और प्राकृतिक रूप से नक्काशीदार लकड़ी की वेदियों, इटेलियन संगमरमर के फर्श, सोने के पत्तों वाली छत की आकृति, झूमर और एक सर्पिल सीढ़ी से निर्मित, यह मंदिर जगन्नाथ भगवान के लिए एक आदर्श घर है।

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

3. लक्ष्मीनारायण मंदिर

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के मोदीनगर कस्बे में स्थित है। इसे प्रचलित रूप में मोदी मंदिर भी कहा जाता है। दिल्ली के बिड़ला मंदिर से कुछ कुछ मेल खाते हुए इस मंदिर की भव्यता देखते ही बनती है।कालांतर में भगवान श्री वेंकटेश्वर की मूर्ति की स्थापना की गई थी। इस मंदिर की मूर्ति का नित्य पूजा अर्चना के साथ ही, प्रत्येक शुक्रवार की सुबह साढ़े पाँच बजे अभिषेक किया जाता है, जो कि लगभग डेड़ घंटे चलता है। इसके बाद इनका शृंगार भी किया जाता है।

4. इंदिरापुरम हैबिटेट

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या
Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

5. दादरी

Photo of दिल्ली जाने की क्या ज़रुरत जब ग़ाज़ियाबाद में मौजूद हैं एक से बढ़कर एक जगहें!क्या आपने इनमें से किसी by मौर्यवंशी दीपू मौर्या

दादरी उत्तरप्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के पास स्थित है। यहां के गुर्जर शासक राजा उमराव सिंह और इस क्षेत्र के कुछ अन्य मुखिया ने ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध विद्रोह किया था। राजा को उनके चार साथियों के साथ अंग्रेजों ने फांसी दे दी थी। यह शहर नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन द्वारा संचालित एक विद्युत उत्पादन संयंत्र के लिए भी जाना जाता है।

क्या आपने इनमें से किसी जगह की यात्रा की है? अपने अनुभव को हमारे साथ शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें