गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा

Tripoto

भारत वास्तव में अद्भुत है। यह वो जगह है जहाँ ज़िंदगी, प्रकृति और उसकी विविधता का जश्न मनाया जाता है। ये जश्न हिंदुस्तान के अलग- अलग हिस्सों में अलग-अलग त्योहारों का रुप ले लेता है। जहाँ गर्मियाँ अपने साथ उजले दिन, रंगीन नज़ारे और दिलों में खुशी लेकर आती हैं, तो ये गर्मियाँ ही हैं जो त्योहारों की टोली भी अपने साथ लाती हैं।

जहाँ होली और बैसाखी आम त्योहार हैं, वहीं भारत के विभिन्न हिस्सों में कई दूसरे त्योहार भी मनाए जाते हैं। ये त्योहार सही मायने में देश की विविधता को दर्शाते हैं। लोक नृत्य और संगीत, प्रकृति का उत्सव, मेले इन त्योहारों का एक आम हिस्सा हैं। तो इन गर्मियों में आप भारत के किन त्योहारों का हिस्सा बन कर भारत के दिल से जुड़ सकते हैं, ये बताने के लिए तैयार की है एक लिस्ट।

1. माउंट आबू समर फेस्टिवल

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 1/6 by Bhawna Sati

माउंट आबू महोत्सव आपको राजस्थान की शाही भूमि पर ले जाएगा। यह त्योहार राजस्थान के पर्यटन विभाग द्वारा करवाए जाने वाला एक सांसकृतिक मेला है। पहाड़ों और नक्की झील की शांति के बैकग्राउंड में होने वाला ये महोत्सव राजस्थान की रंगीन और जीवंत संसकृति का जश्न मनाता है। लोक गीतों के साथ इस महोत्सव की शुरुआत होती है और लोक कथाओं के बीच नाव सवारी की प्रतियोगिता भी होती है।हालांकि उत्सव का मुख्य आकर्षण शाम को आयोजित होने वाला शाम-ए-कव्वाली संगीत कार्यक्रम है।

कब: 17- 18 मई, 2019

कहाँ: माउंट आबू

2. ऊटी फ्लावर फेस्टिवल

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 2/6 by Bhawna Sati

ऊटी फ्लावर फेस्टिवल, नीलगिरि में गर्मियों के मशहूर त्योहारों में से एक है, जो तमिलनाडु पर्यटन विभाग द्वारा 121 सालों से मनाया जा रहा है। ऊटी घूमने के लिए गर्मियाँ सबसे अच्छा समय तो है ही और फूल महोत्सव जगह की सुंदरता को और बढ़ा देता है। फूलों की प्रदर्शनी के अलावा इस महोत्सव में मेले, कला और सांस्कृतिक प्रदर्शनियों का आयोजन होता है और आप कुछ एडवेंचर एक्टिविटीज़ में हिस्सा भी ले सकते हैं।

कब: 17 - 19 मई, 2019

कहाँ: ऊटी

3. शिमला समर फेस्टिवल

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 3/6 by Bhawna Sati

शिमला, गर्मियों की छुट्टियाँ मनाने के लिए सबसे पसंदीदा जगह है। यह त्योहार आमतौर पर मई या जून के महीने में आयोजित किया जाता है जब शहर में कई तरह की गतिविधियों, संगीत, नृत्य और कार्यक्रमों की धूम रहती है। फ़ोटोग्राफ़ी प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग कॉन्टेस्ट के साथ-साथ फ्लावर शो, सांस्कृतिक प्रदर्शन और फूड स्टॉल जैसी कई सारी प्रतियोगिताएँ करवाई जाती हैं। शिमला अपनी खूबसूरती के इस वक्त और भी खुशनुमा हो जाता है।

कब: 2- 7 जून, २०19

कहाँ: शिमला

4. यरकौड समर फेस्टिवल

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 4/6 by Bhawna Sati

केवल शिमला और ऊटी ही नहीं, यरकौड भी गर्मियों के दौरान खूबसूरती से सजा हुआ होता है। यरकौड समर फेटिवल वो महोत्सव है जिसमें सिर्फ तमिल नाडु से ही नहीं, बल्कि पड़ोसी राज्य के लोग भी हिस्सा लेने आते हैं। फूलों की व्यवस्था बागवानी विभाग द्वारा की जाती है। इस उत्सव के दौरान समारोह स्थल को सजाने के लिए एक लाख से अधिक फूलों का इस्तेमाल होता है। यरकौड समर फेस्टिवल के दौरान लोक और शास्त्रीय नृत्य, नाटक, घुड़सवारी, फूलों की प्रतियोगिता, रंगोली प्रतियोगिता और कई दूसरे रोचक कार्यक्रम करवाए जाते हैं।

कब: मई के दूसरे हफ्ते में

कहाँ: यरकौड, तमिल नाडु

5. सिक्किम समर फेस्टिवल, गंगटोक

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 5/6 by Bhawna Sati

सिक्किम पूर्वी हिमालय में बसा एक खूबसूरत राज्य है और अपनी प्राचीन सुंदरता के लिए जाना जाता है। सिक्किम कई तरह के फूलों और ऑर्किड प्रजातियों का घर है। सिक्किम समर फेस्टिवल या कार्निवल फूलों के मौसम के वक्त ही आयोजित किया जाता है। यह पर्यटन विभाग द्वारा 1981 से आयोजित किया जा रहा है। इस त्योहार को गंगटॉक के व्हाइट हॉल में पूरे महीने मनाया जाता है। पूरा परिसर पारंपरिक सिक्किम प्रदर्शन, संगीत और नृत्य, फिल्म शो और प्रदर्शनियों के साथ जी उठता है। त्योहार का मुख्य आकर्षण खूबसूरत रोडोडेंड्रोन और सिक्किम के फूल हैं। आप इस त्यौहार में याक सफारी, रिवर राफ्टिंग और दूसरी साहसिक गतिविधियों का भी आनंद ले सकते हैं।

कब: मई 2019

कहाँ: गंगटोक

6. हेमिस महोत्सव, लेह

Photo of गर्मियों की छुट्टियों में बनें भारत के इन 6 अनोखे त्योहारों का हिस्सा 6/6 by Bhawna Sati

हेमिस मठ लद्दाख का सबसे बड़ा मठ है और हर साल हेमिस महोत्सव की मेज़बानी करता है। यह तिब्बती कैलेंडर के चंद्र माह के 10 वें दिन मनाया जाता है। त्योहार का मुख्य आकर्षण मठ के लामाओं द्वारा किया जाने वाला मुखौटा नृत्य या छम नृत्य है जो बुराई पर अच्छाई की विजय को दर्शाता है। ये सभी सांस्कृतिक कार्यक्रम हेमिस मठ के विशाल प्रांगण में होते हैं। हेमिस महोत्सव में बड़ी संख्या में बौद्ध लोग हिस्सा लेते हैं। इसलिए हेमिस फेस्टिवल को ध्यान में रखते हुए लद्दाख की अपनी यात्रा की योजना बनाएँ।

कब: 11- 12 जुलाई, 2019

कहाँ: हेमिस मठ, लेह

तो आप इस साल किस त्योहार को कवर करने जा रहे हैं? Tripoto पर इसके बारे में सब बताएँ!

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।