जबलपुर, पंचमढ़ी टूर

Tripoto
18th Jul 2018

हम लोग ट्रेन से जबलपुर पहुंचे   दोपहर 2pm पर वहां नीलम लाज में रुके फ्रैश होने के बाद खाना खाया फिर सरकारी बस से भेडा घाट गए जो वहां से २४ किलो मी है वहां से वापस ३,४, घंटे में जबल पुर आ गए

Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit

फिर वापस लाज में आकर सुबह की ट्रेन से पिपरिया पहुंच-- 20/7/18 को जो जबलपुर से २४७ किमी है ६ घंटे की यात्रा है रेलवे स्टेशन से पीछे की तरफ रोडवेज स्टैंड है और प्राईवेट गाडियां चलती लेकिन हमलोग शेयरिंग क्रू जर से पचमढ़ी पहुंचे01pm पर जो पिपरिया से 70 km है वहां होटल Delite         में रुके फ्रैश होकर शेयरिंग मार्शल से घुमाई जाने वाली जगह , अंबा ‌‌ माई, जटाशंकर, हंदिखो, प्रियदर्शनी,महादेव, गुप्त महादेव पचमढ़ी का प्रथम दिन टूर था

02 day tour---21/7/18. पचमढ़ी पांडव गुफा , म्यूजियम,अप्सरा विहार ,वॉटरफॉल,सिल्वर फॉल, वी फॉल ,चिल्ड्रन पार्क, रजेंद्रगीरी, देखा लेकिन काफी सारे साइट सीन रहगए थे क्योंकि हमारी ट्रेन थी सुबह ९बजे मैहर केलिए तो हम लोग वापस पिपरिया आ गए रात में लेकिन जो भी पचमढ़ी टूर पर जाना चाहे ४दिन का समय लेकर जाए पर्सनल गाड़ी से ना जाएं क्योंकि वहां एमपी टूरिज्म डिपार्टमेंट से २२०० रुएपे की रशीद लेना पड़ती है जो महेंद्रा गाड़ी ड्राई बर और गाइड भी साथ में देते हैं वहां का वातावरण हरी भरी सतपुड़ा की वादियां एकदम अलग ही वातावरण प्रस्तुत करते है एक धुआं धुआं सा कुहरा पेड़ों पर छाया हुआ ओस की महीन बूंदे गिरती हुई ऐसा लगता जैसे जुलाई में दिसंबर का कुहरा हो ऎसा लगता है,! यह प्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन है। यह जगह इतनी खूबसूरत है कि इसे सतपुड़ा की रानी भी कहा जाता है। यहां के घने जंगल, वॉटरफॉल और तालाब इसे एक बेहतरीन टूरिस्ट स्पॉट बनाते हैं। यहां की गुफाओं का भी बहुत महत्व है जिसका मुख्य कारण है यहां पाए जाने वाले शैलचित्र। पचमढ़ी पूरे वर्ष मौसम पर्यटन के लिहाज से उत्तम स्थल है। अपनी महान प्राकृतिक सुंदरता और शांति तथा एकांत इसकी सबसे अद्भुत विशेषताएं है। कहा जाता है की पचमढ़ी प्राचीन चट्टानों को काटकर बनी गुफाएं है, जहां पांच पाण्डव भाइयों ने शरण ले रखी थी। वर्ष 1857 में पचमढ़ी की खोज और विकास कैप द्वारा किया गया। बाद में, यह एक अद्भुत यात्रा स्थल में बदल गया। प्रियदर्शिनी पॉइंट,झरने,तीर्थ,जटाशंकर,रॉक शेल्टर,धूपगढ,पाण्डव गुफाएं आदि पंचमढ़ी के प्रमुख आर्कषण है।

Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit

४ डे टूर पचमढ़ी
start date 18/7/18

खर्च - 10000,. 3- personरहना खाना नाश्ता +साईटसीन

कैसे पहुंचें पचमढ़ी
ट्रेन  दुआरा-- जबलपुर टू पिपरिया 247 km
पिपरिया टू पचमढ़ी  बस , टैक्सी  दुआरा  70 km

तापमान --0 डिग्री से 30  सेल्सियस

बजट होटल - डिलाइट
मोबाइल नंबर।   0942536717

Pchmarhi

Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit
Photo of जबलपुर, पंचमढ़ी टूर by Sandhya Dixit

इसके बाद हम लोग मैहर पहुंचे ----22/7/18 को २ पीएम पर जो ३६० किमी है पिपरिया से 8 घंटे की यात्रा के बादरेलवे स्टेशन से टैक्सी दुआरा मैहर मंदिर पहुंचे रोपवे का टिकट लिया शारदा माता केदर्शन किये और वापस घर आए !

Be the first one to comment