ओडिशा का अनोखा गाँव जहाँ हर घर में एक कलाकार है!

Tripoto
Photo of ओडिशा का अनोखा गाँव जहाँ हर घर में एक कलाकार है! 1/1 by Rupesh Kumar Jha
श्रेयः rohit_k_r  और roopa_hariprasad

पूरी तरह अनजान, अनदेखे, भारत के पूर्वी पहाड़ी इलाके की कई कहानियाँ आज भी कम ही लोगों को पता है। अमूमन ट्रैवेलर फेमस जगहों का दौरा कर लौट आते हैं और ये जगहें सामने नहीं आ पाती। पुरी से केवल 10 कि.मी. की दूरी पर एक ऐसा ही कारीगर गाँव है, जो कि किसी धार्मिक कारण से नहीं बल्कि कला के लिए जाना जाता है।

रघुराजपुर यूँ तो पुरी के निकट में ही है लेकिन कोई अच्छी सूरत में नहीं है और ना ही 4जी कनेक्टिविटी ही है, लेकिन इसके बावजूद, यहाँ के लोग इस गाँव को दुनिया के नक्शे पर लाने में कामयाब रहे हैं। रघुराजपुर को एक प्राचीन कला 'पट्टचित्र' के जन्म स्थान के रूप में जाना जाता है जो कि कपड़े के टुकड़ों पर बेहतरीन रूप से चित्रित किया जाता है। इस दुर्लभ कला को आज भी जीवित रखने के लिए रघुराजपुर के लोग दिन-रात मेहनत करते हैं। मानो या न मानो, रघुराजपुर में हर घर में कम से कम एक कलाकार तो है ही, जो कि इसे भारत का एकमात्र 'ऑल-आर्टिस्ट विलेज' होने का गौरव प्रदान करता है!

रघुराजपुर की यात्रा क्यों करें?

1. रघुराजपुर की सड़कें दिल में बस जाती हैं!

रघुराजपुर एक ऐसा गाँव है जो चित्रकारों को पनाह दिए हुए है, यहाँ एक अद्वितीय समुदाय है जो पारंपरिक रूप से कला और शिल्प को लेकर काम करता है। चित्रकारों को विशेष रूप से कपड़ों पर उनके हस्ताक्षर वाले चित्रों के लिए जाना जाता है, पट्टचित्र (पट्ट का अर्थ कपड़ा, और चित्र का अर्थ तस्वीर) कहा जाता है। रघुराजपुर के लोग अद्वितीय कलाकृतियों को बनाने के लिए अपने कौशल का उपयोग करते हुए प्राचीन कला रूप को संरक्षित करने के लिए बेहद संजीदगी से काम करते हैं। लकड़ी के खिलौने, पत्थर की नक्काशी, लघु चित्रों सहित अधिक कुछ देखना हो तो गाँव की सैर करें और कई रेंज में उपलब्ध प्रोडक्ट्स में से मनपसंद चीजों को चुन लें। कलाप्रेमियों के लिए इससे बड़ी ख़ुशी की बात और क्या हो सकती है!

2. प्रसिद्ध जगन्नाथ मंदिर में पूजा करें!

भगवान जगन्नाथ की नगरी पुरी हिंदू धर्म के चार पवित्र धामों में से एक है। जगन्नाथ जी के दर्शन के लिए यहाँ दुनिया भर से श्रद्धालु आते हैं। समुद्र तट वाले इस शहर में आध्यात्मिक यात्रा का अवसर आपको हमेशा याद रहने वाला हो सकता है। पुरी में भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथयात्रा भी आयोजित की जाती है जो कि अपने आप में बेहद ख़ास होता है। यहाँ जगन्नाथ मंदिर के अलावा गांधी मंदिर, पंच तीर्थ, विमला शक्ति पीठ और साक्षीगोपाल मंदिर सहित कई महत्वपूर्ण धार्मिक स्थान हैं, जहाँ आप आध्यात्मिक माहौल का आनंद ले सकते हैं।

3. वन डे ट्रिप पर चिलिका झील जाएँ!

