अरुणाचल प्रदेश की इस अनछुई घाटी में छिपे हैं मनचाहे खूबसूरत नजारे

Tripoto
Photo of अरुणाचल प्रदेश की इस अनछुई घाटी में छिपे हैं मनचाहे खूबसूरत नजारे by Rishabh Dev

किसी ने क्या खूब कहा है कि हमें यात्री बनना चाहिए, पर्यटक नहीं। अगर आप टूरिस्ट होते हैं तो आप बस घूमते हैं, एंजॉय करते हैं और वापस बोरिया बिस्तर समेटकर रोज की जिंदगी में लौट जाता है। वहीं यात्री नदी की तरह होता है जो बस बहता ही रहता है। उसके सामने कोई भी बड़ी दीवार नहीं पाती है। अगर आपके अंदर भी घुमक्कड़ी का कीड़ा है तो कोई आपको ज्यादा दिन रोक नहीं पाएगा। घूमना यूंही मुसलसल चलता ही रहेगा। यात्री की कोशिश होती है कि वो कुछ अनजानी और अनछुई जगहों पर जाए। जिन जगहों पर कम लोग जाते हैं वो वाकई कमाल होती है। ऐसी ही जगह है अरुणाचल प्रदेश की टेंगा वैली।

Photo of अरुणाचल प्रदेश की इस अनछुई घाटी में छिपे हैं मनचाहे खूबसूरत नजारे 1/2 by Rishabh Dev

पहाड़ों में घूमने और खूबसूरत नजारों के लिए अरुणाचल प्रदेश की टेंगा वैली परफेक्ट जगह है। यहाँ से इंडो-चाइना बॉर्डर बहुत पास है इसलिए टेंगा घाटी में सेना का बेस कैंप है। टेंगा तेजपुर से लगभग 143 किमी. की दूरी पर है। यहाँ तक पहुँचना भी आसान नहीं है। कहा जाता है कि स्वर्ग तक पहुँचने का रास्ता नरक से होकर जाता है। वैसा ही फील आपको यहाँ तक के रास्ते में फील होगा लेकिन चारों तरफ, हरियाली और बर्फ से ढंकी चोटी देखकर आपका मन मंत्रमुग्ध हो जाएगा। यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य देखकर आपका यहीं पर ठहरने का मन करेगा।

परमिट

Photo of अरुणाचल प्रदेश की इस अनछुई घाटी में छिपे हैं मनचाहे खूबसूरत नजारे 2/2 by Rishabh Dev

अरुणाचल प्रदेश चीन, म्यांमार और भूटान देश से सटा हुआ है। सुरक्षा के लिहाज से ये प्रदेश बहुत महत्वपूर्ण है। अगर आप अरुणाचल के रहने वाले नहीं है तो यहाँ जाने के लिए परमिट की आवश्यकता होती है। इसके भारतीय को इनर लाइन परमिट और फाॅरनर्स को पीएपी लेना पड़ता है। ये परमिट आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से ले सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी फोटो और आईडी कार्ड देना होता है। ये परमिट ज्यादा से ज्यादा 15 दिन के लिए बनता है। आप घूमने जाने से एक हफ्ते पहले ही परमिट के लिए आवेदन कर दें, जिससे कोई दिक्कत न आए।

कैसे पहुँचे?

टेंगा वैली जाने के लिए तीन रास्ते है। तीनों से आप टेंगा वैली ही पहुचेंगे। आप बस या कैब से टेंगा घाटी तक पहुँच जाएंगे।

फ्लाइट सेः अगर आप फ्लाइट से टेंगा वैली जाना चाहते हैं तो सबसे नजदीकी एयरपोर्ट तेजपुर में सलोनीबाड़ी हवाई अड्डा है। तेजपुर से आप बस या कैब करके टेंगा घाटी जा सकते हैं।

ट्रेन सेः यदि आप ट्रेन से टेंगा घाटी जाने की सोच रहे हैं तो सबसे नजदीकी रंगापारा रेजवे स्टेशन है। ये स्टेशन असम के सोनितपुर में आता है। रंगापारा से आप टैक्सी या बस से टेंगा घाटी जा सकते हैं।

वाया रोडः आप वाया रोड भी टेंगा वैली जा सकते हैं। अगर आप बस से जाना चाहते हैं तो तेजपुर, तवांग, भालुकपोंग, नगौन और ईटानगर जैसे शहरों से टेंगा के लिए बस मिल जाएगी. वहीं असम के तेजपुर से एसयूवी और कार से भी टेंगा वैली पहुँच सकते हैं।

कब जाएं?

अरुणाचाल की टेंगा घाटी समुद्र तल से 6,500 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। इस वजह से यहाँ मौसम थोड़ा खुशनुमा और ठंडा रहता है। सर्दियों में ये जगह बर्फ से ढंक जाती है। टेंगा वैली आने के लिए सबसे बेस्ट टाइम मार्च से सितंबर का है। टेंगा वैली में सब कुछ बढ़िया है बस ठहरने की थोड़ी परेशानी है। यहाँ पर रूकने के लिए बहुत सारे ऑप्शन नहीं है। अगर आपको टेंगा वैली में ठहरने के लिए सही जगह नहीं मिलती तो 17 किमी. दूर बोमडिला जा सकते हैं। वहाँ आपको बजट के हिसाब से एक से बढ़िया एक होटल मिल जाएगा।

क्या खाएं?

अरुणाचल प्रदेश जितना खूबसूरत प्रदेश है, उतना ही अपने पारंपरिक खाने के लिए भी जाना जाता है। आप यहाँ पर फेमस थुपका खाएंगे तो मजा ही आ जाएगा। इसके अलावा जान और ग्यापा खाजी खा सकते हैं। ग्यापा खाजी बिरयानी का वर्जन है जिसे चीज के साथ पकाया जाता है। उसके बाद इसे मिर्च और मछली के साथ परोसा जाता है। इसके साथ टेंगा वैली में खुरा और मोमोज का भी स्वाद ले सकते हैं। अरुणाचल प्रदेश आएं तो यहाँ का पारंपरिक जायके का स्वाद लेना न भूलें।

क्या देंखें?

किसी जगह पर घूमने के लिए ये सबसे अहम चीज मानी जाती है कि उस जगह पर देखने को क्या-क्या है? अरुणाचल प्रदेश खूबसूरती का प्रदेश है। यहाँ कुछ भी न हो तब भी देखेन को बहुत कुछ है।

1. रूपा

टेंगा घाटी से लगभग 8 किमी. की दूरी पर रूपा नाम का एक कस्बा है। इस कस्बे में चिल्लीपम मोनेस्टी है जिसे आपको जरूर देखा जाना चाहिए। पहाड़ों और हरियाली के बीच रूपा शांति का एक प्रतीक है। इसके अलावा आप यहाँ पर पूर्वोत्तर की अका और मोंगवा आदिवासी जनजाति को भी देख सकते है। उनके गांव कस्बे के बिल्कुल बगल में हैं। आप वहाँ पर जाकर उनसे बातें कर सकते हैं, उनकी दिनचर्या और उनके बारे में अच्छे-से जान सकते हैं। यही असली घुमक्कड़ी होती है कि जिस जगह पर आप जा रहे हैं वहाँ की संस्कृति को भी समझें।

2. ईगल नेस्ट वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी

अगर आप नेचर नवर हैं और खासकर आपको पंक्षियों से लगाव है तो ईगल नेस्ट वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी आपके लिए बेस्ट है। इस सैंक्चुरी में लगभग 450 से ज्यादा प्रकार के पंक्षी रह सकते हैं। आप इस सैंक्चुरी में बर्ड वाचिंग कर सकते हैं। इसके अलावा आपको इस वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी में बहुत सारे जंगली जानवर भी मिल जाएंगे। ऐसी जगह सच में सुकून और जानने लायक होती हैं। हर पल कुछ ऐसा दिख जाता है कि आप हैरान रह जाते हैं।

3. बोमडिला

टेंगा वैली से बोमडिला सिर्फ 17 किमी. की दूरी पर है। यहाँ पर आप मोनेस्ट्रीज, वॉर मेमोरियल, व्यू प्वाइंट और लोअर-अपर गोंपा देख सकते हैं। इसके अलावा बोमडिला में एक म्यूजियम भी है जो देखा जा सकता है। ये जगह टेंगा वैली से पास में इसलिए आप इसे एक साथ कवर कर सकते हैं। आपको टेंगा घाटी के साथ बोमडिला को घूमना चाहिए।

4. सेस्सा आर्किड सैंक्चुरी

भालुकपोंग के रास्ते से जब आप टेंगा जाते हैं पूरा रास्ता फूलों से भरा होता है। तब ऐसा लगता है कि हम किसी स्वर्ग में प्रवेश कर गए हों। रास्ते में कई खूबसूरत झरने भी मिलते हैं। यहीं पर सेस्सा आर्किड सैंक्चुरी है। इस सैंक्चुरी में लगभग 750 से ज्यादा फूल देखने को मिलेंगे। इसके अलावा टेंगा वैली के पास आप दिरांग, संगति वैली, कालचक्र गोंपा और टिप्पी कस्बे को देख सकते हैं। ये सब कुछ आपको अरुणाचल प्रदेश की अलग की खूबसूरती को दिखाएगा।

कुछ सुझावः

1- अरुणाचल प्रदेश में घूमने के लिए कुछ अतिरिक्त दिन साथ में रखें क्योंकि यहाँ प्लानिंग अक्सर गड़बड़ा जाती है।

2- टैंगो घाटी ठंडी जगहों में आती है इसलिए आपको अपने साथ कुछ गर्म कपड़े जरूर रखने चाहिए।

3- रास्ते के लिए गूगल मैप पर ज्यादा विश्वास न करें। उससे अच्छा है कि आप टूरिस्ट ऑफिस और स्थानीय लोगों से पूछकर आगे बढ़ें।

4- अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश के लिए इनरलाइन परमिट लेना बहुत जरूरी है। इसके बिना टेंगा तो दूर की बात है आप अरुणाचल प्रदेश में घुस भी नहीं पाएंगे।

क्या आपने अरुणाचल प्रदेश के टेंगा वैली की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।