डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव

Tripoto
13th Aug 2019
Day 1

8 साल से ट्रैवल कर रही हूँ। ट्रैवल का नशा सा हो गया है। ट्रेकिंग ,सोलो ट्रिप , ग्रुप ट्रिप के साथ रिवर राफ्टिंग , पैराग्लाइडिंग,  ज़िप लाइनिंग जैसे कुछ एडवेंचर भी हो गए थे। वॉटरफॉल रैपलिंग बाकी थी। लेकिन उँचाई की डर से 2 बार सामने होते हुए मैंने नहीं किया था। लेकिन नए साल से भाई के साथ ट्रैवल कंपनी चालू करने के साथ ये जिमदारी भी आ गयी थी। 11 ऑगस्ट 2019 को हमने water rappelling का इवेंट रखा था। 20 नए दोस्तों के साथ हम सब बेकारे वॉटर फॉल भिवपुरी के लिए निकले। सुबह ट्रेन की देरी से हम 1 घंटे देरी से पहुँचे थे। भिवपुरी स्टेशन से 20 मिनट के दूरी पर बेकारे वॉटरफल है। कुछ दोस्त पुणे से आने वाले थे। वो आने के बाद हम नाश्ता करके base village की तरफ निकाल पड़े। वहाँ गाँव में एक घर में हमने सामान रख के वॉटरफल की तरफ चल ने लगे। 20 मिनट के ट्रेकिंग के बाद पानी का आवाज़ आने लगी और एक सुंदर 120 ft का वॉटरफल देखने को मिला। वहाँ पहले से 2 ग्रुप थे । हमारे rappelling हेड रोशन सर ने set up लगा दिया था। फिर मनोज सर ने हम सबको rappelling की इन्फोर्मेशन देना चालू किया। क्या करना है और क्या नहीं करना है। 

सब तैयार हो गए थे। मैं सब से लास्ट मे ये करने वाली थी। एक तो सब के rappelling की विडियो बनानी थी और दूसरी तरफ मैं बहुत डरी हुई थी।

एक के बाद एक सब नीचे आने लगे थे। मैं सामने से विडियो बना रही थी। नीचे आने मे 3 मिनिट से कम टाइम लग रहा था। लेकिन पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण हात और पैर फिसल रहे थे। सब की rappelling हो गयी थी । अब मेरी बारी थी।

15 मिनिट वॉटर फॉल के नीचे जाते हुए मैं पानी की तरफ देख राही थी । पानी में बहुत बार मज़े किए थे लेकिन आज इस पानी से नीचे उतरना था। बाप्पा का नाम लेकर safety kit पेहनना चालू किया । रोशन सर और मनोज सर प्रोसाहित कर रहे थे। लेकिन डर गयी थी। safety kit पहनने के बाद गणपती बाप्पा मोरया बोलकर मैंने पहला कदम नीचे रखा। धीरे धीरे मैं 10 कदम नीचे गयी थी। अब थोडा कॉन्फिडेंस आ रहा था। तब अचानक से पैर और हाथ छूट गए थे। बारिश भी चालू हो गयी थी। इस वहज से बहाव और बढ़ गया था। पानी के अलावा कुछ भी नहीं दिख रहा था। थोड़ी देर के बाद खुद को प्रोत्साहित कर के मैंने हाथ और पैरों में बैलेन्स किया। अब पानी का बहाव और भी बढ़ गया था। उस पानी के बहाव से बाहर मुझे rappelling के टीम मेंबर दिखाई दिए। उन्हे देखकर ज़मीन नज़दिक है ये अहसास हुआ। फिर जोर लगा के हैया करके मैं  नीचे तक आ गयी। ज़मीन पर पैर लगने पर मैं रिलैक्स हो गयी। 5 मिनिट वहाँ बैठी रही। और ऊपर से आने वाले लोगों को देख रही थी। अभी भी मुझे यकीन नहीं हो रहा था। मैंने waterfall rappelling किया। फुल डर के आगे जीत है वाली फीलिंग आ रही थी। सिर्फ हाथ मे mountain dew नहीं था। मैं लास्ट थी। सब की rappelling हो गयी थी सब नीचे आ गये थे। और बेकारे वॉटरफल के मज़े लेने लगे। बहुत सॉलिड अनुभव था। और एक adventure पुरा किया था। उसके खुशी और खुद पर proud फील हो रहा था। आगे ऐसे ही बहुत adventure के लिए अभी मैं तयार थी। चलो फिर मिलते है ऐसे ही कुछ नए अनुभव के साथ।

Conatct

Imprial all round service

Trupti meher - 9930307525

Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher
Photo of डर के आगे जीत है - मेरा पहेला waterrapplling अनुभव by Trupti Hemant Meher

आप भी अपनी यात्राओं के अनुभव Tripoto पर बाँट सकते हैं। अपने सफरनामें लिखने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

सफर के ऐसे मज़ेदार किस्से पढ़ने के लिए Tripoto हिंदी पेज लाइक करें।

Be the first one to comment

Further Reads