क्यों अरुणाचल प्रदेश की इस झील को मिला 'माधुरी दिक्षित' झील का नाम 

Tripoto

हमारी 'धक धक गर्ल' की दिल की धड़कनें तब रुक सी गयी होंगी जब उन्होने सांगेसर झील की खूबसूरती की एक झलक देखी होगी| मगर उन्हें क्या पता था कि झील के सहारे फिल्माया गया उनका डांस नंबर इतना लोकप्रिय हो जाएगा कि लोग इस झील को ही 'माधुरी झील' बुलाने लगेंगे |

वैसे तो माधुरी की सुंदरता की कोई सीमा नहीं है, मगर इस गाने में इस झील की खूबसूरती भी लाजवाब रही | इसी लिए इतने साल बाद भी लोग इस झील को माधुरी के नाम से भी जानते हैं | तो आइए पता लगाए कि फिल्म के निर्देशक ने ये गाना इसी झील के पास क्यों फिल्माया :

सांगेसर झील

समुद्र तल से 15,200 फीट की ऊँचाई पर स्थित सांगेसर झील भूकंप की वजह से बनी थी। स्थानीय लोगों के अनुसार ये झील अपनी वर्तमान जगह से कुछ दूरी पर स्थित थी |

मगर टेक्टोनिक प्लेटों के खिसकने के कारण झील आज अपनी जगह से खिसक गई, जिसकी वजह से देवदार के जंगल का एक बड़ा हिस्सा पानी में समा गया | आज भी पेड़ों के ऊपरी हिस्से बड़े अजीब तरह से पानी की सतह के ऊपर निकले हुए देखे जा सकते हैं |

सांगेसर झील घूमने क्यों जाएँ?

इस झील के आस पास की सुंदरता में वही बात है जो हिमालय की गोद में बसी झील में होनी चाहिए | चारों तरफ देवदार के पेड़ों से घिरी इस झील में दूर-दूर तक फैले पहाड़ों की झलक दिखती है | लगता है कुदरत ने फुरसत में इस झील को बनाया है |

कैसे पहुँचें?

झील भारत-चीन सीमा के करीब स्थित है और झील देखने के लिए आपको जिला आयुक्त से इजाज़त लेनी होगी | तवांग से इस झील तक पहुँचने में 2 घंटे लगते है और केवल भारतीयों को ही इस झील तक जाने की अनुमति है |

तो बिना देर किए हिमालय की भव्यता और माधुरी झील की खूबसूरती निहारने उत्तर-पूर्व भारत की ओर निकल जाइए |

अगर हाल ही में पर्वतों की ओर घूम कर आए हैं तो अपना अनुभव यहाँ लिखिए |

हमसे रोज़ यात्रा करने की प्रेरणा लीजिए | 9599147110 नंबर सेव करके व्हाट्स एप मैसेज भेजें |

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment