जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास

Tripoto
Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास by Deeksha Agrawal

मुझे शहर एकदम कहानियों की तरह लगते हैं। जैसे कहानियों में किस्से जोड़ने के लिए आपको मेहनत करनी पड़ती है। वैसे ही किसी शहर को अच्छी तरह से जानने के लिए आपको भटकना पड़ता है। इसी भटकने को हम घुमक्कड़ी का नाम देते हैं। घुमक्कड़ी ज़िन्दगी का वो पहलू है जिसका हर एहसास स्पेशल होता है। ये आपको उन जगहों और लोगों से मिलने का मौका देती है जिनसे शायद आप वैसे कभी नहीं मिल पाते। लोग और उनसे जुड़ी संस्कृति को पास से देखने और समझने का मौका देती है घुमक्कड़ी। जब भी हम कल्चर या संस्कृति की बात करते हैं हमारे दिमाग में सबसे पहले राजस्थान और गुजरात का नाम आता है। ये भारत के दो ऐसे राज्य हैं जिनकी रंग-बिरंगी सभ्यता के बारे में लगभग सब जानते हैं।

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 1/9 by Deeksha Agrawal

आज गुजरात की बात करते हैं। गुजरात में टूरिज्म की नजरिए से देखें तो कुछ शहर हैं जहाँ पर्यटकों की भारी भीड़ दिखाई देती है। अहमदाबाद और सूरत इसमें सबसे खास और शानदार नाम हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं गुजरात के कुछ शहर ऐसे भी हैं जहाँ लोग तो आते हैं लेकिन इन शहरों को घुमक्कड़ीय नजर से नहीं देखा जाता है। ऐसा ही एक नगीना है जामनगर जिसे काठियावाड़ का हीरा भी कहा जाता है।

जामनगर के बारे में

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 2/9 by Deeksha Agrawal
श्रेय: फेसबुक

जामनगर गुजरात के दक्षिण में बसी एक खूबसूरत जगह है। इस शहर में पुरानी गुजराती परंपरा और नए आधुनिक कल्चर का बढ़िया मिश्रण देखने को मिलता है। राजपूती आर्किटेक्चर का बेहतरीन नमूना लिए ये शहर गुजरात की अनछुई जगहों में से है। नागमत्ती और रंगमत्ती नदियों के तट पर बसे इस शहर की स्थापना करीब 444 सालों पहले जाम रावल ने की थी। उस समय जामनगर नवानगर की राजधानी हुआ करता था। इसके बाद जामनगर की सुंदरता में सुधार किया गया जिसके बाद इस शहर को आज दिखने वाली स्थिति में लाया जा सका। जामनगर में मोती और पीतल कारोबारियों का बड़ा बाजार है। इस जगह पर मोतियों को बनाया भी जाता है। एक समय पर जामनगर को खासतौर से इन्हीं बाजारों के लिए जाना जाता था। हालांकि आज ये जगह यहाँ बसी तेल की तमाम रिफाइनरी के लिए मशहूर है।

क्या देखें?

जामनगर द्वारका के बेहद नजदीक बसा हुआ है जो हिन्दुओं के लिए काफी महत्वपूर्ण जगह है। इसलिए जामनगर को छोटा बनारस के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन जामनगर में घुमक्कड़ों के लिए मंदिरों के अलावा भी बहुत कुछ है।

1. लखोटा किला

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 3/9 by Deeksha Agrawal
श्रेय: टी2इंडिया

भारत के इतिहास की बात करें तो गुजरात उन चुनिंदा राज्यों में से है जो ऐतिसहिक इमारतों और किलों से भरा हुआ है। लखोटा किला भी इसी गौरवशाली इतिहास का हिस्सा है। किले का आर्किटेक्चर इतना सुन्दर है कि इसे देखते हुए आपकी आँखें नहीं थकेंगी। इस किले का निर्माण गुजरात के रावलों ने करवाया था जो एक समय पर जामनगर के सबसे नामचीन लोगों में से थे। इस किले को राजा जाम रावल के शासन में बनाया गया था जिनके नाम पर जामनगर का नाम भी रखा गया है। किले का ढांचा पारंपरिक गुजराती आर्किटेक्चर का बेहतरीन उदहारण है। इस राजसी किले को देखने के लिए केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया से लोग आते हैं।

अगर आप लखोटा किला देखने जाने का सोच रहे हैं तो किले के बाद इसके पास बसे बाजार को देखना बिल्कुल नहीं भूलना चाहिए। बाजार में आप गुजराती सभ्यता से जुड़े कपड़े और सामान खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप लाजवाब गुजराती खाने का स्वाद भी ले सकते हैं।

2. दरबार गढ़

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 5/9 by Deeksha Agrawal
श्रेय: मापीओ

जामनगर शुरू से ही राजाओं का शहर रहा है। इसलिए यहाँ उनसे जुड़ी कई चीजें और जगहें हैं जिन्हें आपको देख लेना चाहिए। दरबार गढ़ वो जगह है जहाँ जामनगर के राजाओं का दरबार लगाया जाता था। इस दरबार में वो आम जनता से मिलते थे और उनकी परेशानियों को सुनते थे। दरबार गढ़ से निकलने वाली गलियाँ देखने लायक हैं। इन गलियों में गुजरात के प्रसिद्ध बांधनी कपड़ों के कारखाने हैं। इन गलियों में अलग-अलग रंगों को एक साथ मिलाकर खूबसूरत बांधनी बनाए जाते हैं।

जामनगर के इस इलाके में दो जैन मंदिर भी हैं। शांतिनाथ और आदिनाथ मंदिर दोनों को ही पूरी तरह से शीशे, सोने की पत्तियों, प्राचीन कलाकृतियों और मोजाईक के काम से सजाया गया है। दोनों मंदिर इतने खूबसूरत हैं कि आप इनके सौंदर्य में खो जाना चाहेंगे। मंदिर के पास में एक मस्जिद भी है। 19वीं सदी में बने रतन भाई मस्जिद के दरवाजों पर मोतियों की कारीगरी है जो इसकी सुंदरता को बढ़ा देता है।

3. शिवराजपुर बीच

जामनगर कच्छ की खाड़ी के तट पर बसा शहर है इसलिए यहाँ सुंदर और शांत समुद्री किनारों की कमी नहीं है। अगर आप दिनभर शहर में घूमकर थक गए हैं तो आपको शिवराजपुर बीच आना चाहिए। ये बीच द्वारका से लगभग 10 किमी. दूर है। ये बीच सफेद रेत और बलुआ पत्थरों के लिए जानी जाती है। बीच पर आप टहल सकते हैं, किनारे पर किताब पढ़ सकते हैं, समुद्र की लहरों में तैरने का आनंद उठा सकते हैं या शांति से बैठकर डूबते हुए सूरज के दिलकश नजारों को निहार भी सकते हैं।

4. खिजादिया बर्ड सैंक्चुरी

अगर आपको पक्षियों के बारे में जानने में रुचि है तो जामनगर में आपको जन्नत जैसा एहसास होगा। जामनगर में अपना एक इकोसिस्टम है जिसे खिजादिया बर्ड सैंक्चुरी का नाम दिया गया है। ये सैंक्चुरी कई ऐसे पक्षियों का घर है जिन्हें विलुप्त होने वाले जानवरों की सूची में रखा गया है। यहाँ देशी और विदेशी दोनों तरह के पक्षियों को मिलाकर लगभग 300 तरह के प्रवासी पक्षी रहते हैं। ये जगह शाम के समय बेहद खूबसूरत हो जाती है इसलिए अगर आप यहाँ आएं तो सनसेट देखने का प्लान जरूर बनाना चाहिए।

5. नरारा मरीन नेशनल पार्क

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 8/9 by Deeksha Agrawal
श्रेय: रोमिंग आउल

जामनगर का एक बड़ा हिस्सा कच्छ की खड़ी के पास बसा है इसलिए जामनगर में मरीन लाइफ की बड़ी वैरायटी देखी जा सकती है। जामनगर का तटीय इलाका खासतौर से मरीन नेशनल पार्क के लिए फेमस है। खास बात ये है कि ये भारत का पहला समुद्री पार्क है। ये भारत की ऐसी एकमात्र जगह है जहाँ आप पानी में गोता लगाए बिना कोरल रीफ देख सकते हैं। क्योंकि ये जगह कच्छ की खड़ी के बहुत पास है इसलिए आप इस पार्क से डॉल्फिन और प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं। कहते हैं कच्छ की खड़ी में कुल 42 द्वीप हैं और वो सभी द्वीप इस मरीन पार्क का हिस्सा हैं। इन सभी द्वीपों में पिरोटन द्वीप सबसे लोकप्रिय और फेमस जगह है। यहाँ से दिखाई देने वाले शानदार सनसेट और जलीय जीवन शायद ही कहीं और देखने मिलेगा। इसके अलावा आप पास बसी नरारा बीच, माधी बीच और बलाचड़ी बीच को भी देख सकते हैं।

कैसे पहुँचें?

Photo of जामनगर: गुजराती संस्कृति और गौरवशाली इतिहास की झलक दिखलाता ये शहर है सबसे खास 9/9 by Deeksha Agrawal
श्रेय: फेसबुक

रोड से: जामनगर देश के सभी हिस्सों से अच्छी तरह से जुड़ा हुए है। यहाँ आने के लिए आपको किसी भी अन्य शहर से सीधी बस मिल जाएगी। देश के विभिन्न राज्यों से जामनगर पहुँचना चाहते हैं तक आप किसी भी राज्य सरकार की बसों को इस्तेमाल करके आराम से यहाँ आ सकते हैं। अगर आप गुजरात के ही किसी शहर से जामनगर आना चाहते हैं तो आप और भी आसानी से जामनगर आ सकते हैं।

ट्रेन से: जामनगर रेलवे स्टेशन सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है। आप चाहे देश के किसी भी कोने में हों आपको जामनगर आने के लिए आसानी से ट्रेन मिल जाएगी।

फ्लाइट से: अगर आप फ्लाइट से जामनगर आना चाहते हैं तो उसमें भी आपको कोई दिक्कत नहीं होगी। जामनगर का गोवर्धन एयरपोर्ट मुख्य शहर से केवल 10 किमी. की दूरी पर स्थित है और मुंबई या दिल्ली जैसे बड़े शहरों से जामनगर के लिए आसानी से फ्लाइट मिल जाती है।

क्या आपने गुजरात के किसी शहर की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

रोज़ाना वॉट्सएप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9319591229 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें