सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी

Tripoto
8th Jul 2023
Photo of सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी by Smita Yadav
Day 1

दोस्तों, सावन का महीना भी शुरू हो चुका है। और सावन के महीने में शिव की भक्ति में लीन श्रद्धालु शिवालय में पहुंचकर पूजा-पाठ के साथ-साथ भगवान पर जल भी अर्पित करते हैं। ऐसे में बिहार की अपनी एक भव्य संस्कृति और शानदार इतिहास है। इस प्रदेश में कई बड़े धार्मिक मान्यताओं वाले मंदिर, मठ और धर्मस्थान मौजूद हैं जो भक्तो के लिए बड़ी आस्था का केंद्र हैं। देश के अलग अलग राज्यों की तरह ही बिहार के लोग भी सावन में प्रसिद्ध और पवित्र शिव मंदिरों में दर्शन के लिए जाते हैं और जल अर्पित करते हैं। खासकर सावन माह में पड़ने वाले सोमवार के दिन शिवालय में कुछ ज्यादा ही भक्तों की भीड़ देखी जाती है। ऐसी स्थिति में अगर आप भी सावन के पवित्र माह में भगवान शिव का दर्शन करना चाहते हैं, तो बिहार में मौजूद इन प्रसिद्ध और पवित्र शिवालय में दर्शन करने पहुंच सकते हैं। तो आइए जानते हैं वो प्रसिद्ध शिव मंदिर कौन से हैं।

1. अजगैबीनाथ मंदिर,सुल्तानपुर, बिहार

Photo of सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी by Smita Yadav

सुल्तानगंज भारत के बिहार राज्य के भागलपुर जिले में स्थित एक ऐतिहासिक स्थल है। यह गंगानदी के तट पर बसा हुआ है। भागलपुर से 26 किलोमीटर दूर पश्चिम सुल्तानगंज में उत्तरायणी गंगा के मध्य ग्रेनाइट पत्थर की विशाल चट्टान पर अजगैबीनाथ महादेव का मंदिर स्थित है। सावन के महीने में लाखों कावड़िए देश के विभिन्न भागों से गंगाजल लेने के लिए यहाँ आते हैं। और यहाँ से गंगाजल भर के झारखंड राज्य के देवघर स्थित बाबा बैद्यनाथ को चढ़ाते हैं। सावन में श्रद्धालु इस मंदिर में आकर भगवान शिव की पूजा अर्चना और जलाभिषेक करना कदापि नहीं भूलते। इस दृष्टि से यह मंदिर यहाँ का अति महत्त्वपूर्ण दर्शनीय स्थल है। लोगों की इस मंदिर में बहुत ही अटूट श्रद्धा है। इसलिए दूर-दूर से श्रद्धालु इस मंदिर में दर्शनों के लिए आते हैं।

2. ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर,बक्सर, बिहार

Photo of सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी by Smita Yadav

बिहार के साथ-साथ झारखंड में मौजूद फेमस और पवित्र शिव मंदिर का नाम लिया जाता है तो उस लिस्ट में ब्रह्मेश्वर नाथ मंदिर का नाम जरूर शामिल रहता है। कहा जाता है कि इस मंदिर में स्थापित शिवलिंग सैकड़ों वर्ष पुराना हैं।पौराणिक कथा के अनुसार, इस मंदिर में शिवलिंग की स्थापना ब्रह्मा जी ने किया था। इस मंदिर के बारे में जानकारी अनेकों पुराणों में भी मिलता है। शिव महापुराण की रुद्र संहिता में यह शिवलिंग धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाला है। यही कारण है कि इसे मनोकामना महादेव भी कहा जाता है। सोमवार, महाशिवरात्रि और सावन के महीने में यहाँ लाखों शिव भक्त दर्शन करने के लिए पहुंचते रहते हैं।

3. उगना महादेव मंदिर, भवानीपुर, मधुबनी, बिहार

Photo of सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी by Smita Yadav

उगना महादेव मंदिर के नाम से प्रसिद्ध शिवालय उत्तर बिहार के मधुबनी जिले के भवानीपुर गांव में स्थित हैं। बिहार में जब सबसे प्रसिद्ध और पवित्र शिव मंदिर का जिक्र होता है, तो उगना महादेव मंदिर का नाम जरूर लिया जाता हैं। उगना महादेव के बारे में कहा जाता है कि यह स्वयं प्रकट हुआ यानी स्वयंभू शिवलिंग है। यहाँ शिवलिंग आधार तल से पांच फुट नीचे हैं। उगना महादेव मंदिर में हर समय भक्तों के भीड़ मौजूद रहती हैं। खासकर सोमवार, महाशिवरात्रि और सावन के महीन में लाखों भक्त दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं।

4. बाबा गरीब नाथ, मुजफ्फरपुर, बिहार

Photo of सावन में करें बिहार के इन पवित्र शिवालयों में जल अर्पित, होगी हर मुराद पूरी by Smita Yadav

बिहार के मुजफ्फरपुर शहर में स्थित 'बाबा गरीबनाथ मंदिर' को राज्य का 'देवघर' भी कहा जाता हैं ।यह मंदिर आस्था और श्रद्धा का प्रतीक हैं। मान्यता है कि इस मंदिर में भक्ति-भाव से मांगी गई भक्तों की सभी मुरादें पूरी होती हैं। देश के कोने-कोने से श्रद्धालु इस मंदिर में अपनी मुरादें लेकर जाते हैं। यह आने वाली सभी भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, इसलिए बाबा गरीबनाथ मंदिर 'मनोकामनालिंग' के नाम से भी मशहूर हैं। इसलिए यहाँ सावन के महीने में भी हर दिन हजारों भक्त दर्शन के लिए पहुंचते हैं। सोमवार को जल अर्पित करने के लिए लाखों भक्त पहुंचते हैं।

अगर आप भी सावन के पावन महीने में भगवान शिव का दर्शन करना चाहते हैं, तो ऊपर बताएं गए बिहार में मौजूद इन प्रसिद्ध और पवित्र शिवालय में दर्शन करने पहुंच सकते हैं।

क्या अपने बिहार के इन प्रसिद्ध मंदिरों में से किसी मंदिर की यात्रा की हैं अगर हाँ, तो अपनी यात्रा का अनुभव हमारे साथ शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।