कहाँ खाएँ लखनऊ में लाजवाब कबाब और बिरयानी?

Tripoto
Photo of कहाँ खाएँ लखनऊ में लाजवाब कबाब और बिरयानी? by किस्से कहानी वाला

मैं पक्का दिल्ली वाला हूँ , और अगर आप भी हैं या किसी दिल्ली वाले को जानते है , तो ये तो भी जानते ही होंगे की दिल्लीवासी अपने खाने से कितना प्यार करते हैं | ऐसा नहीं है कि हम खाते-खाते ही पैदा हुए थे , लेकिन हमारे पास मौजूद खाने के हजारों विकल्पों ने हमें कहीं न कहीं एक फ़ूड क्रिटिक जरूर बना दिया है। नॉन-वेज फ़ूड में हमारे पास बहुत सारे ऑप्शंस है, उसकी बदौलत ही हम नॉन-वेज को लेकर थोड़ा ज्यादा उत्तसुक रहते हैं | लेकिन लज़ीज नॉन-वेज खाना हो तो सिर्फ दिल्ली ही नहीं बल्कि एक और शहर है जो खाने की तस्वीर से ही आपके मुंह में पानी ला देता है, और वो है नवाबों का शहर लखनऊ

पिछले हफ्ते लखनऊ में अपने छुट्टी के दौरान, मैंने लखनऊ में खाना पकाने की शैली के बारे में बहुत कुछ सीखा और साथ ही शहर के कुछ पाक रहस्यों का भी पता लगाया। अब कबाब, बिरयानी और कोरमा के लिए अल्ट्रा-प्रसिद्ध, लखनऊ की स्वादिष्ट खोज के बारे में बताना तो बनता है! तो चलिए मैं आपको बताता हुँ लखनऊ में कहाँ मिलेंगे बेस्ट कबाब, बिरयानी और आपके मन-पसंद नॉन-वेज पकवान।

Photo of टुंडे कबाबी, Old Nazirabad Road, Beside St.Marry Inter College, Khayali Ganj, Aminabad, Lucknow, Uttar Pradesh, India by किस्से कहानी वाला
Photo of टुंडे कबाबी, Old Nazirabad Road, Beside St.Marry Inter College, Khayali Ganj, Aminabad, Lucknow, Uttar Pradesh, India by किस्से कहानी वाला

प्रसिद्ध: गलौटी कबाब

सबसे पहले तो बता दुं कि समाचारों की रिपोर्टों के उलट, यह प्रसिद्ध आउटलेट आज भी खुला है। केवल एक चीज जो बदल गई है वो यह है कि यहाँ अब गोमांस के कबाब नहीं परोसे जा रहे है,और इसकी वजह है राज्य में अवैध बूचड़खानों पर प्रतिबंध । यहां जाने से पहले, जान लें कि टुंडे कबाबी का माहौल पूरी तरह से बुनियादी है। चिलचिलाती गर्मी और अपनी बारी के लिए चौक पर भयानक भीड़ के बीच भी आपको लंबी कतारों में इंतजार करना पड़ सकता है, लेकिन एक बार जब कबाब आपके मुँह में घुलेगा, आपको ये सब जायज़ लगेगा । यदि कोई महिला आपके साथ है , तो आपको "फैमिली सेक्शन " में एंट्री मिलेगी, जो बाकी रेस्टोरेंट की तुलना में बेहतर है। मेन्यू में बहुत ज्यादा विकल्प तो नहीं है, इसलिए जितने ज्यादा पकवान चख सकें उतना बेहतर क्योंकि क्या पता लखनऊ का अगला चक्कर कब लगे? यहाँ खाना सस्ता है और आप बचे हुए खाने को पार्सल भी करवा सकते हैं। और अगर लखनऊ से दिल्ली आ रहे हों तो मेरे लिए भी पार्सल करवा लीजिएगा!

जरूर खाएं: मटन गलौटी कबाब

और क्या चखें : शीरमल, फ़िरनी

2 लोगों के लिए खर्च : रु 400

लोकेशन : अकबरी गेट के पास, चौक

समय: सुबह 11 बजे - रात 11:30 बजे तक

जरूरी टिप: लखनऊ में टुंडे कबाबी के 6 आउटलेट हैं, चौक में स्थित टुंडे कबाबी पर ही जाएँ |

Photo of दस्तरख्वान लालबाग, Bisheshwanath Road, Lalbagh, Lucknow, Uttar Pradesh, India by किस्से कहानी वाला

प्रसिद्ध: चिकन के पकवान

चूंकि हजरतगंज में मौजूद दस्तारख्वान आउटलेट फिलहाल बंद है, इसलिए लखनऊ में चिकन खाने के लिए अगली सबसे अच्छी जगह है लालबाग में बना द मुगल्स दस्तारख्वान आउटलेट। इस रेस्टोरेंट की "फाइन डाइन" और फैन्सी डेकोरेशन देखकर ये न सोचें कि आपको यहां असली मुग़लई स्वाद वाला गोश्त नहीं मिलेगा। हज़रतगंज के दस्तरख्वान और इस आउटलेट में बस जगह और सजावट का ही फर्क है। कीमतें अभी भी वाजिब हैं और खाना उतना ही लज़ीज। यहाँ पर आपको शाकाहारी पकवान भी उतने ही स्वादिष्ट मिलेंगे जितने की नॉन-वेज।

जरूर खाएं: हांडी चिकन

और क्या चखें: शाही पनीर, चिकन तंदूरी

2 लोगों के लिए खर्च: रु 800

लोकेशन : 29, बीएन रोड, रॉयल होटल क्रॉसिंग के पास, लालबाग

समय: दोपहर 12:30 बजे से रात 10:30 बजे तक

जरूरी टिप: परिवार के साथ डिनर या लंच करने के लिए यह एक बढ़िया रेस्टोरेंट है।

Photo of वाहिद बिरयानी, Old Nazirabad Road, Khayali Ganj, Aminabad, Lucknow, Uttar Pradesh, India by किस्से कहानी वाला

प्रसिद्ध: चिकन बिरयानी

टुंडे कबाबी के ठीक बगल में स्थित होने के बावजूद अभी भी बिज़नेस में होना अपने आप में एक प्रमाण है कि यह जगह वास्तव में कितनी अच्छी है। वाहिद ने हमेशा से ही भीड़भाड़ वाले लखनऊ में स्वाद के दिवानों के बीच एक खास जगह बना रखी है। इसका एक बड़ा कारण ये है कि यहां सिर्फ लखनवी बिरयानी ही नहीं बल्कि मुग़लई अंदाज़ में भी बिरयानी बनाई जाती है, जो आपको लखनऊ में ज्यादा जगह नहीं मिलती। ये दुकान भले ही दिखने में बड़ी आम-सी लगे, लेकिन मसालेदार चावल के बीच रसीले चिकन वाली बिरयानी का पहला निवाला लेते ही आपका दिल और ज़ुबान दोनों ही खुशी से झूम उठेंगे!

जरूर खाएं: चिकन बिरयानी

और क्या चखें: लखनवी बिरयानी, सीक कबाब

2 लोगों के लिए खर्च : रु 400

लोकेशन : नाज़ सिनेमा रोड, अमीनाबाद मार्केट, अमीनाबाद

समय: सुबह 11 बजे - रात 12:30 बजे तक

जरूरी टिप: यह रात 12.30 बजे तक खुला रहता है, इसलिए अगर आपको रात में बिरयानी खाने का मन करें तो आप जानते हैं कि कहाँ जाना हैं। ये होम डिलीवरी भी करते हैं।

Photo of माशी बिरयानी वर्ल्ड - बिरयानी रेस्टोरेंट, Khun Khun Ji Road, Machchhi Bhavan, Lucknow, Uttar Pradesh, India by किस्से कहानी वाला

प्रसिद्ध: मटन बिरयानी

जब मैं शहर में सबसे अच्छी मटन बिरयानी खोजने के लिए निकला तो मैंने आखिरकार इसे एक ऐसी जगह पर पाया जहां मुझे सबसे कम उम्मीद थी।पहली बार में तो मैं इस दुकान में गया भी नहीं था मैंनें तो बस यहां से इनकी हैदराबादी मटन दम बिरयानी को मेरे होटल के कमरे में पहुंचाने के लिए कहा था , लेकिन बिरयानी की महक ही इतनी खास थी कि मैं यहाँ खिंचा चला आया। उस बेहतरीन स्वाद को दोबारा अपनी ज़ुबान पर चखने के लिए मैं चौक पर बनी इस बड़ी आम-सी दुकान पर पहुंचा, और यहां भी मुझे स्वाद का वही स्वादिष्ट नमूना मिला। ये आउटलेट थोड़ा नया है और कम कीमतों पर कई तरह से बनी बिरयानी यहां मिलती है, साथ ही खाने की पैकेजिंग भी साफ-सुथरी है।

जरूर खाएं: हैदराबादी मटन दम बिरयानी

और क्या चखें ?: हैदराबादी दम मुर्ग करी

2 लोगों के लिए खर्च : रु 300

लोकेशन : खुनखुनजी गर्ल्स डिग्री कॉलेज, निम्बू पार्क रोड, चौक के सामने

समय: दोपहर 12 बजे - रात 11:30 बजे तक

जरूरी टिप: सिर्फ दो लोगों के लिए ऑर्डर कर रहें हैं तो एक से ज्यादा प्लेट ऑर्डर न करें। क्वॉलिटी के साथ उनकी क्वॉन्टिटी भी बहुत ज्यादा है |

रहीम की निहारी

Photo of कहाँ खाएँ लखनऊ में लाजवाब कबाब और बिरयानी? by किस्से कहानी वाला

प्रसिद्ध: निहारी

जो लोग नहीं जानते, उनके लिए बता दुं निहारी एक कमाल डिश है जो धीमी गति से पकाए गए भेड़ के मांस से बना होता है। गोश्त आपकी ज़ुबान पर आते ही घुल जाए इसलिए इसे रात भर पकाया जाता है। इस डिश को बनाने में रहीम होटल पूरे लखनऊ में माहिर है। इस जगह को देखकर पता लगता है कि कई जगह मशहूर होने के बावजूद भी अपनी गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता नहीं करती। रहीम होटल अभी भी चौक के कोने में एक छोटा-सा रेस्टोरेंट है जहां बैठने के लिए भी ज्यादा जगह नहीं है। लेकिन अगर आप ज़ायकेदार निहारी खाना चाहते हैं तो यहां का स्वाद आपको जगह की कमी महसूस नहीं होने देगा।

जरूर खाएं: मटन निहारी + कुलचा

और क्या खाएं: पसंदा कबाब, पाया

2 लोगों के लिए खर्च: रु 200

लोकेशन : अकबरी गेट, तुलसीदास मार्ग, चौक

समय: सुबह 7:30 बजे - रात 12 बजे तक

जरूरी टिप: अगर आप खास तौर पर निहारी खाने जा रहे हैं (जो आपको जरूर जाना ही चाहिए ) सुबह 9 बजे से पहले ही आउटलेट पर पहुँच जाएँ। ताज़ा निहारी खाने का मज़ा ही कुछ और है |

तो अगर ये पढ़कर आपके मुंह में भी पानी आ गया हो तो जल्दी से लखनऊ की टिकट बुक कर लें!

आप भी अपने शहर से जु़ड़ी अपनी कहानियों को Tripoto पर साझा करें और साथी यात्रियों को अपने पसंदीदा आउटलेट के बारे में बताएँ।

Be the first one to comment