इस साल घुमक्कड़ी में आए ये 10 बड़े बदलाव, जान लोगे तो फायदेमंद साबित होंगे

Tripoto
Photo of इस साल घुमक्कड़ी में आए ये 10 बड़े बदलाव, जान लोगे तो फायदेमंद साबित होंगे by Rishabh Dev

इस साल के ज्यादातर महीने घुमक्कड़ों को घर में बैठकर या अपनी पुरानी फोटोज को देखकर बिताने पड़े। घूमने वालों के लिए ऐसा बुरा समय कभी नहीं आया था, जब वो चाहते हुए भी कहीं भी घूमने नहीं जा पा रहे थे। हालांकि, अब धीरे-धीरे सब कुछ फिर से शुरू हो रहा है लेकिन अब घूमने के दौरान कुछ सावधानियाँ बरतनी पड़ेगी। इस साल ट्रेवल इंडस्ट्री में बहुत सारे बदलाव हुए हैं जिसने घुमक्कड़ी को बदलकर रख दिया है। अगर आप घूमने के शौकीन हैं और अब घूमने जाने वाले हैं तो पर्यटन क्षेत्र में आए इन बदलावों के बारे में आपको जान लेना चाहिए।

1- टच फ्री ट्रेवल

पहले घुमक्कड़ी का मतलब था कि लोगों से घुलना-मिलना। वैसे तो घुमक्कड़ी का मतलब अब भी यही है कि लोगों से घुलिए-मिलिए, उनसे बातें कीजिए लेकिन अब ये सब थोड़ा दूर कीजिए। अब घूमने में बड़ा बदलाव आया है कि लोगों से दूर रहकर या किसी से टच होने से बचना है। एक महामारी की वजह से टच फ्री ट्रेवल टेंड में आ गया है। सरकार भी सभी से अपील कर रही है कि लोगों से जितनी दूरी बनाई जा सकती है, बनाएं। इसका ये मतलब कतई नहीं है कि किसी से बात न की जाए। घुमक्कड़ी में बदलाव आया है, घुमक्कड़ी के अर्थ में नहीं। इसलिए आप घूमने जाएं तो आसपास के लोगों से थोड़ी दूरी बरतें।

2- स्थानीय जगहों को खोजें

पहले लोग फेमस जगहों पर जाना पसंद करते थे, वहाँ कुछ दिन बिताते थे लेकिन अब लोग स्थानीय जगहों यानी कि आसपास की जगहों पर जाना पसंद कर रहे हैं। अब लोगों का मानना है कि पहले आसपास की जगहों को अच्छे से देख लिया जाए फिर फेमस और लंबी दूरी वाली जगहों पर जाएं। इससे अच्छी बात ये भी है कि लोकल ट्रेवल डेवलेप हो रहा है। जिन जगहों पर कभी घुमक्कड़ों के कदम नहीं पड़े वहाँ अब घूमने वाले पहुँच रहे हैं। इसलिए अब आपको भी अपने आसपास की जगहों पर घूमना शुरू कर देना चाहिए। क्या पता आपके आसपास की जगह पर कोई अच्छी घूमने की जगह हो और आपको पता न हो?

3- मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइज

'सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइज' ये दो शब्द ऐसे हैं जो अब से हमारे जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुके हैं। अब आपको फ्लाइट, एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन जैसी हर जगह पर सोशल डिस्टेंसिंग दिखाई देगी। इसके अलावा कहीं भी बाहर निकलें तो मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। जहाँ भी आप जाएं मास्क जरूर पहनें। घूमने के दौरान खुद को सैनिटाइज करना न भूलें। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन पर तो सैनिटाइज करने की मशीन लगी हुई है। कुछ जगहों पर थर्मल स्क्रीनिंग भी हो सकती है। इसलिए इन बदलावों को आपको अपना लेना चाहिए।

4- होटल में ठहरने में बदलाव

अब होटल, हाॅस्टल, होमस्टे में भी ठहरने में कुछ बदलाव आ गए हैं। अब हर कोई पहले से होटल की एडवांस बुकिंग कराता है। होटल का खर्चा पूरी तरह से कैशलेस होता है, इसी वजह से हर कोई ऑनलाइन पेमेंट कर रहा है। होटल में अब खाना भी अब दूर रहकर परोसा जाता है। होटल में चेक इन से लेकर चेक आउट तक सब कुछ अब स्मार्टफोन के जरिए होगा। इसके लिए कुछ ऐप भी हैं जिनका आप इस्तेमाल कर सकते हैं। अब होटलों में सेल्फ सर्विस शुरू हो गई है। हालांकि सभी होटलों में ऐसी सुविधा नहीं लेकिन कुछ होटलों में ऐसा होना शुरू हो गया है। इसके अलावा होटलों में अब साफ-सफाई का ज्यादा ध्यान रखा जाता है। होटल को पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाता है।

