अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद

Tripoto
Photo of अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद by Hitendra Gupta

उत्तराखंड में अब जल्द ही कार्बेट पार्क के पास तराई पश्चिमी वन प्रभाग के फाटो के जंगल में डे सफारी का आनंद ले सकेंगे। सरकार ने इसे शुरू करने के लिए हरी झंडी दे दी है। पर्यटक अब इसी साल अक्तूबर से फाटो में पर्यटक जिप्सी सफारी का आनंद ले सकेंगे। फिलहाल वन विभाग इसकी रूपरेखा बनाने में लगा है।

Photo of Jim Corbett National Park, Ramnagar, Uttarakhand, India by Hitendra Gupta

कार्बेट पार्क में पर्यटक सफारी के लिए जाते हैं। इसके अलावा रामनगर वन प्रभाग में भी सीतावनी पर्यटन जोन में सफारी होती है। अब तराई पश्चिमी वन प्रभाग के जैव विविधता, घने जंगल व वन्य जीवों की मौजूदगी वाले फाटो जोन में भी पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश शुरू हो गई है। पर्यटक यहां दस किलोमीटर के इलाके में सफारी कर सकेंगे।

Photo of अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद by Hitendra Gupta

स्थानीय अखबारों मे आई खबर के अनुसार तराई पश्चिमी वन प्रभाग के डीएफओ बीएस शाही ने बताया है कि अक्तूबर से फाटो में डे सफारी शुरू हो जाएगी। सफारी के लिए जिप्सियों की संख्या कितनी होगी और बुकिंग कैसे होगी, विभाग द्वारा इन सब की रूपरेखा बनाई जा रही है। बताया जा रहा है कि फाटो को विकसित करने के लिए 15 लाख रुपये स्वीकृत भी कर दिए गए हैं।

Photo of अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद by Hitendra Gupta
Photo of अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद by Hitendra Gupta

इसके पहले मार्च में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने तराई पश्चिमी वन प्रभाग के फाटो रेंज को पर्यटन जोन बनाने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि फाटो और उत्तरी जसपुरी रेंज को मिलाकर एक पर्यटन जोन बनाया जाएगा।

सभी फोटो कार्बेट पार्क उत्तराखंड टूरिज्म

Photo of अब आप कॉर्बेट टागर रिजर्व के पास फोटो जोन में भी ले सकेंगे डे सफारी का आनंद by Hitendra Gupta

हिमालय की तराई में स्थित फाटो (कुछ लोग इसे फांटो भी कहते हैं) के प्राकृतिक दृश्यों के बीच पर्यटकों को काफी कुछ देखने को मिलेगा। आप यहां हरे-भरे जंगलों के बीच नदियों, झरनों और जंगली जानवरों को देख सकते हैं। यहां घूमने के साथ आपको असीम शांति का भी अनुभव प्राप्त होगा।

कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें कमेंट बॉक्स में बताएँ।

अपनी यात्राओं के अनुभव को Tripoto मुसाफिरों के साथ बाँटने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती के सफ़रनामे पढ़ने के लिए Tripoto বাংলা  और  Tripoto  ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना Telegram पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।