खुद को घुमक्कड़ मानते हो? छत्तीसगढ़ की इन छिपी हुई जगहों पर जाइए

Tripoto
Photo of खुद को घुमक्कड़ मानते हो? छत्तीसगढ़ की इन छिपी हुई जगहों पर जाइए by Rishabh Dev

अनछुई, छिपी या ऑफबीट जगहों के मतलब सबके लिए अलग-अलग हैं। जो बहुत घूमता है, वो उन जगहों पर जाता है जिनके बारे में कोई नहीं जानता है। वहीं जो लोग कम घूमते हैं उनके लिए फेमस जगह भी अनछुई हो सकती है। वो जगह आपके लिए अनछुई तब तक ही रहेगी, जब तक आप पहुँच नहीं जाते हैं। एक बार आप उस जगह पर हो जाते हैं तो उस जगह को जानने और समझने का सिलसिला शुरू हो जाता है। भारत के कई राज्य ऐसे हैं जहाँ पर कम ही लोग घूमने जाते हैं। ऐसा ही प्रदेश है, छत्तीसगढ़।

Photo of खुद को घुमक्कड़ मानते हो? छत्तीसगढ़ की इन छिपी हुई जगहों पर जाइए 1/1 by Rishabh Dev

इस राज्य के बारे में कहा जाता है कि ‘छत्तीसगढ़िया सबसे बढ़िया’। छत्तीसगढ़ बेहद खूबसूरत है। यहाँ मंदिर, लेक, झरने, पहाड़ और नदियां है। कुल मिलाकर यहाँ वो सब कुछ है जो इसे सुंदर बनाता है। इसके बावजूद यहाँ कम लोग आते हैं। इसी वजह से यहाँ की ज्यादातर जगह अनछुई हैं। उनमें से छत्तीसगढ़ की कुछ ऑफबीट जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहाँ पर आपको जरूर जाना चाहिए।

1. बारनवापारा वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी

छत्तीसगढ़ जंगलों का राज्य है। यहीं पर अबूझमाढ़ का घना जंगल है। अगर आपको प्रकृति से प्यार है तो छत्तीसगढ़ आपके के लिए अच्छी जगह है। यहीं पर रायपुर-कोलकाता हाइवे पर बारनवापारा वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी है। लगभग 245 वर्ग किमी. में फैली ये सैंक्चुरी कई प्रकार के जंगली जानवर और पक्षी रहते हैं। आप यहाँ पर जीप सफारी भी कर सकते हैं। आपको इस सैंक्चुरी में दूर-दूर तक हरियाली ही हरियाली दिखाई देगी। अगर आपकी किस्मत अच्छी रही तो आपको कई जानवर भी देखने को मिल सकते हैं। आपको बारनवापारा वाइल्डलाइफ सैंक्चुरी का अनुभव पसंद जरूर आएगा। छत्तीसगढ़ आएं तो इस जगह पर आना न भूलें।

2. सिरपुर

अगर आप छत्तीसगढ़ या उसके आसपास के इलाके के नहीं हैं तो शायद ही आपने सिरपुर का नाम सुना हो। सिरपुर रायपुर से 90 किमी. की दूरी पर महानदी के किनारे एक छोटा-सा गाँव है। ये गाँव कभी सोमवंशी राजाओं की राजधानी हुआ करती थी। आप इस जगह पर उसके सबूत देख सकते हैं। यहाँ पर कई मंदिर और महलों के खंडहर हैं। इनकी नक्काशी देखकर आप हैरान रह जाएंगे। यहाँ पर शैव, वैष्णव, जैन और बुद्ध की नक्काशी आपको देखने को मिलेगी। इसके अलावा आप यहाँ के कुछ फेमस मंदिरों को भी देख सकते हैं। छत्तीसगढ़ की इस ऐतहासिक जगह पर आपको जरूर जाना चाहिए।

3. तीरथगढ़ वाटरफॉल

छत्तीसगढ़ में जगह-जगह पर झरने हैं। कई झरने तो जंगल के इतने अंदर हैं जहाँ सिर्फ स्थानीय लोग ही पहुँच पाते हैं। तीरथगढ़ छत्तीसढ़ का जाना-माना वाटरफॉल है। जिसको देखने के लिए टूरिस्ट आते-रहते हैं। पहाड़ी की ऊँचाई से पानी को नीचे गिरते हुए देखना सबसे शानदार अनुभव होता है। अगर आपने छत्तीसगढ़ का चित्रकूट वाटरफॉल देखा है तो आपको तीरथगढ़ झरने को भी देखना चाहिए। आपको वैसा ही अनुभव यहाँ पर होगा। प्रकृति की ये आवाज आपके लिए सुकून से कम नहीं होगी।

4. सुरंग टीला

छत्तीसगढ़ में घूमने की जगहों के बारे में लोग रायपुर से आगे नहीं बढ़ पाते हैं। यही वजह है कि यहाँ की ज्यादातर जगहें लोगों के लिए अनछुई बनी हुई हैं। ऐसी ही एक जगह है सुरंग टीला। सुरंग टीला एक शिव मंदिर है। जिसमें मंदिर की सबसे ऊँची जगह पर चार अलग-अलग प्रकार के शिवलिंग रखे हुए हैं। ये चारों अलग-अलग रंग के हैं, सफेद, काला, लाल और पीला। सफेद शिवलिंग की पूजा ब्राम्हण करते थे। वहीं लाल क्षत्रिय, पीला वैश्य और काला रंग के शिवलिंग की पूजा शूद्र करते थे। इस मंदिर का आर्किटेक्चर भी देखने लायक है। आपको छत्तीसगढ़ के इस अनोखे मंदिर को देखने जरूर आना चाहिए।

5. कुटुमसर गुफा

छत्ताीसगढ़ का कुछ इलाका पहाड़ और जंगलों वाला है। यहीं पर कांकेर नेशनल पार्क है। कांकेर कुटुमसर केव के लिए भी जाना जाता है। ये गुफा भारत की पहली और दुनिया की सबसे लंबी प्राकृतिक गुफा है। इसके अलावा यहाँ पर कैलाश केव, गडिया पर्वत, सिघनपुर और रामगड़ गुफाएं। रहस्यों और खूबसूरती से भरी ये गुफाएं हैरान कर देने वाले जहाँ में ले जाती हैं। छत्तीसगढ़ आएं तो कुटुमसर गुफा तो जरूर देखें।

6. दलपत सागर लेक

दलपत सागर लेक छत्तीसगढ़ की सबसे खूबसूरत झील में से एक है। छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में स्थित इस झील को लगभग 400 साल पहले बारिश के पानी को बचाने के लिए राजा दलपत देव ककातिया ने बनवाई थी। लेक के बीचों-बीच एक मंदिर है जहाँ तक नाव से ही पहुँच सकते हैं। मंदिर से चारों तरफ का खूबसूरत नजारा दिखाई पड़ता है। यहाँ पर घंटों बैठकर सनसेट का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा यहाँ पर पैडल नाव और मोटर बोट की सुविधा है। टूरिस्ट छुट्टियों में यहाँ आकर अच्छा वक्त बिताते हैं।

क्या आपने छत्तीसगढ़ की इन जगहों की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।

More By This Author

Further Reads