500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित

Tripoto
18th May 2023
Photo of 500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित by Priya Yadav

भारत का हर राज्य अपनी अपनी प्राकृतिक खजानों का भंडार है। यहां की प्राकृतिक सुंदरता ही है जो इसे सबसे अलग बनाती हैं।ऐसा ही एक खूबसूरत राज्य महाराष्ट्र है जहां आपको बहुत से ऐसे खूबसूरत जगह देखने को मिलेंगे जिसे देखकर आप आपको अपनी आंखों पर यकीन नहीं होगा। ऐसा ही एक प्राकृतिक नजारा महाराष्ट्र राज्य के पश्चिमी घाट में स्थित एक खूबसूरत गांव भंडारदरा में स्थित अंब्रेला फॉल्स है जिसकी प्राकृतिक सुंदरता आपको चौंका देगी।यह एक शानदार झरना है और लगभग 500 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरता है। यह किसी छतरी जैसा दिखता है।इसी कारण इसका नाम अंब्रेला फॉल्स पड़ा।अंब्रेला फॉल्स एक घने जंगल के बीच में स्थित है जो कि कई प्रकार के जीव-जंतुओं से घिरा हुआ है।

Photo of 500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित by Priya Yadav

बारिश के मौसम के दौरान, सुंदर और हरी सहयाद्रियों के बीच 500 फीट से गिरता झरने सबसे अच्छे दिखाई देते हैं, खासकर फुटब्रिज से जो झरने और बांध को का जो नजारा देखने को मिलता है वो आपके मन को मोह लेने वाला होगा।आपको ऐसा लगेगा की आप किसी परी लोक में पहुंच गए है।इसके अलावा यह जल निकाय दर्शनीय स्थल होने के अलावा बिजली उत्पन्न करने के लिए जलविद्युत ऊर्जा जनरेटर के रूप में कार्यरत है।

अम्ब्रेला फॉल्स

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के भंडारदरा बांध में स्थित अम्ब्रेला जलप्रपात एक आश्चर्यजनक मौसमी जलप्रपात है।भंडारदारा से इस खूबसूरत जलप्रपात तक पहुंचने के लिए आपको एक छोटा सा ट्रैक करना पड़ेगा जो लगभग 2-3 किमी है।यह ट्रैक बहुत ज्यादा मुश्किल नहीं है इसलिए इसे हर उम्र का व्यक्ति आसानी से कर सकता है।यह ट्रेक हरे भरे जंगल से होकर गुजरता है जो काफी जाया रोमांचक लगता हैं । झरने का स्रोत प्रवरा नदी है। यह झाड़-फूंक का मौसम जून से सितंबर तक अपने चरम पर होता है।अगर आपको इस वॉटर फॉल की असली खूबसूरती देखनी है तो आपको इसके लिए बारिश के मौसम में आना चाहिए जब चारो तरफ़ हरियाली और पानी की धारा का वेग तेज होता है तब यह और भी ज्यादा खूबसूरत लगता हैं।झरना लगभग 500 फीट की ऊंचाई से नीचे गिरता है, जिससे पूरे क्षेत्र में धुंध का वातावरण बन जाता है। झरने की आवाज को लेकर अटकलें लगाई जाती हैं और शहर के जीवन की हलचल से कुछ देर से सुकुन पाने के लिए पर प्रभाव पड़ता है।

Photo of 500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित by Priya Yadav
Photo of 500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित by Priya Yadav

अम्ब्रेला फॉल्स के आस पास के आकर्षण

1. विल्सन डैम

अंब्रेला फॉल्स के पास स्थित विल्सन बांध यहां के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में गिना जाता हैं। यह बांध समुद्र तल से 750 मीटर की ऊंचाई पर है ।विल्सन बांध महाद्वीप के सबसे पुराने बांधों में से एक है, इसलिए यहां पर्यटक ज्यादा आना पसंद करते हैं। यह बांध स्थल एक शानदार पिकनिट स्पॉर्ट भी है। आरामदायक अनुभव के लिए आप यहां का प्लान बना सकते हैं।

2.माउंट कलसुबाई

माउंट कलसुबाई को सह्याद्री पहाड़ी श्रृंखला का सबसे ऊंची पर्वत चोटी माना जाता है। 1646 मीटर की ऊंचाई वाली से इस चोटी का इस्तेमाल मराठा साम्राज्य द्वारा दुश्मनों पर नजर रखने के लिए किया जाता था। यह पहाड़ी चोटी सबसे मशहूर ट्रेकिंग स्थलों में से एक है और आसपास के विभिन्न किलों के अद्भुत दृश्य पेश करती है।यहां स्थित कलसुबाई मंदिर में मेले का आयोजन भी किया जाता है, जिसमें शामिल होने के लिए दूर-दराज के सैलानी आते हैं। अगर आप एडवेंचर का शौक रखते हैं तो यहां का एक बार अनुभव जरूर लें।

3.आर्थर झील

आर्थर झील यहां के मुख्य पर्यटन स्थलों में गिनी जाती है, जो आर्थर पर्वत की झील के नाम से से भी प्रसिद्ध है। यह जलाशय प्रवरा नदी से बना है। यहां का आसपास का इलाका रमणीय दृश्यों से भरा है, पौराणिक किवदंतियों के अनुसार यह स्थल 'अगस्त्य ऋषि' का कुछ दिनों के लिए निवास स्थान बना था।यह झील 34 किमी लंबी है और इसमें कई नदिका(छोटी धाराएं) भी शामिल हैं। इस झील में आप नौकायन का आनंद भी उठा सकते हैं। पारिवारिक भ्रमण के लिए यह एक खास स्थल है।

4.रंधा झरना

विल्सन बांध से करीब 10 किमी दूर इगतपुरी क्षेत्र में स्थित राधा जलप्रपात की सैर का आनंद उठा सकते हैं। इस फॉल की सैर गर्मी के राहत पाने के लिए एक आदर्श विकल्प है। यह जलप्रपात 45 मीटर ऊंचाई पर स्थित है और जो भारत का तीसरा सबसे बड़ा झरना भी माना जाता है। आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ एक क्वालिटी टाइम यहां बिता सकते हैं।इस जलप्रपात के सहारे प्रवरा नदी यहां 170 फीट की ऊंचाई से गिरती है। थोड़ा रिफ्रेशिंग अनुभव के लिए आप यहां का प्लान बना सकते हैं।

ट्रेकिंग एसेंशियल

आरामदायक जूते, पानी की बोतल, स्नैक्स, सनस्क्रीन और प्राथमिक चिकित्सा किट जैसी ट्रेकिंग आवश्यक चीजें ले जाना आवश्यक ह।मानसून के दौरान, रेन गियर ले जाने की सिफारिश की जाती है, क्योंकि पगडंडी फिसलन भरी और कीचड़ भरी हो सकती है।

अम्ब्रेला फॉल्स घूमने का सबसे अच्छा समय

भंडारदरा मानसून में एक स्वर्ग जैसा लगता है और जून से सितंबर तक पूरे शबाब पर रहता है।बरसात के मौसम में प्राकृतिक सुंदरता में चार चांद लग जाते है। उस समय यहां तापमान 20 और 30 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है। इस स्थान की यात्रा सुबह जल्दी करना बेहतर होता है, जब सूरज की रोशनी पास के जंगलों से होकर बहती है, जो आपकी आत्मा को पुनर्जीवित करती है। झरनों का उपयोग पक्षी अवलोकन और अन्य लंबी पैदल यात्रा एक्टिवीटी के आधार के रूप में भी किया जा सकता है।

Photo of 500 फीट की ऊँचाई से गिरता है ये छाता नुमा झरना, खूबसूरती देख हो जाएँगे अचंभित by Priya Yadav

कैसे पहुंचे

अंब्रेला फॉल्स पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले भंडारदरा पहुंचना होगा जोकि सड़क मार्ग से मुंबई, पुणे और नासिक जैसे प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है. कोई बस ले सकता है, टैक्सी किराए पर ले सकता है या इन शहरों से भंडारदरा तक ड्राइव कर सकता है।यहां से आप ट्रेक करके इस झरने तक पहुंच सकते हैं।

पढ़ने के लिए धन्यवाद कैसा लगा आपको यह आर्टिकल हमे कमेंट करके जरूर बताएं।

क्या आपने हाल में कोई की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

More By This Author

Further Reads