भारत के 12 प्यारे गाँव जहाँ जाकर आप शहरी शोर भूल जाएँगे

Tripoto

चकाचौंध भरी सड़कें, मयखानों में लड़खड़ाते लोग, नशा और हवस; शहरों की यही दास्तान हैं | मगर भीड़-भाड़ भरे शहरों और दफ़्तरों के मायूस कमरों से दूर भी एक दुनिया है, जहाँ कवियों को प्रेम रस से भरी कविताएँ गढ़ने की प्रेरणा मिलती है | हम बात कर रहे हैं भारत के गाँवों की, जहाँ सही मायने में भारत की रूह बसती है | सुनने में थोड़ा पिछड़ा लग सकता है, मगर गाँव की खुली हवा और हरियाली में एक अलग ही सुकून है |

तो भारत की इसी रूह से रूबरू होने के लिए इन बेहद खूबसूरत गाँवों के बारे में जानिए और निकल जाइए शहर के जंजाल से दूर ऐसी जगहों पर जहाँ ज़िंदगी काटी नहीं, जी जाती है |

मलाना

हिमाचल प्रदेश के मलाना में मस्ती

मलाना भारत का सबसे दिलचस्प गाँव माना जाता है | हिमालय की कुल्लू वैली में बसे इस गाँव को दुनिया के सबसे पहले लोकतंत्रों में से एक माना जाता है | यहाँ की खूबसूरती इतनी पाक और हवा इतनी साफ है कि साँस लेने से ही नशा सा चढ़ जाएगा | 

पनामिक हॉट स्प्रिंग

लद्दाख का पनामिक, जिसे भारत का एकमात्र गर्म पानी के सोते वाला गाँव होने का दर्जा प्राप्त है

लेह से 150 कि.मी. दूर पनामिक गाँव है जहाँ खारडुंग ला पास से होकर पहुँचा जा सकता है | लेह से होते हुए आप खूबसूरत नुब्रा वैली तक भी जा सकते हैं | ये गाँव आस-पास के बर्फ़ीले पहाड़ों के बीच बने गर्म पानी के सोते की वजह से मशहूर है जहाँ दुनिया भर से सैलानी गोता लगाने आते हैं | ये भारत का अनोखा गाँव है और इस गाँव के बाद सियाचीन का ग्लेशियर आता है |

किब्बर

हिमाचल की स्पिति वैली में स्थित दुनिया के सबसे ऊँचे गाँव किब्बर में आपका स्वागत है

14000 फीट की ऊँचाई पर स्थित किब्बर गाँव में कुदरत की सुंदरता देख कर लोग दंग रह जाते हैं | आस-पास के नज़ारों में या तो भूरी ज़मीन दिखती है या सफेद बर्फ से ढके पहाड़ | इस गाँव से होकर आप दुनिया के सबसे बड़े और ऊँचाई पर स्थित मठ 'की मठ' में पहुँच जाते हैं | इस मठ की बनावट इतनी अनोखी है कि आप ज़िंदगी भर नहीं भूल पाएँगे |

पूवर

केरल का पूवर समुद्रतट के पास छुट्टी मनाने के लिए सही जगह है

त्रिवेंद्रम के दक्षिणी छोर पर बसा पूवर वो तटवर्ती गाँव है जहाँ से बेहतर समंदर के पास रहने का अनुभव और कहीं नहीं | गाँव होते हुए भी समुद्रतट के किनारे छुट्टी मनाने के लिहाज से यहाँ खूबसूरत तट हैं | केरल में बैकपैकिंग करते मुसाफिर इस गाँव में ज़रूर जाएँ |

चितकुल

हिमाचल की किनौर वैली में बसा चितकुल वो गाँव है जहाँ भारतीय सड़क समाप्त हो जाती है

भारत-चीन सीमा के बिल्कुल पास बसा ये गाँव भारत का ऐसा आख़िरी गाँव है जहाँ आप बिना परमिट के जा सकते हैं | हिमालय की गोद में स्थित अन्य गावों की तरह ही इस गाँव में भी घरों की छतें लकड़ी की बनी हैं, जो पुरानी वास्तुकला की याद दिलाती है | कुदरत की खूबसूरती को करीब से देखने के लिए इस गाँव में ज़रूर घूमें |

ज़ुलुक

सिक्किम का ज़ुलुक गाँव, जहाँ एक भी होटल नहीं है

भारत में इतने सुंदर गाँव हैं कि आप घूमते-घूमते थक जाएँगे | सिल्क रूट पर स्थित ज़ुलुक भी ऐसे गाँवों में से एक है | इस गाँव में कोई होटल नहीं है, इसलिए यहाँ आने वाले सैलानियों को यहाँ के स्थानीय लोगों के साथ ठहरना होगा | गाँव तक पहुँचने वाला रास्ता भी कोई कम रोमांचक नहीं है | यहाँ पहुँचने के लिए 32 ख़तरनाक मोडों से होकर गुज़रना पड़ता है |

प्रागपुर

हिमाचल की कांगड़ा वैली में स्थित प्रागपुर भारत का पहला ऐतिहासिक गाँव है

पत्थरों से बने रास्ते के आस-पास वास्तुकला के नायाब नमूने बने हैं | हिमालय की गोद में बसा ये साफ-सुथरा गाँव मैक्लॉडगंज, पालमपुर और ऐसे अन्य कई टूरिस्ट स्पॉट्स के रास्ते में आता है | हिमाचल प्रदेश में बैकपैकिंग करते हुए इस गाँव में घूमना ना भूलें |

Photo of भारत के 12 प्यारे गाँव जहाँ जाकर आप शहरी शोर भूल जाएँगे 7/12 by लफंगा परिंदा
क्रेडिट्स: ब्राइस जॉनसन

दोंग

अरुणाचल प्रदेश के दोंग गाँव में असली संस्कृति से रूबरू हों

भारत के पूर्वी छोर पर स्थित दोंग गाँव तीन देशों की सीमाओं के पास है | इस गाँव के नज़ारे फोटोग्राफी के शौकीन लोगों को बेहद पसंद आएँगे | इस गाँव के अनोखी बात ये है कि यहाँ सिर्फ़ 3 झोपडियाँ हैं क्योंकि यहाँ के लोग साधारण रूप से मगर ज़िंदादिली के साथ जीने में विश्वास रखते हैं |

Photo of भारत के 12 प्यारे गाँव जहाँ जाकर आप शहरी शोर भूल जाएँगे 8/12 by लफंगा परिंदा

कलाप

उत्तराखंड के कलाप गाँव में सारी थकान उतार दीजिए

भीड़-भाड़ वाले राज्य में भी ऐसी जगहें होती हैं जहाँ सुकून मिलता है | गढ़वाल की पहाड़ियों में स्थित कलाप गाँव में शहरी धूल-धूआँ नहीं, खुली हवा है | घाटियों में शांति की गूँज आपको अगले दिन अपने दफ़्तर में बहुत याद आएगी |

मावलिनोंग

मेघालय की पूर्वी ख़ासी हिल्स में स्थित भारत के सबसे साफ गाँव मावलिनोंग की सैर

पहाड़ों की ओर जाते समय भारत के सबसे साफ गाँव में रहने का मौका मिले तो क्या बात है | शिलॉंग से 90 कि.मी. दूर स्थित मावलिनोंग यहाँ की असीमित हरियाली और गाँव के प्रबंधन के कारण जाना जाता है | गाँव के स्थानीय लोगों के साथ घुलिए मिलिए, गाँव की सैर कीजिए और जीवित पेड़ों की जड़ों से बने पुल को देखिए |

लमयूरू

लद्दाख के लमयूरू गाँव में फोटोग्राफी का मज़ा

इस गाँव में आपको दूर-दूर तक बर्फ़ीले पहाड़ या भूरी बंजर ज़मीन ही दिखाई देगी | यहाँ के सबसे बड़े और पुराने मठ के आस-पास ही छोटे छोटे घर बने हैं | यहाँ के स्थानीय लोग कहते हैं कि यहाँ की ज़मीन चाँद की सतह जैसी लगती है, जिसका पता आपको इस गाँव में घूमकर लग जाएगा | अपना कैमेरा साथ ले जाना मत भूलिएगा |

Photo of भारत के 12 प्यारे गाँव जहाँ जाकर आप शहरी शोर भूल जाएँगे 11/12 by लफंगा परिंदा
श्रेय: बिनो कैना

मुत्तम

तमिलनाडु के मुत्तम में मछली पकड़ने का मज़ा

साफ समुद्रतट, पथरीली चोटियों और गुफ़ाओं वाले मुत्तम में आकर आप बाहरी दुनिया को भूल जाएँगे | इतना खूबसूरत गाँव होने के बाद भी यहाँ के समुद्रतटों पर आपको भीड़ नहीं दिखाई देगी | शाम को तट या लाइटहाउस से आराम से समंदर में ढलते सूरज का नज़ारा देखिए |

Photo of भारत के 12 प्यारे गाँव जहाँ जाकर आप शहरी शोर भूल जाएँगे 12/12 by लफंगा परिंदा

तो अपने बैग पैक कीजिए और निकल जाइए भारत के सुंदर गाँवों की ओर |

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment