कुदरती खूबसूरती और हैरतअंगेज नज़ारों से भरपूर लद्दाख की पूगा घाटी, घुमक्कड़ों बना लो प्लान

Tripoto
Photo of कुदरती खूबसूरती और हैरतअंगेज नज़ारों से भरपूर लद्दाख की पूगा घाटी, घुमक्कड़ों बना लो प्लान by Deeksha Agrawal

हम अक्सर सभी जगहों पर घूमने की वजह से किसी भी एक जगह को अच्छे से रुककर महसूस नहीं कर पाते हैं। जो कुछ मामलों में गलत निर्णय होता है। यदि आपको पहाड़ पसंद हैं और आप लद्दाख जैसे शानदार और बेमिसाल जगह पर जाने का प्लान बनाना चाहते हैं तो आपको कम से कम 8 से 10 दिनों की ट्रिप पर जाना चाहिए। लद्दाख में जल्दीबाजी करना आपको भारी पड़ सकता है। आराम से ठहरकर घूमने से ही लद्दाख की प्राकृतिक छटा का सबसे मखमली रूप दिखाई देता है। लद्दाख में आपको एक बार में दो या तीन घाटियों का दीदार करने का मन बनाना चाहिए। अगर आप नुब्रा और जांस्कर घाटी देख चुके हैं तो अब आपको लद्दाख की पूगा घाटी देखने जाना चाहिए।

पूगा घाटी

लद्दाख के चंगथांग में स्थित पूगा घाटी एडवेंचर प्रेमियों के लिए बेहद खूबसूरत जगह है। ये भारत की उन जगहों में से है जिन्हें जियोथर्मल एनर्जी के नजरिए से महत्वपूर्ण बताया जाता है। पूगा घाटी में बोरेक्स और सल्फर से निर्मित गर्म पानी के कुंड पाए जाते हैं जिसकी वजह से ये घाटी हमेशा चर्चा का विषय बनी रहती है। पूगा घाटी की एक और चीज है जो इसको बेहद खास बना देती है। वो है यहाँ मिलने वाले नमक की मात्रा। दूर से देखने पर आपको ये बर्फ भी लग सकती है लेकिन असल में ऐसा नहीं है। पूगा घाटी के आकर्षक नजारे आपको बहुत अच्छे लगेंगे। ये घाटी यकीनन एक ऐसी जगह है जिसको हर घुमक्कड़ को जरूर देखना चाहिए।

क्या करें?

लद्दाख में देखने में लिए इतना सबकुछ है कि आपका समय कम पड़ जाएगा। आप जितनी बार लद्दाख जाएंगे आपको कुछ ना कुछ नया जरूर मिलेगा। पूगा घाटी भी लद्दाख का ऐसा नगीना है जिसकी जितनी तारीफ की जाए कम होगी।

1. कर्जोक

समुद्र तल से 15,000 फीट की ऊँचाई पर स्थित कर्जोक मोनास्ट्री लद्दाख की सबसे खूबसूरत जगहों में से है। इस बौद्ध मठ का यूनिक आर्किटेक्चर और शानदार लोकेशन इसको और भी ज़्यादा देखने लायक बना देता है। ये मठ लगभग 70 बौद्ध भिक्षुओं का घर हैं। वहीं कोर्ज़ोक गाँव में कुल 1300 लोग रहते हैं। अगर आप इस मोनास्ट्री को उसके सबसे शानदार रूप में देखना चाहते हैं तो आपको जुलाई से अगस्त के बीच आना चाहिए। इस समय मठ में कर्जोक गुस्टर फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है जो यकीनन देखने लायक होता है। हालांकि पूगा घाटी से करजोक आने के लिए आपको 2 घंटों का सफर तय करना पड़ेगा लेकिन यकीन मानिए कर्ज़ोक की एक झलक आपको खुश कर देगी।

2. गर्म पानी के कुंड

पूगा घाटी को प्रकृति का वरदान मिला हुआ है। ये जगह जितनी खूबसूरत है उतनी ही लाभदायक भी है। पूगा घाटी में जगह जगह पर गर्म पानी के कुंड पाए जाते हैं जिन्हें हॉट स्प्रिंग्स कहा जाता है। स्थानीय लोगों के अनुसार पूगा घाटी के इन गर्म पानी के कुंड को औषधीय गुणों से भरपूर माना जाया है। कहना ये भी है कि इन कुंड के पानी से नहाने से आपकी सभी बीमारियाँ दूर हो जाती हैं। लेकिन क्योंकि ये पानी बहुत अधिक गर्म होता है इसलिए कुछ भी करने से पहले सावधानी बरतना बेहद ज़रूरी हो जाता है।

3. नेचर वॉक

लद्दाख वो जगह है जहाँ प्रकृति ने भरपूर प्यार लुटाया है। लद्दाख का हर हिस्सा बेहद खूबसूरत तो है है लेकिन साथ में उनकी अपनी अलग विशेषताएँ भी हैं। पूगा घाटी में नेचर वॉक का कॉन्सेप्ट काफी लोकप्रिय है। यदि आप इस घाटी में ज़्यादा कुछ नहीं करना चाहते हैं तो कंधे पर छोटा बसता टांगकर बस टहलने निकाल पढ़िए। पूगा की वादियों में आपको सुकून मिलेगा। यहाँ के शानदार लैंडस्केप और दिलकश नजारे देखकर आप झूमने लगेंगे। यकीन मानिए पूगा घाटी में टहलना किसी स्वर्ग की सैर करने जैसा है।

4. जियोथर्मल एनर्जी के बारे में जानें

एक और चीज है जो पूगा घाटी को बेहद खास बनाती है। वो है यहाँ मिलने वाली शक्तिशाली जियोथर्मल एनर्जी। पूगा उत्तरी भारत के उन हिस्सों में से है जहाँ सबसे अधिक मात्रा मे जियोथर्मल एनर्जी पाई जाती है। केवल यही नहीं पूगा घाटी में इस जियोथर्मल एनर्जी का बखूभी इस्तेमाल किया जा रहा है। पूगा घाटी में आपको जियोथर्मल एनर्जी के बारे में बहुत सारी रोचक चीजें जानने के लिए मिल सकती हैं। यहाँ तक कि फरवरी में हुए एक मेमोरंडम के अनुसार पूगा घाटी में बहुत ही जल्द एक प्लांट लगाया जाएगा जो जियोथर्मल एनर्जी को इस्तेमाल करके केवल घाटी ही नहीं बल्कि और भी अन्य चीज़ों के लिए काफी मददगार साबित होगा।

कब जाएँ?

किसी भी सर्द जगह पर जाने का सबसे अच्छा समय जून-जुलाई का होता है। जब देश के मैदानी इलाकों में ज़ोरदार गर्मी पर रही होती है, पहाड़ों पर मौसम खुशनुमा बना रहता है। इसलिए यदि आप पुगा घाटी जाना चाहते हैं तो आपको गर्मी के महीनों में प्लान बनाना चाहिए। हालांकि यदि आप चाहें तो ठंड में भी इस घाटी में जाया जा सकता है। सर्दियों के मौसम में पूगा बर्फ से ढका जाती है जिसकी वजह से इस घाटी का नया और बेहद आकर्षक रूप देखने के लिए मिलता है।

कहाँ ठहरें?

पूगा घाटी में ठहरने के लिए आपके पास तमाम ऑप्शन्स हैं। पूगा घाटी में होमस्टे का उतना चलन फिलहाल नहीं है लेकिन यदि आप थोड़ी कोशिश करेंगे तो आपको स्थानीय लोगों द्वारा चलाए जा रहे होमस्टे भी मिल जाएंगे। इसके अलावा घाटी में लग्ज़री रिजॉर्ट और कैंपिंग करने की बढ़िया सुविधा है। यदि आप टेंट में रहना चाहते हैं तो आप घाटी के आसपास मिल रहे तमाम ऑप्शन्स में से किसी भी कैंप का चुनाव कर सकते हैं। वहीं होटलों की बात की जाए तो पूगा घाटी में होटल लेना आपकी जेब पर थोड़ा भारी पड़ सकता है। पूगा घाटी में होटलों की शुरुआती कीमत 5,000 रुपए से होती है जो 25,000 से 26,000 रुपए तक जा सकती है। आप अपने बजट के हिसाब से इनमें से किसी भी जगह का चुनाव कर सकते हैं।

कैसे पहुँचें?

लद्दाख में सफर करने का सबसे अच्छा तरीका होता है आप रोड ट्रिप कीजिए। पूगा घाटी पहुँचने के दो रास्ते हैं। पहला ये की आप लेह एयरपोर्ट तक की फ्लाइट ले सकते हैं। जिसके बाद आब टैक्सी, कैब या बाइक पर सवार होकर पूगा घाटी आ सकते हैं। लेह एयरपोर्ट से पूगा हॉट स्प्रिंग्स की दूरी लगभग 177 किमी. है। इस सफर को तय करने में आपको 4 घंटों का समय लग सकता है। पूगा घाटी पहुँचने का दूसरा तरीका है कि आप यदि दिल्ली है मुंबई की तरफ से आ रहे हैं तो आप घाटी तक का पूरा सफर बाइक या गाड़ी से तय कर सकते हैं।

क्या आपने पूगा घाटी की यात्रा की है ? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें