भारत की 10 वर्ल्ड हेरिटेज साइट, जिनको देखे बिना घुमक्कड़ी अधूरी

Tripoto
Photo of भारत की 10 वर्ल्ड हेरिटेज साइट, जिनको देखे बिना घुमक्कड़ी अधूरी by Musafir Rishabh

घुमक्कड़ी का सबका अपना-अपना तरीका होता है। कोई पहाड़ों में ही घूमता रहता है तो कोई शहरों और बीचों पर घूमना पसंद करता हैं। वहीं कुछ ऐसे भी होते हैं जो सब कुछ घूमते हैं। मेरा भी यही मानना है कि घुमक्कड़ का हर जगह पर घूमना चाहिए। उसकी पसंद हो सकती है लेकिन ये पसंद तभी बनती हो जब आपने बहुत सारी जगहें नाप ली हों। अगर आप सिर्फ एक ही प्रकार की जगहों पर जाकर अपनी पसंद बना रहे हैं तो फिर आपको घूमने की बहुत ज्यादा जरूरत है। भारत में कई जगहें हैं जिनको वर्ल्ड हेरिटेज साइट की लिस्ट में रखा गया है। इन जगहों को हर घुमक्कड़ को घूमना चाहिए।

Photo of भारत की 10 वर्ल्ड हेरिटेज साइट, जिनको देखे बिना घुमक्कड़ी अधूरी 1/1 by Musafir Rishabh

अक्सर लोग ऐसा सोचते हैं कि सिर्फ ऐतहासिक जगहों को ही वर्ल्ड हेरिटेज साइट में जगह दी जाती है। अगर आप ऐसा सोचते हैं तो आपको भारत की वर्ल्ड हेरिटेज साइट की लिस्ट एक बार देख लेनी चाहिए। इसमें कई खूबसूरत जगहें मिलेंगी जिनका इतिहास से कोई लेना-देना नहीं होता है। हम आपको भारत की कुछ ऐसी ही वर्ल्ड हेरिटेज साइट के बारे में बताने जा रहे हैं। इन जगहों पर हर घूमने वाले को एक बार जरूर जाना चाहिए।

1. नालंदा महाविहार

आपने बिहार के नालंदा विश्वविद्यालय के बारे में तो सुना ही होगा। कहा जाता है कि यहाँ पढ़ने के लिए दुनिया भर से लोग आते थे। उसी परिसर में नालंदा महाविहार स्थित है। ये जगह आपको पुराने समय में वापस ले जाता है। ये सिर्फ बौद्ध धर्म के विकास के लिए तो काम करता है, इसके अलावा ये जगह देखने लायक है। 23 हेक्टेयर में फैली इस वर्ल्ड हेरिटेज साइट में 14 मंदिर और 11 विहार हैं। यहाँ की नक्काशी वाकई कमाल की है। अगर आप बिहार आते हैं तो इस जगह पर जरूर जाएं।

2. ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

भारत के सबसे खूसूरत राज्यों में से एक हिमाचल प्रदेश में ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क स्थित है। यूनेस्को ने इसे वर्ल्ड हेरिटेज साइट में रखा है। लगभग 755 वर्ग किमी. में फैला ये नेशनल पार्क प्रकृति की खूबसूरती का घर है। यहाँ आपको दूर-दूर तक पहाड़ और हरियाली ही नजर आएगी। यहाँ के ज्यादातर हिस्सों में प्राइवेट गाड़ियों के आने पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। ऐसी जगहों पर आपको पैदल ही घूमना होगा। ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में आपको कई जंगली जानवर भी मिल सकते है। इसलिए आप गाइड के साथ इस जगह को एक्सप्लोर करें।

3. महाबलीपुरम स्मारक

पत्थरों से काटकर बनी प्रमिाएं हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। ऐसी ही खूबसूरत जगह है, महाबलीपुरम। महाबलीपुरम के स्मारक 7वीं और 8वीं शताब्दी में पल्लव राजाओं ने बनवाए थे। इन स्मारकों में धर्मराज रथ, अर्जुन रथ, भीम रथ, द्रौपदी रथ, नकुल-सहदेव रथ और गणेश रथ भी है। इस जगह को 1984 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट की लिस्ट में जगह दी गई है। यहाँ पर कई मंदिर भी हैं जिनको देखा जा सकता है। आपको एक बार जरूर इस जगह पर जाना चाहिए।

4. माउंटेन रेलवे

हर घुमक्कड़ का सपना होता है कि वो पहाड़ों को छुक-छुक चलती रेल से देखें। आपका ये सपना भारत की माउंटेन रेल कर सकती हैं। इसके तीन रूट हैं, दार्जिलिंग हिमालय रेलवे, नीलगिरी माउंटेन रेलवे और कालका-शिमला रेलवे। इन तीनों रेलवे रूट को यूनेस्को ने वर्ल्ड हेरिटेज साइट का दर्जा दिया है। इन तीनों को 1881 से 1908 के बीच खोला गया था। पहाड़ों के खूबसूरत नजारों के बीच माउंटेन रेल में यात्रा करना किसी सपने से कम नहीं है।

5. खजुराहो

मध्य प्रदेश के इस छोटे लेकिन ऐतहासिक शहर का नाम हर किसी ने सुना जरूर होगा। मंदिरों के इस छोटे-से शहर में हिंदू और जैन मंदिरों की भरमार है। चंदेल राजाओं ने 100 से ज्यादा मंदिरों को बनवाया था लेकिन अब सिर्फ 20 मंदिर ही बचे हैं। नागर शैली में बने इन मंदिरों पर छोटी-छोटी मूर्तियां बनी हुई हैं जो देखने लायक हैं। ये मंदिर उस समय के पूरे जीवन के बारे में दिखाती हैं। सामाजिक जीवन से लेकर पारिवारिक संबंध हर एक पहलू के बारे में इन मूर्तियों से समझने में मदद मिल सकती है। आपको इस खूबसूरत शहर में एक बार तो जरूर आना चाहिए।

6. भीमबेटका गुफाएं

मध्य प्रदेश अपनी प्राकृतिक और सांस्कृतिक सौंदर्यता के लिए जाना जाता है। यहाँ कई ऐसी जगहें हैं जिनको देखकर हैरान रह जाएंगे। राजधानी भोपाल से 45 किमी. की दूर ऐसी ही जगह है भीमबेटका की गुफाएं। इन गुफाओं को 2003 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट में जगह दी गई। पाषाण काल के चित्र इन गुफाओं पर बने हुए हैं। लगभग 20 हजार साल पुरानी ये चित्रकला देखने लायक है। यही वजह है कि दुनिया भर से लोग इस जगह को देखने आते हैं।

7. फूलों की घाटी

अगर कहीं जन्नत होगी तो फूलों की घाटी जैसी खूबसूरत होगी। आपने शायद ही ऐसे मंत्रमुग्ध कर देने वाले नजारे देखे होंगे। यूनेस्कों ने 1982 में इसे विश्व धरोहर स्थल में जगह दी है। उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित इस घाटी में 500 से ज्यादा प्रकार के फूल होते हैं। जब आप एक जगह पर इतने सारे फूल देखोगे तो इससे खूबसूरत आपको क्या ही लग सकता है? इस रंग-बिरंगी घाटी तक पहुँचने के लिए आपको लंबा ट्रेक करना पड़ेगा। जो गोविंदघाट से शुरू होता है और घाघरिया होते हुए फूलों की घाटी पहुँचते हैं।

8. एलोरा की गुफाएं

बचपन में हर किसी ने जीके की किताब में एलोरा की गुफाओं के बारे में जरूर पढ़ा होगा। महाराष्ट के औरंगाबाद से 30 किमी. दूर चालीसगांव में एलोरा की गुफाएं हैं। इस प्राचीन खूबसूरती को भारतीय ही नहीं फॉरनर्स भी देखनेके लिए आते हैं। मंदिर को काटकर बनाई गईं ये गुफाएं 600 से 1000 ईस्वीं की है। यहाँ पर हिंदू, जैन और बौद्ध धर्म की प्रतिमाएं हैं। जिसमें सबसे ज्यादा खूबसूरत कैलाश मंदिर है। एलोरा की इन गुफाओं के समूह में 100 गुफाएं हैं। जिनमें से 34 ही टूरिस्ट देख सकते हैं।

9. चंपानेर-पावागढ़ आर्कलोजिकल पार्क

गुजरात भारत के सास्कृतिक राज्यों में से एक है। इसी गुजरात के पंचमहल जिले में चंपानेर-पावागढ़ आर्कलोजिकल पार्क स्थित है। ये हेरिटेज साइट आपको 16वीं शताब्दी में ले जाएगा। ये जगह एक पहाड़ी पर स्थित है। यहाँ पर 10वी और 11वीं शताब्दी में कई मंदिर बनाए गए थे। जिसमें से अब सिर्फ गुधमनदापा और अंतराला ही बचे हैं। इसी तरह 13वीं और 15वीं शताब्दी के कुछ मंदिर बचे हुए हैं। हर घुमक्कड़ को एक बार इस वर्ल्ड हेरिटेज साइट पर एक बार जरूर जाना चाहिए।

10. पत्तदकल

जिस तरह उत्तर में खजुरहो एक बड़ा तीर्थ स्थल है। जहाँ पर मंदिरों का एक बड़ा समूह है। उसी तरह कर्नाटक के पत्तदकल में एक मंदिरों का एक बड़ा समूह है। इन मंदिरों की सबसे खास बात ये है कि सभी मंदिर एक ही भगवाल को समर्पित हैं। आप मंदिर में जाएंगे तो समझ पाएंगे कि सभी मंदिर भगवान शिव के हैं। आप यहाँ पर विरूपक्षा मंदिर, मल्लिकार्जुन मंदिर, संगामेश्वरा मंदिर और चन्द्रशेखर आदि मंदिर देख सकते हैं।

क्या आपने इन जगहों की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।