इन 3 नेशनल पार्क में मिलेगा नाइट सफारी के साथ वाइल्डलाइफ देखने का सुनहरा मौका!

Tripoto
Photo of इन 3 नेशनल पार्क में मिलेगा नाइट सफारी के साथ वाइल्डलाइफ देखने का सुनहरा मौका! by Deeksha Agrawal

अगर आपको वन्यजीवन में दिलचस्पी है तो आपने कभी न कभी वाइल्डलाइफ सफारी पर जाने का जरूर सोचा होगा। खैर यदि आपने अबतक ऐसा कोई प्लान नहीं बनाया है तो मध्यप्रदेश सरकार ने आपको लुभाने की पूरी तैयारी कर ली है। मध्यप्रदेश सरकार का नाइट सफारी का नायाब कॉन्सेप्ट यहाँ आने वाले पर्यटकों को भी खूब पसंद आ रहा है। इस प्रोग्राम के तहत अब आप मध्यप्रदेश के तीनों वाइल्डलाइफ नेशनल पार्क में रात के समय जानवरों को देखना का मजा उठा सकते हैं। इससे आप रात के सन्नाटे में भी जानवरों को उनके प्राकृतिक घर में देख पाएंगे। वैसे सरकार का ये कदम मध्य प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के नजरिए से भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

राज्य सरकार का कहना है कि सफारी का रूट कुछ इस तरह से रखा जाएगा कि किसी भी समय पार्क के जानवरों को कोई परेशानी ना हो। जानवरों की सुरक्षा के लिए भी उचित व्यवस्था की जाएगी।

बुकिंग कैसे करें?

नाइट सफारी का मजा लूटने के लिए सभी पर्यटकों को मध्यप्रदेश सरकार के फॉरेस्ट डिपार्टमेंट द्वारा चलाए जा रहे वाइल्डलाइफ सफारी रिजर्वेशन पोर्टल पर जाकर टिकट बुकिंग करनी होगी। ये पूरी प्रक्रिया आपको ऑनलाइन ही करनी होगी।

नेशनल पार्क से जुड़ी जानकारी

इस नाइट सफारी प्रोग्राम में फिलहाल बांधवगढ़ नेशनल पार्क, कान्हा नेशनल पार्क और पेंच नेशनल पार्क को शामिल किया गया है।

बांधवगढ़ नेशनल पार्क में शाम 6.30 बजे से लेकर रात 9.30 बजे तक नाइट सफारी का ऑप्शन मौजूद रहेगा। इस नेशनल पार्क में आप हिरण और रॉयल बंगाल टाइगर देख सकते हैं। इस सफारी को पार्क की बफर जोन में किया जाएगा।

पेंच नेशनल पार्क के लिए शाम 5.30 बजे से लेकर रात के 8.30 बजे तक का समय रखा गया है। इस नेशनल पार्क में आप बाघ, लेपर्ड, सियार और कई तरह के पंछी देख सकते हैं।

कान्हा नेशनल पार्क के लिए शाम 7.30 बजे से लेकर रात 10.30 बजे तक का समय रखा गया है। इस नेशनल पार्क में आप बारासिंघा, मोर, उल्लू, ईगल और रॉयल बंगाल टाइगर भी देख सकते हैं।

क्या आपने इनमें से किसी नेशनल पार्क की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें