Garadia Mahadev, Kota

Tripoto
6th Feb 2021
Day 1

#गरड़िया महादेव मंदिर : कोटा, राजस्थान में NH-76 पर चित्तौड़गढ़/दबी की ओर चलने पर कोटा का मशहूर हैंगिंग ब्रिज पार करते ही कुछ दूरी पर  #चंबल नदी के किनारे स्थित भगवान शिव का यह प्रसिद्ध मंदिर है।

यदि आप शानदार और आह्लादित करने वाले नजारों के साथ साथ #एकांत की शांति का आनंद लेना चाहते हैं, तो यह स्थान आपके लिए है। यहां आप चंबल नदी, घाटी और इसके मैदान के सबसे सुंदर और मनोरम दृश्यों को देख सकते हैं।

मुख्य रोड से उतरते ही कुछ दूरी पर एक वन विभाग की चेक पोस्ट मिलती है जहां जाकर आपको एंट्री करनी होती है। कैमेरा और गाड़ी से जाने के लिए अलग से फीस जमा करानी होती है और आप अंदर जाने के लिए तैयार हैं। कुछ दूर चलने पर आपको यकायक एक बहुत विशाल घाटी दिखाई देती है और साथ ही चंबल नदी के जल से टकराकर ऊपर उठने वाली हवा और पानी की गंध आपको कुदरत की असली खूबसूरती और मंत्रमुग्ध कर देने वाला एक नज़ारा दिखा रही होती है। अब आपको एहसास होने लगता है कि यहां आना सफल रहा।

शिव_मंदिर तक जाने के लिए कुछ सीढ़ियां उतर कर पहुंचा जा सकता है जहाँ आप भगवान शिव को श्रद्धा सुमन अर्पित कर सकते हैं।  ये मंदिर चंबल की घाटी की दीवार पर स्थित है और यहां पानी का एक छोटा झरना है। इस जगह से आपको चंबल का एक विहंगम दृश्य देखने को मिलता है।

यह स्थान समुद्र तल से 500 मीटर की ऊंचाई पर है। अन्य नियमित पर्यटन स्थल से अलग और दूर है, लेकिन यहां आने के बाद जो दृश्य आप देखेंगे वो आपको यादगार रहेगा पूरे जीवन भर।  अधिकांश लोग यहां पहुंचने के बाद सुंदरता और प्रकृति की इस अद्भुत बनावट को देखकर दंग और मंत्रमुग्ध रह जाते हैं। इस स्थान के एकांत और अतुलनीय प्राकृतिक सौंदर्य के लिए धन्यवाद !!

प्रकृति प्रेमी यहां घंटों बैठ सकते हैं, इसकी शांति और प्राचीन सुंदरता को आराम से बैठकर निहार सकते हैं।  आज भी उभरते कवि, लेखक और कलाकार नीले पानी और आसपास के नीचे घने जंगल से प्रेरित होने पर भरोसा कर सकते हैं और यहां आकर अपने रचनाओं के लिए प्रेरणा रूपी ईंधन पा सकते हैं। 

यदि शांति, आशीर्वाद, प्रकृति की भव्यता और एकांत है जिसे आप प्रकृति में खोज रहे हैं, तो आपको इससे बेहतर स्थान नहीं मिलेगा।

अन्य आवश्यक जानकारी -

अपने साथ खाना और पानी लेकर जाएं क्यूंकि इस स्थल पर इसकी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है, यहां तक कि टॉयलेट भी नहीं है इसलिए तैयारी करना बेहतर रहेगा।

यह स्थान मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व के अंदर आता है, जहां आप  जवाहर सागर  भी देख सकते हैं।

कोटा से 20 किमी और (चित्तौड़गढ़ से 175 किमी) की दूरी पर खड़ी नाम की जगह आपको एक साइन बोर्ड दिखेगा जिससे आप यहां का रास्ता नहीं भूलेंगे।

2016 में राजस्थान सरकार द्वारा राजस्थान टूरिज्म के एड में भी इस जगह को प्रमुखता से दिखाया गया लाखों करोड़ों खर्च किए गए पर यहां आने के बाद आप निराश होते हैं क्यूंकि इस जगह पर बेसिक फैसिलिटीज भी उपलब्ध नहीं है। और तो और अगर आपको थोड़ा बहुत भी मालूम हो तो भी शहर के अंदर ही लोग अपनको इसे ठीक बता नहीं पाएंगे इस लिए मैप पहले देख लें।

*जवाहर सागर नाका, #मुकुंदरा_हिल्स_टाइगर_रिज़र्व, यहां टिकट एंट्री प्वाइंट है।

नजदीकि एयरपोर्ट - कोटा / उदयपुर
नजदीकि बस स्टेशन -  कोटा

Mukundara Hills Tiger Reserve

Photo of Garadia Mahadev Temple by RoamingMayank

CHAMBAL

Photo of Garadia Mahadev Temple by RoamingMayank

Garadia Mahadev

Photo of Garadia Mahadev Temple by RoamingMayank