5- घुमक्कड़ी को सरकार को बढ़ावा

घुमक्कड़ी सिर्फ लोगों से नहीं बढ़ती, सरकार का भी इसमें बड़ा योगदान होता है। इस साल कई देशों की सरकार ने ट्रेवल इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए बहुत कुछ किया है। भारत सरकार ने भी कुछ काम स्कीम चलाईं हैं जिससे ट्रेवल इंडस्ट्री को काफी बढ़ावा मिला है। उसमें से भारत सरकार की एक योजना है, अपनी धरोहर अपनी पहचान। इस योजना में भारत की ऐसी जगहों को खोजा जा रहा है जो कल्चर रूप से बहुत रिच हैं लेकिन उनके बारे में बहुत लोगों को पता नहीं है। ऐसी जगहों को खोजकर सरकार गोद लेती है और उन जगहों के बारे में लोगों को बताती है। ऐसी जगहों को सरकार अच्छा बनाती है ताकि लोग इन जगहों पर जा सकें। अगर आप इन जगहों के बारे में जानना चाहते हैं तो adoptaheritage.in लिंक पर जाएं।

6- घुमक्कड़ी के नए ट्रेंड

Photo of इस साल घुमक्कड़ी में आए ये 10 बड़े बदलाव, जान लोगे तो फायदेमंद साबित होंगे 6/10 by Rishabh Dev
श्रेय: मीडियम।

ट्रेवल में हर साल कुछ न कुछ नए ट्रेंड जुड़ते जा रहे हैं, हिचहाइकिंग, हाॅस्टल वैसे ही कुछ ट्रेंडस हैं। इस साल जो एक नया ट्रेंड देखने को मिल रहा है, वर्केशन। वर्केशन का मतलब है, वीकेशन पर भी काम करना। अब हर जगह वर्क फ्राॅम होम हो रहा है। जिनको घूमना पसंद है लेकिन काम की वजह से नहीं घूम पा रहे हैं तो वो वर्केशन कर सकते हैं। कई होटल वर्केशन डिस्काउंट में दे रहे हैं। आप एक होटल में बहुत दिनों तक रह सकते हैं और यहीं रहकर काम कर सकते हैं। सोचिए कि पहाड़ और समुद्र के नजारों को देखते हुए काम करना कितना खूबसूरत और शानदार होगा।

7- नई टेक्नोलोजी

घुमक्कड़ी के लिए फायदेमंद साबित होने वाली कुछ टेक्नोलोजी हैं, जो इस साल आई हैं। जो हर किसी के लिए फायदेमंद हो सकती हैं जैसे कि वीआर टाइम ट्रेवल, एआर मैप, एलेक्सा, बी ऐप। ये सभी टेक्नोलोजी के कुछ बदलाव हैं। इसके अलवा 5जी नेटवर्क भी टेक्नोलोजी में बड़ा बदलाव है जिससे इंटरनेट अब तेज स्पीड से चलेगा। हालांकि 5जी नेटवर्क अभी भारत में नहीं आया है लेकिन जल्द ही आने की संभावना है।

8- इकोटूरिज्म

ये काॅन्सेप्ट पहले भी था लेकिन लोग इस पर पहले ध्यान नहीं देते थे लेकिन अब सभी इसका महत्व समझने लगे हैं। लोग अब सीओ2 के ज्यादा उत्सर्जन से परेशान हो जाते हैं। प्लास्टिक की बोतल और सामान का उपयोग घूमते समय कम कर दिया है। जो समझदार ट्रेवलर होते हैं वो सिर्फ घूमते ही नहीं हैं जगहों को साफ भी करते हैं। लोग अब घुमक्कड़ी के नैतिकता के आॅप्शन देख रहे हैं। लोग अब जहां ठहरते हैं, जिस कंपनी से जुड़ते हैं वहां इको टूरिज्म को जरूर देखते हैं। उसके बाद बुकिंग करते हैं।

9- वर्चुअल घुमक्कड़ी

बहुत सारे लोग घुमक्कड़ी करके अनुभव लेते हैं तो कुछ लोग ट्रेवल नहीं कर पाते हैं। ऐसे लोग वर्चुअली ट्रेवल कर सकते हैं। इसके लिए उनको न ही बैग पैक करने की जरूरत है और न ही कहीं जाने की जरूरत है। आपको तो बस एक कमरे में बैठना है और टेक्नोलोजी के माध्यम से घुमक्कड़ी का अनुभव ले सकते हैं। वैसे तो इसमें घुमक्कड़ी का वो अनुभव नहीं मिलता है जो असल घुमक्कड़ी में होता है। फिर भी जो घुमक्कड़ी नहीं कर पाते हैं उनके लिए वर्चुअली ट्रेवल करना एक बढ़िया तरीका है।

10- पैकेज

इस साल एक और नया बदलाव आया है कि अब लोग पैकेज में घूमना पसंद कर रहे हैं। पहले लोग सोलो और ग्रुप में जाते थे लेकिन पैकेज कम ही लोग बुक करते थे। अब लोग पैकेज ज्यादा बुक कर रहे हैं। इससे ये फायदा होता है कि लोगों को परेशान कम होना पड़ता है। आना-जाना, रहना और खाना जैसी सभी चीजों की जिम्मेदारी, जिस कंपनी का पैकेज लिया है, उसकी होती है। इस वजह से पैकेज में लोग घूमना पंसद कर रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि लोग सोलो ट्रिप या खुद से घूम ही नहीं रहे हैं। पैकेज बुक करके घूमना एक ट्रेंड है जो टूरिज्म में काफी चलन में आ गया है।

क्या आपने हाल ही में किसी जगह की यात्रा की है? अपने सफर के अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

रोज़ाना वॉट्सऐप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9319591229 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें।