पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में

Tripoto
Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में by Rishabh Bharawa

अगर आप नई नई तरह की जगहों को घूमना पसंद करते हैं और पहाड़ों ,रेगिस्तान, समुद्र,मंदिर मस्जिद ,किलों के अलावा कोई कुछ नया ढूंढ रहे हैं तो हैदराबाद की रामोजी फिल्म सिटी की मौज मस्ती आप ही के लिए हैं। हैदराबाद से 25 किमी दूर यह फिल्म सिटी करीब 2000 एकड़ में फैली हुई हैं।इस फिल्म सिटी में आपको कई तरह देश विदेश के कई प्रसिद्द उद्यान ,मंदिर ,एयरपोर्ट ,रेलवे स्टेशन ,किले ,स्मारक ,हवेलियां आदि बने हुए हैं जहाँ चेन्नई एक्सप्रेस,बाहुबली ,गोलमाल ,कृष -3, तेरे नाम ,रॉकस्टार ,दी डर्टी पिक्चर ,दिलवाले ,रोबोट जैसी करीब 2000 से ज्यादा फिल्मों की शूटिंग हुई हैं।इस फिल्मसिटी में ही किसी भी प्रकार की फिल्म की पूरी शूटिंग हो जाती हैं ,बिना असल में कही जाए हुए। चलों जानते हैं कि फिल्म सिटी में हम लोगों के घूमने ,सिखने एवं मौज मस्ती लिए क्या क्या चीजे हैं -

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 1/14 by Rishabh Bharawa
pic source:filmibeat.com

इस भव्य तरह से होती हैं यहाँ की opening ceremony :

जब आप यहाँ किसी भी साधन से पहुंचेंगे तो आपको यहाँ के पार्किंग एवं टिकट काउंटर्स पर रोक दिया जाता हैं।यहाँ कई सारे टिकट काउंटर्स बने हुए हैं जो कि सुबह 9 बजे खुलते हैं। टिकट चेक कर ,यहाँ से फिल्मसिटी की ही बसों के द्वारा ,फिल्मसिटी के मुख्य क्षेत्र में करीब 5 किमी अंदर सबको ले जाया जाता हैं। हरे भरे बगीचों ,खूबसूरत कलाकृतियों एवं इमारतों से गुजरते हुए आपका स्वागत करता हैं फिल्मसिटी का एक बड़ा सा लोगो ,जो काफी दूर से ही दिखाई देने लगता हैं। रास्ते में आपको एक बड़े सी दिवार पर इस फिल्मसिटी का गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स का सर्टिफिकेट भी लगा हुआ मिलेगा।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 2/14 by Rishabh Bharawa

सुबह 10 बजे यहाँ की opening ceremony होती हैं जिसमे फिल्म सिटी के मुख्य द्वार पर कई कलाकारों द्वारा एक दो स्टंट एवं सांस्कृतिक शो किये जाते हैं। यह शो खत्म होने के बाद यहाँ के दरवाजे खोले जाते हैं।अगर आप यहाँ लेट पहुंचोगे तो यह ओपनिंग सेरेमनी मिस हो जाएगी। इसीलिए फिल्मसिटी में सुबह समय पर ही पहुंच जाना चाहिए। अंदर प्रवेश करते ही अब आप पहुंच जायेंगे रंग बिरंगी इमारतों के बीच बसी एक सपनो सी दुनिया में। यहाँ से फिल्म सिटी की लाल रंग की विंटेज बसे पर्यटकों के लिए लगी रहती हैं जो आपको शाम तक फिल्म सिटी के अलग अलग हिस्सों का दर्शन करवाती हैं। आप कभी भी कही भी किसी भी बस में चढ़ कर यहाँ घूम सकते हैं।बसों में गाइड माइक एवं स्पीकर के माध्यम से आपको हर जगह की जानकारी देता रहेगा।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 3/14 by Rishabh Bharawa

इस फिल्मसिटी में घूमना एक भूलभुलैया में घूमने से कम नहीं हैं -

इस फिल्मसिटी को पूरी मौजमस्ती एवं बारीकी से घूमने में 2 दिन चाहिए क्योकि यह इतनी फैली हुई हैं कि अगर आप जल्दी जल्दी भी भागादौड़ी करके सब घूमना चाहो तो कुछ न कुछ तो छूट ही जायेगा। अगर आपने सब जगह कवर कर भी ली तो यहाँ के दिन भर अलग अलग समय पर होने वाले कई सारे शो छूट जायेंगे। इसीलिए यहाँ के मैप को लेकर ही यहाँ घूमना चाहिए ,नहीं तो इतनी सारी जगहों ,बसों से आप ये ही सोचते रह जायेंगे की कहा कहा घूमना हैं ?

आखिर ऐसा होगा क्यों नहीं ,दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म सिटी जो ठहरी।

शॉपिंग के लिए अंदर बाज़ार एवं स्टोर्स हैं।अलग अलग थीम के चार रेस्टॉरेंट्स भी बने हैं जहाँ शाकाहारी ,मुग़लई ,दक्षिण भारतीय एवं कई देश के व्यंजन मिलते हैं।बाहुबली फिल्म की थीम पर भी एक कैफेटेरिया यहाँ बनाया गया हैं।हर साल यहाँ अलग अलग पर्व पर कई कार्यक्रम होते हैं जिनमे शामिल होना कई लोगो की बकेट लिस्ट में जरूर होगा।यहाँ फिल्मों के बनने से जुड़ा एक इंस्टिट्यूट भी हैं। कॉर्पोरेट मीटिंग्स ,इवेंट्स या शादियों के लिए लक्ज़री होटल्स एवं हॉल्स यहाँ बने हुए हैं।पर्यटकों के ठहरने के लिए भी लक्ज़री होटल्स बनवायी हुई हैं।यहाँ कई छोटे बड़े स्टुडियो फ्लोर बने हुए हैं जहाँ एक साथ एक समय में कई फिल्मो की शूटिंग हो जाती हैं।

यहाँ के स्टेशन पर नहीं लगता कोई टिकट ,मंदिर में बदलते रहते हैं भगवान-

जैसे जैसे अब आपको विंटेज बस यहाँ घुमाती जायेगी ,आपकी फिल्मों के निर्माण के तरीके के प्रति जिज्ञासाएं बढ़ती जायेगी।आपकी बस घुसेगी सीधे 'सेंट्रल जेल ' में। सड़क के दोनों तरफ जेल ,पूरा वातावरण अंदर जेल वाला बनाया गया हैं। अंदर कैदी की पोषक में पुतलों खड़े मिलेंगे। कैदी पर नजर रखने के लिए वाच टावर ,जेल की दीवारों पर कांटेदार लोहे के बारीक तार, सब कुछ आपको जेल के अंदर की फीलिंग दिलाएगा।अब जेल हैं तो पुलिस चौकी भी यहाँ एक दो जगह बनायीं हुई हैं। साउथ सुपरस्टार पवन कल्याण की फिल्म 'गब्बर सिंह ' का पुलिस स्टेशन भी आपको आगे दूसरे क्षेत्र में देखने को मिलेगा।अचानक आपकी बस रुकेगी - 'रेलवे स्टेशन'।बाहर से ही ऐसी फीलिंग आएगी जैसे आप एक असली रेलवे स्टेशन में प्रवेश कर रहे हो। अंदर प्लेटफार्म पर ट्रैन भी खड़ी मिलेगी। इस ट्रैन के दोनों तरफ इंजन लगा रहता हैं एक तरफ स्टीम इंजन तो दूसरी ओर इलेक्ट्रिक ट्रैन का रूप लिए। फिल्म के हिसाब से इस ट्रैन का लुक बदल दिया जाता है। प्लेटफार्म पर पिले रंग के बड़े बोर्ड्स पर फिल्म के दौरान स्टेशन का नाम भी लिख दिया जाता हैं। याद हैं न 'चेन्नई एक्सप्रेस ' फिल्म के ट्रैन वाले मजाकिया सीन ?

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 4/14 by Rishabh Bharawa
Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 5/14 by Rishabh Bharawa

याद हैं चेन्नई एक्सप्रेस में जब शाहरुख़ खान ,दीपिका को गोद में उठाकर एक मंदिर की कई सीढिया चढ़ता हैं ,गाना आता हैं 'बनके तितली' ,वो मंदिर की सीढिया भी यहाँ बनी हुई हैं।यहाँ का अब सबसे मेजर अट्रैक्शन जो हैं वो हैं -बाहुबली फिल्म का सेट। सिंहासन से लेकर ,जेल ,मुर्तिया ,नकली घोड़े ,सांड ,स्तम्भ सब कुछ देखकर आप घर जाके बाहुबली फिल्म वापस देखकर इस सेट वाले सीन जरूर फिल्म में ढूंढोगे। रेलवे स्टेशन हैं तो एयरपोर्ट भी होगा ही। बिना फ्लाइट टिकट और सिक्योरिटी चेकिंग के ही आप यहाँ एयरपोर्ट की फीलिंग ले सकते हैं। वैसा ही प्रवेश द्वार ,चेकइन काउंटर्स ,जगह जगह एयर इंडिया ,इंडिगो का एड। एयरपोर्ट छोडो ,आप तो यहाँ सीधा प्लेन में भी बैठ सकते हैं। एक नकली प्लेन का हूबहू सेटअप यहाँ किया गया हैं। प्लेन के अंदर का कोई सीन अगर फिल्म में हैं तो वो यहाँ शूट हो जाता हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 6/14 by Rishabh Bharawa

भगवतम सेट ' के बाहर जब बस रुकेगी और आप अंदर जाएंगे। शुरू में तो महाभारत से जुड़े किरदारों के कुछ पुतले आप पाएंगे ,लेकिन जैसे ही आप आगे जायेगें। आपको यकीन नहीं होगा ,लगेगा कि आप किसी महाभारत कालीन राज दरबार में आ गए। एक भव्य महल में सामने ऊपर की ओर सिंहासन पर राजा और निचे की ओर दोनों तरफ कई मंत्रीगण बैठे हुए दिखेंगे। महाभारत ,रामायण जैसे सीरियल की शूटिंग के लिए ये साइट्स काम आती हैं। इनसे याद आया ,यहाँ मंदिर भी बने हुए हैं ,आप उनमे जाए तो मूर्ति नहीं दिखेगी। हालाँकि आप चप्पल पहन कर अंदर प्रवेश करेंगे ,क्योकि यह नकली मंदिर हैं लेकिन फिर भी आपके दिमाग में आएगा की यहाँ चप्पल जूते पहन कर नहीं आना चाहिए था।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 7/14 by Rishabh Bharawa

एक ही दिन में करे देश विदेश की यात्रा :

आपको लंदन की princess स्ट्रीट घुमनी हो तो बिना वीसा ,पासपोर्ट के यहाँ घूम ले। इन गलियों में घूमते हुए पता नहीं कब आप दक्षिण भारत के गांव पहुंच जायेंगे।गाँव से निकले तो कब बड़ी बड़ी इमारतों वाला शहर आपके सामने आ जायेगा,पता ही नहीं चलेगा। थोड़ा दूर नजर दौड़ाएंगे तो कुछ पहाड़ बने दिखेंगे वहा बड़े बड़े अक्षरों में लिखा होगा -HOLLYWOOD. सूर्यवंशम एवं कई फिल्मो में दिखाई गयी हवेलियां,हॉस्पिटल आदि भी यहाँ मौजूद हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 8/14 by Rishabh Bharawa
pic source:flickr.com

कृष 3 में जहाँ एक सीन में कृष ,एक स्टेचू के पास बच्चो को बचाता हैं वो जगह भी आपको यहाँ दिखाई जायेगी। 'उलाला उलाला' गाने की शूट वाला 'लेग गार्डन ' से लेकर 'मगाधीरा' व कई प्रसिद्द फिल्मों से जुडी जगहों से आप उन फिल्मों को कनेक्ट कर पाएंगे।मुग़ल गार्डन ,हवामहल ,विंटेज कार सेल्फी पॉइंट ,एफिल टावर जैसी कई जगहों के साथ साथ 'कृपालु गुफा ' नाम से बौद्ध धर्म से जुडी कई गुफाओं में जाने का भी यहाँ मौका मिलता हैं। हवामहल में कई राजस्थानी प्रोग्राम चलते रहते हैं आप उनके साथ नाच गान कर सकते हैं। जादू शो ,जोकर शो से बच्चो का भी यहाँ मन लगा रहता हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 9/14 by Rishabh Bharawa
Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 10/14 by Rishabh Bharawa

30 से ज्यादा छोटे बड़े गार्डन यहाँ घुमाये जाते हैं -जैसे बटरफ्लाई गार्डन जिसमे हज़ारो प्रकार की रंग बिरंगी तितलियाँ आपके आसपास उड़ती रहती हैं ,बर्ड पार्क -जिसमे कई प्रकार के छोटे बड़े विदेशी पक्षी आपके आस पास ही घूमते रहते हैं आप उन्हें सहला सकते हैं ,जापानी गार्डन -जापान की सी फीलिंग यहाँ मिलती है ,बोन्साई गार्डन -जहाँ हज़ारो तरह के पेड़ पौधे केवल 1 या 2 फ़ीट के बोने रूप में उगे हुए हैं ,उन्ही पर छोटे छोटे असली फल फूल भी लगे हुए मिलेंगे,तो गार्डन की लिस्ट तो काफी लम्बी हैं। अम्ब्रेला गार्डन एवं रॉक गार्डन भी कुछ कम नहीं हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 11/14 by Rishabh Bharawa

जानिये फिल्मों में कैसे गरजते हैं बादल,कैसे शूट करते हैं एक्शन सीन ,करे खतरनाक झूलों की राइड :

जितना आपने अभी ऊपर पढ़ा हैं अभी तो उस से कई ज्यादा चीजे और यहाँ की बाकी हैं ,हालाँकि मैं केवल मुख्य जगहों को ही यहाँ कवर कर रहा हु। यहाँ पुरे दिन अलग अलग समय पर अलग अलग जगह कई शो भी होते हैं ,जहाँ आपको समय पर पहुंचने पर ही प्रवेश मिलता हैं। जिनमे 'मूवी मैजिक शो',लाइव स्टंट शो और लाइव डांस शो ,जहाँ आप को बड़े हॉल में बैठकर कई सारे लाइव अलग अलग प्रकार के फ़िल्मी डांस देखने को मिलेंगे ,लाइव स्टंट किये जाएंगे ,लाइव बारीकी से प्रैक्टिकल शूट करके बताया जायेगा कि कैसे फिल्म शूट एवं एडिट की जाती हैं। यहाँ ऑडियंस में से ही कुछ को मंच पर बुला कर आश्चर्यजनक शूट करके बताये जाते हैं। फिर बताया जाता हैं कि किस प्रकार फिल्मों में बादल गरजते हैं ,बिजली कड़कती हैं ,बम ब्लास्ट कैसे किये जाते हैं ,कैसे बारिश की जाती हैं ,एक्शन शूट किये जाते हैं -ये चीजे आपके सामने आप में से ही कुछ लोगो को बुला कर उनसे करवाया जाता हैं। फिल्मों से जुड़े लाइव शो के अलावा बच्चो के लिए भी 3 से 4 लाइव शो यहाँ आयोजित होते हैं जिनमे आपको भी उतना ही मजा आएगा जितना बच्चो को।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 12/14 by Rishabh Bharawa

अभी यही नहीं ,भूतों का सामना करो यहाँ के घोस्ट टाउन में। हालाँकि में इसे कवर नहीं कर सका लेकिन इसे काफी डरावना बताया जाता हैं और मजेदार भी। सब कुछ हो गया ,अब बारी हैं स्पेस में यात्रा करने की, तो स्पेस यात्रा शो ,यहाँ से आपको स्पेस में होने की फीलिंग भी दे देगा। बच्चो के लिए तो यहाँ पूरा एक जोन बना हुआ हैं जहाँ ना ना प्रकार के यूनिक खेल ,शो ,राइड्स मौजूद हैं।बच्चो के लिए ट्रैन रेस्टोरेंट भी यहाँ हैं ,तो यहाँ एक बड़ा से जहाज में फोटो खींचा कर आप सबको बोल सकते हैं कि - गोवा का फोटो हैं। सेल्फी लवर्स के लिए बहुत बड़ा सेल्फी पॉइंट यहाँ है जहाँ कई प्रकार की गाड़िया ,सुपरहीरो के पुतले ,दुनिया के कुछ वंडर्स आदि बने हुए हैं ,जहाँ हज़ारो सेल्फियां भी कम पड़ेगी।

एक राइड के दौरान आपको केबल बोट कार में बिठाकर भारत से जुडी हर प्रसिद्द हस्ती ,जगह के दर्शन कराये जाते हैं। आपको स्केटिंग नहीं आती हैं तो कोई बात नहीं ,यहाँ स्केटिंग सीखा कर हलकी फुलकी स्केटिंग आपको खुद करने के छोड़ देंगे ,ये अलग बात हैं कि आप कई बार जोरदार गिर भी जाओगे ,पर दर्शक आपको देख देख के हस हस के पागल हो जायेंगे। बच्चो के खेल आप भी खेल सकते हैं करीब 25 प्रकार के खेल आप यहाँ खेल सकते हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 13/14 by Rishabh Bharawa

अब अगर आप एडवेंचर की तलाश में हैं तो 'साहस एडवेंचर पार्क ' का पैकेज खरीदिये और खेले करीब 20 तरह के अलग अलग एडवेंचर भरे खेल।सभी एक्टिविटीज और खेलों की जानकारी आपको इसकी वेबसाइट पर मिल जायेगी। पर अगर आप एक बड़े मौज मस्ती वाले ग्रुप के साथ फिल्मसिटी आये हो तो इस पार्क में आना तो बनता हैं। लेकिन अगर आपके पास यहाँ जाने का समय नहीं हैं तो रामोजी फिल्मसिटी में ही कुछ 6 से 7 रोमांचक राइड का फ्री में आनंद ले सकते हैं। यहाँ इतने खतरनाक और ऊँचे झूले लगे हुए हैं कि जब आप ये राइड करोगे तो देखोगे कि कितने ही सारे लोग डर के रोने लग जाते हैं ,या उल्टिया कर देते हैं। क्योंकि कुछ राइड्स आपको आसमान में सेकड़ो फ़ीट ऊपर पहुंचा कर पूरा उल्टा लटका कर घुमा देती हैं। लेकिन ध्यान रहे खाना खा कर या कोई पेय पदार्थ पी कर इनमे न बैठे। दिल की बीमारी वाले पर्यटकों और ज्यादा छोटे बच्चो को भी यहाँ इनमे बैठने नहीं दिया जाता हैं।

Photo of पहाड़ों,रेगिस्तान,झरनो एवं समुद्र से हटकर खो जाईये सपनों की इस दुनिया में 14/14 by Rishabh Bharawa

खैर ,इस लेख में कोशिश की गयी हैं कि ज्यादा से ज्यादा जानकारी शामिल हो ,इसीलिए अधिकतर मुख्य चीजों को शामिल करने की कोशिश मैंने की हैं ,फिर भी यहाँ बहुत कुछ चीजे हैं जो छूट गई हैं। खैर ,जो भी हो ,जिस दिन आप यहाँ जाएंगे ,आपको इतना मजा आएगा कि यकींनन आने वाले पुरे सप्ताह तक फिल्मसिटी के ही बारे में सोचते रहेंगे। इस लेख को पढ़ कर इसकी वेबसाइट पर इसके फोटोज जरूर देखिएगा।

टिकट : टिकट आप यहाँ पर आकर भी खरीद सकते हैं या ऑनलाइन भी कुछ डिस्काउंट के साथ बुक कर सकते हैं।करीब 1500 रुपये प्रति व्यक्ति एक दिन का टिकट अमाउंट हैं। वैसे यह फिल्मसिटी 2 दिन में पूरी घूमी जाती हैं। अगले दिन का टिकट वापस खरीदना होता हैं। साहस एडवेंचर पार्क का टिकट भी अलग से खरीदना होता हैं।

समय :सुबह 9 से शाम 5.30 तक (सामान्यत:)

कैसे पहुंचे : हैदराबाद आप बस ,ट्रैन ,कार या प्लेन से पहुंच कर ,कैब करके फिल्मसिटी पहुंच सकते हैं। शहर में कई जगहों से फिल्म सिटी के लिए बस जाती हैं जिनकी जानकारी आपको वहा के लोकल लोगो से मिल जायेगी।

अन्य पर्यटन स्थल : NTR गार्डन ,सुधा कार म्यूजियम ,चारमीनार ,गोलकोण्डा फोर्ट ,वीजा वाले बालाजी मंदिर ,हुसैन सागर झील ,सालार जंग म्यूज़ियम,सिटी संग्रहालय,ज़ूलॉजिकल गार्डन ,वंडरला वाटर पार्क आदि। तेलंगाना पर मेरे पिछले आर्टिकल में यहाँ की कई शानदार जगहों की जानकारी मैंने दी हुई हैं।

pic source:dreamstime.com,flickr.com,klook.com and clicked by author and his fellow.

धन्यवाद

-ऋषभ भरावा (लेखक:पुस्तक-चलो चले कैलाश)