पुरी से लगभग 100 कि.मी. की दूरी पर स्थित, चिलिका झील घूमने के लिए बेहतरीन जगह है। यहाँ आप दोस्तों और परिवार के साथ एक दिन की यात्रा प्लान कर सकते हैं। चिलिका झील पर जाकर संरक्षित द्वीप नालबन बर्ड सैंक्चुरी में जाकर अपने दिन की शुरुआत करें, जहाँ कई दुर्लभ विदेशी पक्षियों को देख सकते हैं। पक्षियों के साथ कुछ पल बिताने के बाद चिलिका झील के किनारे एक पिकनिक अरेंज करें और दोस्तों के साथ अपनी यात्रा को यादगार बनाएं!

4. सफेद रेत वाले समुद्र तटों पर फुरसत के पल बिताएँ!

बंगाल की खाड़ी से लगे पुरी समुद्र तट के बारे में कम ही सुनने को मिलता है। ये सफ़ेद रेत वाला समुद्र तट है जो कि सुकून के पल बिताने के लिए बेहद पर्फेक्ट है। अगर आपके पास ज़रा सा समय हो तो सभी चीजों को टालकर समुद्र तट का रुख करें। ये एक पूरे दिन का ट्रिप है जहाँ आप सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त और रात की रौशनी में पानी की हिलकोरें देख सकते हैं। सैंड आर्ट को देखने के लिए गोल्डन बीच भी जाएँ और स्थानीय फूड का आनंद लें। इसके साथ ही बालीघई बीच पर ओलिव रिडले कछुओं को देखने की कोशिश करें।

भोजन का आनंद लें

रघुराजपुर एक विशिष्ट ओडिया गाँव है, जहाँ कम लोग ही आते हैं लिहाजा कोई रेस्तरां और कैफे नहीं हैं। लेकिन अगर आप साधारण घरेलू भोजन के शौक़ीन हैं, तो आपको पुरी से प्यार हो जाएगा! मंदिर वाले इस शहर में बहुतायत ढाबा, स्थानीय रेस्तरां मिल जाएँगे। हालांकि पुरी में कई उत्तर भारतीय रेस्तरां भी हैं, मैं आपको सुझाव दूँगा कि आप स्थानीय भोजन का आनंद लें। आप यहाँ ओड़िया और बंगाली स्वाद लेना ना भूलें। पुरी में खाने के लिए कुछ बेहतरीन ठिकाने इस प्रकार हैं:

एक लोकल फेवरिट, डालमा, शहर में सबसे प्रामाणिक ओडिया व्यंजन परोसता है। शाकाहारी थाली का ऑर्डर दें और स्थानीय माचा बेसरा की सेवा लें, मुझे यकीन है कि आप स्वाद के समुद्र में गोते लगाने लगेंगे!

श्रेयः siddhu2020

Photo of Wildgrass Restaurant, Puri, Odisha, India by Rupesh Kumar Jha

प्रसिद्ध वीआईपी रोड पर स्थित, वाइल्डग्रास रेस्तरां बेहतरीन भोजन की व्यवस्था रखे हुए है तो वहीं उसका सेटअप भी जबरदस्त है। अगर आप बंगाली व्यंजनों जैसे ग्रिल्ड पोमफ्रेट और केकड़े की सब्जी चखना चाहते हैं तो ये परफेक्ट जगह है।

साहू ब्रदर्स, जगन्नाथ मंदिर रोड

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस तरह के यात्री हैं, पुरी की सैर बिना चेन्नै पोड़ा या पुरी चीज़केक लिए पूरी नहीं हो सकती। जले हुए चीज़केक को विशाल तंदूरों में पकाया जाता है और आपके लिए ये पूरी तरह नया है। जगन्नाथ रोड के प्रमुख और साहू की मिठाई की दुकान के लिए पूछें कि शहर में सबसे अच्छा छेना पोड़ा कहाँ मिलता है।

कब जाएँ

पुरी ऐसी जगह है जहाँ लगभग सालभर एक जैसा मौसम रहता है और मध्यम तापमान रहता है। अप्रैल-जून की अवधि एकमात्र ऐसा समय होता है जब मौसम थोड़ा गर्म हो जाता है। हालांकि, गर्मी से बचने के लिए भी आप पुरी जाने का प्लान बना सकते हैं।

कैसे जँएं

जानिए कि आप नई दिल्ली से रघुराजपुर कैसे पहुँच सकते हैं:

हवाईजहाज से

रघुराजपुर का निकटतम एयरपोर्ट भुवनेश्वर के बीजू पटनायक एयरपोर्ट से दिल्ली को जोड़ने वाली दैनिक सीधी उड़ानें हैं। वहाँ से एक घंटे (45 कि.मी.) में इस अद्वितीय गाँव तक पहुँचने के लिए एक निजी टैक्सी किराए पर लें। अपनी उड़ान की टिकट पहले से ही बुक कर लें और आपको रिटर्न फ्लाइट मात्र ₹6,000 में मिल सकते हैं।

ट्रेन से

यदि आप कम बजट के विकल्प की तलाश कर रहे हैं, तो नई दिल्ली से पुरी तक के लिए ट्रेन पकड़ें, इस यात्रा में लगभग 30-35 घंटे लगेंगे। पुरी रेलवे स्टेशन से, चंदनपुर की ओर जाने वाली एक स्थानीय बस में सवार हो सकते हैं और मुख्य बस स्टॉप पर उतर सकते हैं। यहाँ से किसी से पूछकर 3 कि.मी. पैदल दूरी पर रघुराजपुर पहुँच सकते हैं। वहीं आप रेलवे स्टेशन से आधे दिन (₹500-700) के लिए एक ऑटो भी किराए पर ले सकते हैं।

पैदल ही गाँव घूमें

रघुराजपुर पहुँचकर गाँव का भ्रमण करें। सबसे बेहतर होगा कि पैदल एक घर से दूसरे घर तक पहुँचें, बेहतरीन कलाकृतियों को निहारें और मैत्रीपूर्ण स्थानीय लोगों के साथ बातचीत करें। वहीं अगर आप पुरी में घूम रहे हैं, तो साइकिल रिक्शा और ऑटो आपके गो-टू विकल्प होंगे। किराए को लेकर आप मोलभाव के लिए भी तैयार रहें ताकि अधिक खर्च न आए!

कहाँ ठहरें

रघुराजपुर में कोई होम स्टे या होटल नहीं हैं। दूसरी ओर, पुरी में सभी प्रकार के बजट में यात्रियों के लिए ठहरने के अच्छे विकल्प हैं। यहाँ हमारे पिक्स हैं:

Photo of गोरूम्गो जगन्नाथ लॉज पुरी, Puri, Odisha, India by Rupesh Kumar Jha

दो लोगों के लिए ठहरने का किराया ₹950 प्रति रात से शुरू होता है, जिसमें भोजन शामिल नहीं है।

Photo of प्राइड अनन्य रिसॉर्ट, VIP Road, Puri, Odisha, India by Rupesh Kumar Jha

दो लोगों के लिए एक रात का ₹3,000 प्रति रात से शुरू होता है, जिसमें ब्रेकफास्ट शामिल है।

Photo of मेफेयर वावेस, पुरी, Chakra Tirtha Road, Puri, Odisha, India by Rupesh Kumar Jha

मेफेयर वेव्स पर एक प्रीमियम कमरा ₹11,000  प्रति रात से शुरू होता है। ये कीमत दो लोगों के रहने और बेहतरीन कॉन्टिनेंटल ब्रेकफास्ट के लिए अदा करनी होती है।

क्या आपने कभी ज़ायकेदार खाने के लिए अकेले यात्रा की है? Tripoto समुदाय के साथ अपनी रोमांचक यात्रा की कहानियों को साझा करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

मज़ेदार ट्रैवल वीडियोज़ को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

Be the first one to comment