दक्षिण भारत की दस झीलें जिनका सौंदर्य आपको मंत्रमुग्ध कर देगा

Tripoto
Photo of दक्षिण भारत की दस झीलें जिनका सौंदर्य आपको मंत्रमुग्ध कर देगा by Musafir Rishabh

अब समय आ गया है कि आप अपने कफर्ट जोन से बाहर निकलकर इस जहाँ को नापना शुरू कर दें। बंद कमरों में देखने वाले सपनों को पूरा करने का वक्त आ गया है। आप मन ही मन घूमने की हसररत पाले और अब भी बाहर निकलने से कतरा रहे हैं तो मेरे दोस्त आप घूम नहीं पाएंगे। जो सोचते हैं कि समय आएगा तो घूम लेंगे तो वो समय कभी नहीं आता है। ये दुनिया इतनी बड़ी है कि जितने जल्दी घूमना शुरू कर दो, आपके लिए उतना ही अच्छा है। अगर आप घूमने निकल रहे हैं और दुनिया के सबसे खूबसूरत नजारों से रूबरू होना चाहते हैं तो दक्षिण भारत का रूख कीजिए। साऊथ इंडिया खूबसूरती से भरा पड़ा है। इसी खूबसूरती में चार चांद लगाती हैं यहाँ की झीलें। हम आपको दक्षिण भारत की कुछ झीलों के बारे में बता देते हैं जिससे आपके साउथ इंडिया का सफर खूबसूरत होने में कोई कसर न छूटे।

1- ऊटी लेक

दक्षिण भारत घूमने की चाहत रहने वाले हर व्यक्ति की बकेट लिस्ट में ऊटी जरूर होता है और हो भी क्यों न? इतनी खूबसूरत जगह पर कौन नहीं आना चाहेगा? इसी खूबसूरत हिल स्टेशन पर फेमस ऊटी लेक है। झील बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन के पास में है। लगभग 3 किमी. लंबी ऊटी लेक इंग्लिश के एल शब्द के आकार की है। ये झील आर्टिफिशियल है और इसे ऊटी को बसाने वाले जॉन सुल्लिवन ने बनवाई थी। पहाड़ों और हरे-भरे पेड़ों से घिरी झीन ऊटी की खूबसूरती को बढ़ाने का काम करती है। आप इस झील में बोट की सवारी कर सकते हैं। शाम के समय ये झील और भी सुंदर लगने लगती है। ऊटी आएं तो इस लेक के पास कुछ वक्त जरूर बिताएं।

2- वेम्बनाड झील

केरल भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। इस खूबसूरत राज्य में लोग अपने हनीमून पर जाते हैं लेकिन असल में ये जगह भटकने लायक है। इस केरल में वेम्बनाड लेक है। ये झील भारत की सबसे लंबी लेक तो है ही, इसके अलावा देश भर की सबसे बड़ी झीलों में से एक है। ये झील कुमाराकोम से सिर्फ 34 किमी. की दूरी पर है। आप यहाँ अपने दोस्तों और फैमिली के साथ आ सकते हैं। अगर आप केरल के सफर को यादगार बनाना चाहते हैं तो वेम्बनाड झील के नजारे को देखना न भूलें।

3- मालम्पुजह लेक

केरल में बेहद खूबसूरत झीलें हैं। उन्हीं में से एक है, मालम्पुजह झील। केरल के पलक्कड़ में स्थित ये झील हर घुमक्कड़ की लिस्ट में होना चाहिए। इस झील का सौदर्य आपका मन मोह लेगा। लेक में आप बोट की राइड कर सकते हैं। इसके अलावा रोपवे से झील का नजारा देख सकते हैं। मानसून के समय ये लेक और भी खूबसूरत हो जाती है। आपको दूर-दूर तक सिर्फ पानी ही पानी नजर आएगा। लेक को देखने के अलावा आप यहाँ मालम्पुजह गार्डन में टहल सकते हैं। केरल इतना खूबसूरत है ये आप यहाँ की झीलों को देखकर अंदाजा लगा सकते हैं।

4- बेरिजम लेक

अगर आप दक्षिण भारत में ऐसी झील देखना चाहते हैं जहाँ शांति हो। शांति और सुकून के लिए आपको तमिलनाडु की बेरिजम लेक जाना चाहिए। यहाँ आपको टूरिस्ट की चहल-पहल कम और प्रकृति की शांति को सुन पाएंगे। ऐसी जगह शांत जगहें कम ही होती हैं लेकिन आपको साउथ इंडिया ये मौका देता है। झील के चारों तरफ हरे-भरे पेड़ हैं जो इसे और भी मनमोहक बनाते हैं। अगर आप प्रकृति प्रेमी हैं तो आप यहाँ घंटो बैठ सकते हैं।

5- करांजी झील

कर्नाटक के मैसूर की ये झील प्रकृति प्रेमियों की फेवरेट जगह है। करांजी झील मैसूर जू में स्थित है। करांजी झील को करांजीकेरे लेक भी कहते हैं। ये 5 दर्जन से ज्यादा पंक्षियों की प्रजातियों का घर है। जू में सबसे खूबसूरत जगह इसे ही कहा जा सकता है। बारिश के समय झील में पानी ज्यादा रहते हैं। आप इस लेक में बोटिंग भी कर सकते हैं। अगर आप कर्नाटक में हैं जो करांजी लेक के लिए मैसूर जू जा सकते हैं।

6- हुसैन सागर

अगर आप घुमक्कड़ टाइप के हैं तो हुसैन सागर के बारे में जरूर पता होगा। हुसैन सागर एशिया की सबसे बड़ी आर्टिफिशियल लेक है। हुसैन सागर हैदराबाद शहर के बीचों-बीच स्थित है। इसे 16वीं शताब्दी में इब्राहिम कुली कुतुब शाह ने बनवाया था। ये झील देश की पुरानी झीलों में से एक है। शाम को यहाँ का नजारा बेहद खूबसूरत होता है। भीड़ वाले शहर में ये कोना सुकून तो नहीं लेकिन खुशी जरूर देता है। हैदराबाद घूमने जाएं तो हुसैन सागर को भी देख लेना चाहिए।

7- उल्सूर लेक

उल्सूर लेकर बैंगलोर शहर की सबसे बड़ी और बेहद शानदार झील है। उल्सूर लेक के चारों तरफ जंगल है जो इसे और भी खूबसूरत बनाता है। 123 एकड़ में फैली ये झील शहर की सबसे शांत जगहों में से है। लोग छुट्टी के दिन यहाँ पर कुछ घंटे बिताते हैं। आपको यहाँ पर कई टूरिस्ट भी मिल जाएंगे। बाकी जगहों की तरह उल्सूर लेक में भी बोटिंग होती है। यहाँ से डूबते सूरज का नजारा आपका दिल जीत लेगा। ऐसे ही खूबसूरत नजारों के लिए उल्सूर झील की सैर कर लेनी चाहिए।

8- कोडाइकनाल लेक

तमिलनाडु की एक और खूबसूरत जगह है, कोडाइकनाल। इस जगह के बिना साऊथ इंडिया की घुमक्कड़ी अधूरी है। इसी हिल स्टेशन पर कोडाइकनाल लेक भी है। समुद्र तल से 2,285 मीटर की ऊँचाई पर स्थित ये झील कोडाइकनाल की खूबसूरती का छोटा-सा भाग है। इस झील को 1863 में बनवाया गया था। आज भी ये झील अपने रंग में ढली हुई है। 5 किमी. लंबी इस झील में बोटिंग भी होती है। कोडाइकनाल जाएं तो झील को देखना क्यों भूला जाए?

9- परांबिकुलम झील

केरल के पलक्कड़ में साउथ इंडिया की एक और खूबसूरत झील है, परांबिकुलम लेक। ये झील परांबिकुलम टाइगर रिजर्व में आती है। इस झील को पानी शीशे की तरफ साफ रहता है। जिसमें आप खुद को साफ-साफ देख सकते हैं। परांबिकुलम लेक की खूबसूरती को एक्सप्लोर करने के लिए आप इसमें बंबू राफ्टिंग कर सकते हैं। इस लेक तक पहुँचने के लिए आप जंगली जीप हायर कर सकते हैं। केरल जाएं तो इस खूबसूरत लेक को एक बार जरूर देखें।

10- दुर्गम चेरूवु झील

दक्षिण भारत के आंध्र प्रदेश में बहुत से लोग घूमने जाते हैं लेकिन इस झील को कम लोग ही देखने जाते हैं। वजह है कि इसके बारे में कम ही लोगों को पता है। शायद यही वजह है कि इसे सीक्रेट लेक कहते हैं। ये झील चट्टानों से छिपी हुई इसलिए भी इस लेक को सीक्रेट झील कहते हैं। इस लेक के पास में आप कैपिंग कर सकते हैं। दुर्गम चेरूवु झील में बोटिंग और स्कूटर राइडिंग भी कर सकते हैं।

क्या आपने साउथ इंडिया में किसी जगह की यात्रा की है? अपने अनुभव को हमारे साथ शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।