डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर

Tripoto
12th Jan 2011

नीदरलैंड ( अन्य नाम होलेन्ड) की राजधानी एम्सटर्डम का नाम सुनते ही नहरे, विंडमिल, कल्चरल डाइवर्सिटी, आकर्षक नाईट लाइफ एवं दुनिया के सबसे पुराने रेड लाइट एरिया का ख्याल मन में आ जाता है. एम्सटर्डम की स्थापना 12वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में एम्स्टल नदी के मुहाने पर एक मछली पकड़ने के केन्द्र के रूप में हुई थी. एम्सटर्डम नाम एम्स्टल नदी के नाम से बना है. यह नीदरलैंड का सर्वाधिक जनसंख्या वाला शहर है.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 1/14 by Neeraj Rathore
amsterdam Canal 
Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 2/14 by Neeraj Rathore

ब्रिटेन के लिवरपूल एअरपोर्ट से 1 घंटा 25 मिनट की फ्लाइट पकड़कर में एम्सटर्डम के शिपोल एअरपोर्ट पर पहुंचा जो की पश्चिम यूरोप का सबसे व्यस्त एअरपोर्ट है. बजट ट्रेवलर होने की वजह से होटल में जाने के लिए मेने लोकल ट्रेन का उपयोग किया जो कि एक डबल डेकर ट्रेन थी एवं में अपनी जिंदगी में पहली बार किसी डबल डेकर ट्रेन में बैठा.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 3/14 by Neeraj Rathore

डच स्वर्ण युग का केंद्र एम्सटर्डम का इतिहास :-

12 वीं शताब्दी के अंत में एक छोटे से मछली पकड़ने के गांव के रूप में एम्स्टल नदी के किनारे उत्पत्ति हुई. एम्स्टर्डम17 वी शताब्दी के दौरान डच स्वर्ण युग के केंद्र के दौरान दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण बंदरगाहों में से एक बन गया था, जो व्यापार में अपने अभिनव विकास का नतीजा था. उस समय के दौरान एम्स्टर्डम वित्त और हीरे के लिए अग्रणी केंद्र था। 19वीं और 20 वीं शताब्दी में शहर का विस्तार हुआ, और कई नए पड़ोस और उपनगरों की योजना बनाई गई और निर्माण किया गया.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 4/14 by Neeraj Rathore

एम्स्टर्डम की नहरे यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साईट में शामिल :-

एम्स्टर्डम की 17 वीं शताब्दी की नहरों और 19 -20 वीं शताब्दी की एम्स्टर्डम की रक्षा रेखा यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साईट की सूची में हैं. वैसे एम्स्टर्डम की नहरें विश्वविख्यात हैं, इनमें से कई नगर के बीचोबीच हैं. इस कारण से इसकी तुलना वेनिस से की जाती है. एम्स्टर्डम की नगर पालिका द्वारा 1921 में नगरपालिका स्लॉटन के कब्जे के बाद से, शहर का सबसे पुराना ऐतिहासिक हिस्सा स्लॉटन एतिहासिक धरोहर है.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 5/14 by Neeraj Rathore

एम्स्टर्डम में घुमने लायक जगहे :-

एम्स्टर्डम स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज शहर के केंद्र में स्थित है। एम्सटर्डम के ऐतिहासिक आकर्षण में रिजक्सम्यूजियम, वान गॉग म्यूजियम, स्टैडेलिस्क म्यूजियम, हेर्मिटेज एम्स्टर्डम, ऐनी फ्रैंक हाउस इत्यादि है. एम्स्टर्डम संग्रहालय भी फेमस है, इसके कई कैनबिस कॉफी की दुकानों में सालाना 5 मिलियन से अधिक अंतरराष्ट्रीय ग्राहक आते है.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 6/14 by Neeraj Rathore

वेश्यालय का संग्रहालय :-

दुनिया का एकमात्र वेश्यालय का संग्रहालय एम्स्टर्डम शहर में ‘दे वाल्लें’ नाम से जाना जाता है. ये संग्रहालय यहां सदियों से चल रहे देह व्यापार की कहानी बताता है. संग्रहालय में एक दीवार पर लोगों ने अपनी 'सेक्स लाइफ़' के राज़ बयां किए हैं. यहां अंग्रेज़ी, स्पेनिश, लैटिन के अलावा हिंदी में भी कुछ लोगों ने अपने सीक्रेट लिखे हैं.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 7/14 by Neeraj Rathore
Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 8/14 by Neeraj Rathore

1500 से अधिक छोटे बड़े पुल :-

यहाँ आपको फ़ोटो खिंचवाने के लिए आकर्षक बैकग्राउंड की तलाश के लिए ज़्यादा भटकने की ज़रूरत नहीं है, शहर में 1500 से अधिक ख़ूबसूरत पुल जो हैं.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 9/14 by Neeraj Rathore

एम्स्टर्डम पानी पर तैरता हुआ शहर है :-

शहर का एक चौथाई हिस्सा जलमग्न है. दुनिया के किसी अन्य शहर के इतने हिस्से में पानी नहीं है. नहरें और बंदरगाह इसकी पहचान हैं. “द जेन्टलमेन्स कैनल” सबसे महत्वपूर्ण नहर मानी जाती है. इसके किनारे बने घर, शहर की सुंदरता में चार चांद लगाते हैं.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 10/14 by Neeraj Rathore

एम्स्टर्डम की पहचान यहाँ के स्ट्रीट कलाकार

सड़कों पर प्रदर्शन करनेवाले कलाकार, जिन्हें बस्कर कहा जाता है एम्स्टरडम में उतने ही आम हैं, जितनी नहरें. भ्रमण करते हुए लगभग हर नुक्कड़ और मोड़ पर आपका सामना नर्तकों, संगीतकारों, कलाकारों की मूर्तियों, कलाबाज़ों, बाज़ीगरों, मुंह से आग निकालनेवाले, दूसरों की नकल उतारनेवाले या पुराने ज़माने की पोशाकें पहने हुए कलाकारों से हो जाएगा.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 11/14 by Neeraj Rathore

मशहूर द वेस्टरकर्क प्रोटेस्टेंट चर्च :-

ऑन फ्रैंक हाउस के पास स्थित द वेस्टरकर्क प्रोटेस्टेंट चर्च का निर्माण वर्ष 1631 में किया गया था. डच चित्रकार रेमब्रैंड्स को यहीं दफ़नाया गया था .

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 12/14 by Neeraj Rathore

मॉडर्न आर्ट का स्वर्ग :-

ऐम्स्टरडम की सड़कों पर कला के अनगिनत शानदार नमूने स्थापित किए गए हैं. उनमें से ज़्यादातर मॉडर्न आर्ट से प्रेरित हैं. यदि आपको कला से गहरा लगाव है तो आपको दो घंटों के स्ट्रीट आर्ट वॉक पर जाकर ख़ूब मज़ा आएगा.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 13/14 by Neeraj Rathore

ऐम्स्टरडम की ट्राम्स:-

ऐम्स्टरडम की ट्राम्स बेहद अनूठी हैं. नीले और सफ़ेद रंग की इन ट्राम्स में एक घंटी लगी होती है, जो पैदल चल रहे राहगीरों और साइकिल चला रहे लोगों को आगाह करती रहती है.

Photo of डच स्वर्ण युग का केंद्र रहा है होलेन्ड का एम्सटर्डम शहर 14/14 by Neeraj Rathore
Be the first one to comment