इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप

Tripoto
Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप 1/1 by लफंगा परिंदा

ये तो सभी जानते हैं कि पूरी दुनिया में फैल चुकी बौद्ध धर्म की जड़ें भारत में जमी हैं | बोध गया, जहाँ भगवान बौद्ध को तत्व ग्यान प्राप्त हुआ, से लेकर उन जगहों तक जहाँ घूमकर बुद्ध और उनके शिष्यों ने अपना ग्यान फैलाया, आपको हर जगह बुद्ध और उनकी शिक्षाओं को समर्पित एक ना एक शानदार बौद्ध स्तूप तो ज़रूर मिलेगा | यही वजह है कि हर साल दुनिया के सुदूर कोनों से सैलानी भारत में उन जगहों को देखने आते हैं जहाँ बौद्ध धर्म को बढ़ावा मिला था | ये स्तूप विश्व शांति और प्यार के प्रतीक हैं |

अगर आप भी शांति की खोज में या इतिहास में रूचि रखते हैं तो इन बेहद खूबसूरत और नायाब स्तूपों को देखे भी ना रह जाए, ये थोड़ा मुश्किल हैं।

Photo of विश्व शांति स्तूप, Shanti Stupa Road, Rajgir, Bihar, India by लफंगा परिंदा

आत्मज्ञान की प्राप्ति के बाद भगवान बुद्ध ने कई साल तक राजगीर के पर्वत पर बैठ कर ध्यान किया था | आज इसी पर्वत पर एक खूबसूरत स्तूप बना है और इसके पास ही एक भव्य जापानी मंदिर बना हुआ है | चेयर कार में 20 मिनट की रोमांचक यात्रा के बाद ही इस स्तूप तक पहुँचा जा सकता है |

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

यात्रा के टिप्स : बोध गया से नेपाल तक फैले बौद्ध स्थलों में राजगीर भी आता है | अगर आपके पास समय की कमी है तो आप एक साथ सारनाथ, बोधगया, राजगीर और नालंदा भी घूम सकते हैं |

ठहरें : राजगीर में हर बजट के यात्री के लिए ठहराने की व्यवस्था है | सरकारी गेस्ट हाउस से लेकर लग्ज़री रिज़ॉर्ट मौजूद हैं |

Photo of सारनाथ, Varanasi, Uttar Pradesh, India by लफंगा परिंदा

वाराणसी से 13 कि.मी. दूर, सारनाथ में बौद्ध धर्म के सबसे पुराने प्रतीकों में से एक धमेक स्तूप स्थित है | इसे सम्राट अशोक ने बनवाया था | इसका काफ़ी भाग नेस्तनाबूद हो चुका है, मगर इसकी ऊँचाई और चौड़ाई देख कर आप आज भी दंग रह जाएँगे |

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

यात्रा के टिप्स : वाराणसी होते हुए भी सारनाथ जा सकते हैं | इससे आप इन दोनों जगहों की सभ्यता को एक बार में ही समझ सकते हैं |

ठहरें : वाराणसी में सस्ते होटल, होस्टल, गेस्ट हाउस, और एयर बीएनबी भरे हुए हैं | आप अपनी यात्रा के बजट के हिसाब से कहीं भी ठहर सकते हैं, मगर एक बार रिव्यू ज़रूर जाँच लें क्यूंकी होटल के नामों को लेकर काफ़ी धाँधली चलती है |

लेह लद्दाख टूर पैकेज

शांति स्तूप, लेह

श्रेय: अरुण साहा

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

इस शांति स्तूप को कई लोग सबसे शानदार बौद्ध संरचना भी मानते हैं | लेह जैसे खूबसूरत शहर में स्थित इस स्तूप से लेह और आस-पास के गाँवों का ज़बरदस्त नज़ारा मिलता है | शांति स्तूप से सूर्योदय और सूर्यास्त का नज़ारा देखना ना भूलें |

यात्रा के टिप्स : वैसे तो लेह जाते समय आप शांति स्तूप देख सकते हैं लेकिन चाहें तो अपनी गाड़ी छोड़कर 600 सीढ़ियाँ चढ़कर स्तूप तक जा सकते हैं |

ठहरे: लेह में आपको अपनी ज़रूरत और बजट के हिसाब से ठहरने की जगह मिल जाएगी |

श्रेय: नैचुरल हॉलिडेज़ इंडिया

Photo of साँची स्तूप - विश्व धरोहर स्थल, Sanchi, Madhya Pradesh, India by लफंगा परिंदा

सांची का स्तूप भारत की सबसे अच्छी तरह संरक्षित बौद्ध संरचनाओं में से एक है | भोपाल से 40 कि.मी. दूर स्थित सांची स्तूप का निर्माण सम्राट अशोक ने भगवान बुद्ध के अवशेषों पर करवाया था |

श्रेय: महेश बसेढ़िया

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

यात्रा के टिप्स : भोपाल को केंद्र मानकर चलेंगे तो भोपाल के पुराने शहर, भीम बेतका की गुफ़ाएँ, और मांडू भी घूम सकेंगे |

ठहरें : भोपाल में आपको बजट से लेकर लग्ज़री होटल तक सबकुछ मिलेगा | अगर अपनी छुट्टियों में शाही तड़का लगाना चाहते हैं तो जहाँनुमा पैलेस ज़रूर जाएँ |

Photo of दो द्रुल चोर्तेन मोनास्ट्री, M.P.Golai, Tadong, Gangtok, Sikkim, India by लफंगा परिंदा

यह भीमकाय बौद्ध परिसर तिब्बत के अनुसंधान संस्थान के पास स्थित है। यह सुंदर संरचना उत्तर- पूर्व भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप है।

श्रेय: एडुवार्डो एरुस्तगी

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

यात्रा के टिप्स : गंगटोक में घूमते हुए आप इस स्तूप को देख सकते हैं |

ठहरें : गंगटोक में सस्ते होटल, होस्टल और एयर बीएनबी मिल जाएँगे | चाहें तो भीड़- भाड़ भरे गंगटोक से दूर पैराग्लाइडिंग विलेज में खूबसूरत नज़ारों में अपनी छुट्टियाँ मना सकते हैं

महा स्तूप, थोटलाकोंडा

श्रेय: ऐंबी

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

विशाखापट्टनम शहर से सिर्फ 15 कि.मी. दूर पर्वत की छोटी पर स्थित इस स्तूप से समंदर का नज़ारा दिखता हैं| ये स्तूप ईंटों से बना प्राचीन शिल्पकारी का नमूना है | आज यहाँ बौद्ध भिक्षु शांति में समय व्यतीत करने और ध्यान करने आते हैं

यात्रा के टिप्स : इस स्मारक के साथ ही नीच दिए गये विशाखापट्टनम के अन्य बौद्ध स्मारक भी घूम लें |

बाविकोंडा स्तूप, विशाखापट्नम

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

विशाखापट्टनम में आज भी कई प्राचीन स्तूप हैं जो अपनी खूबसूरती के कारण शिल्पकारी का ज़बरदस्त उदाहरण समझे जाते हैं | महा स्तूप की तरह बाविकोंडा भी एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। एएसआई ने यहाँ से खुदाई में कई प्राचीन बौद्ध अवशेष जैसे मिट्टी के बर्तन, सिक्के और मूर्तियाँ निकाली हैं | यूनेस्को ने बाविकोंडा, थोटलाकोंडा, पावुरलाकोंडा और बोजनाकोंडा को विश्व धरोहरों की सूची में जगह दी है |

ठहरें : विशाखापट्टनम में आपको बजट से लेकर लग्ज़री होटल तक सबकुछ मिल जाएगा |

Photo of धौली, Odisha, India by लफंगा परिंदा

धौलिगिरी या धौली से ही दुनिया के अन्य कोनों में बौद्ध धर्म का प्रकाश फैला | मौर्य और कलिंग सेनाओं के बीच हुए नरसंहार ने सम्राट अशोक को काफी प्रभावित किया और उन्होंने हिंसा त्याग दी | धौली स्तूप युद्धस्थल के सामने ही बना है जिसके आगे धौली नदी बहती है | कहते हैं कि भीषण नरसंहार के कारण नदी का पानी खून में मिलकर लाल हो गया था |

श्रेय: रनदीपम बासू

Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप by लफंगा परिंदा

यात्रा की योजना : उड़ीसा की यात्रा करते हुए अगर अपनी योजना में धौली को भी शामिल करते हैं तो साथ ही पुरी, कोणार्क और भुवनेश्वर भी घूम लेंगे |

ठहरें : चाहें तो पुरी में ठहर सकते हैं या दिन में भुबनेश्वर घूमते हुए धौली जा सकते हैं | चाहें तो भुबनेश्वर में ठहरकर आस-पास के मंदिरों और अन्य अहम पर्यटन स्थल देख सकते हैं |

बिहार में स्थित इस स्तूप को बहुत कम लोग जानते हैं, मगर ये दुनिया का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप है | वैशाली या बौध गया जाने वाले सैलानी इस स्तूप को इसकी खस्ता हालत में भी देखने आते हैं |

ठहरें : आपको बोध गया या पटना ही रुकना चाहिए क्योंकि यहाँ रुकने की अच्छी सुविधा नहीं है |

इनके अलावा भी आप कई ऐसे बौद्ध स्तूप देखने जा सकते हैं जो बौद्ध इतिहास के पन्नों में अमर हो गए हैं | वैशाली का वर्ल्ड पीस पगोड़ा, दार्जिलिंग का शांति स्तूप, कुशीनगर का रामभर स्तूप, धर्मशाला का नाम्ग्याल स्तूप, देहरादून का क्लेमेंट टाउन स्तूप और अमरावती स्तूप कुछ ख़ास जगहें हैं |

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment
Related to this article
Weekend Getaways from Rajgir,Places to Visit in Rajgir,Places to Stay in Rajgir,Things to Do in Rajgir,Rajgir Travel Guide,Weekend Getaways from Nalanda,Places to Visit in Nalanda,Places to Stay in Nalanda,Things to Do in Nalanda,Nalanda Travel Guide,Weekend Getaways from Bihar,Places to Visit in Bihar,Places to Stay in Bihar,Things to Do in Bihar,Bihar Travel Guide,Things to Do in India,Places to Stay in India,Places to Visit in India,India Travel Guide,Weekend Getaways from Varanasi,Places to Visit in Varanasi,Places to Stay in Varanasi,Things to Do in Varanasi,Varanasi Travel Guide,Places to Visit in Uttar pradesh,Places to Stay in Uttar pradesh,Things to Do in Uttar pradesh,Uttar pradesh Travel Guide,Weekend Getaways from Sanchi,Places to Visit in Sanchi,Places to Stay in Sanchi,Things to Do in Sanchi,Sanchi Travel Guide,Places to Visit in Madhya pradesh,Places to Stay in Madhya pradesh,Things to Do in Madhya pradesh,Madhya pradesh Travel Guide,Weekend Getaways from Gangtok,Places to Visit in Gangtok,Places to Stay in Gangtok,Things to Do in Gangtok,Gangtok Travel Guide,Weekend Getaways from East sikkim,Places to Stay in East sikkim,Places to Visit in East sikkim,Things to Do in East sikkim,East sikkim Travel Guide,Places to Visit in Sikkim,Things to Do in Sikkim,Places to Stay in Sikkim,Sikkim Travel Guide,Weekend Getaways from Dhauli,Places to Visit in Dhauli,Things to Do in Dhauli,Places to Stay in Dhauli,Dhauli Travel Guide,Weekend Getaways from Khordha,Places to Visit in Khordha,Places to Stay in Khordha,Things to Do in Khordha,Khordha Travel Guide,Weekend Getaways from Odisha,Places to Stay in Odisha,Places to Visit in Odisha,Things to Do in Odisha,Odisha Travel Guide,