अब भारतीयों को नहीं (No Inner Line Permit) लेना पड़ेगा लद्दाख घूमने के लिए इनर लाइन परमिट

Tripoto
10th Aug 2021
Day 1

Road to Hunder via Diskit

Photo of अब भारतीयों को नहीं (No Inner Line Permit) लेना पड़ेगा लद्दाख घूमने के लिए इनर लाइन परमिट by RoamingMayank

लद्दाख / Ladakh

जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) को हटाए जाने के दो साल पूरे होने पर देश में इसकी खुशी को जोर शोर से मनाया जा रहा है। इस उपलक्ष्य में लद्दाख (Ladakh) के गृह विभाग ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है जो पर्यटकोंं यानी आपके के लिए काफ़ी सुविधापूर्ण है।

लद्दाख Ladakh में पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में उप-राज्यपाल आरके माथुर ने लद्दाख पुलिस के टूरिस्ट विंग (Tourist Wing) का शुभारंभ किया था। इससे संबंधित आर्टिकल का लिंक 👇

https://tripoto.page.link/2YQafLhDnEuKkbZu8

साथ ही लद्दाख के गृह विभाग ने स्थानीय निवासियों सहित सभी भारतीय नागरिकों के लिए लद्दाख की यात्रा के लिए आवश्यक इनर लाइन परमिट ( inner line permit) की ज़रूरत को हटा लिया है।

इससे पैसे, समय और दिमागी सुकून तीनों का फायदा पर्यटकों को मिलेगा। अब DC ऑफिस से स्टाम्प लगवाना (ऑफलाइन) के झंझट की बचत, LAHDC से सीधा परमिट निकालने के दौरान ऑनलाइन फीस भरने में सर्वर से होने वाली दिक्कतों से काफी राहत हो जाएगी। स्थानीय लोग जो पर्यटन के व्यवसाय से जुड़े हैं, उन्होंने ने भी इस फैसले का स्वागत किया है ।

Near Diskit Confluence of Shyok and Nubra(Sicahen) rivers in Nubra Valley

Photo of Leh by RoamingMayank

यानी अब लद्दाख के किसी भी पर्यटक क्षेत्र को देखने के लिए आपको किसी परमिट की ज़रूरत नहीं। ये लद्दाख के वो कुछ प्रमुख क्षेत्र हैं जहां ज़्यादातर पर्यटक जाते थे और इनके लिए परमिट की आवश्यकता होती थी।

नूब्रा घाटी एक ऐसा स्थान है जहां आप आसमान छूते पहाड़ों और वेग से बहती श्योक नदी के बीच थार रेगिस्तान की तरह फैली रेत और रेत के टीलों को देखकर आश्चर्य चकित रह जाते हैं। यहीं पायी जाती है विश्व प्रसिद्ध हुंडर के सैंड ड्यून्स और दो कूबड़ वाले ऊंट.

Hunder

Photo of Nubra Valley by RoamingMayank

Double Hump Camel

Photo of Nubra Valley by RoamingMayank

खारदूंग ला / KHARDUN LA (5359 मीटर) ये हाल ही तक दुनिया की सबसे ऊंची मोटरेबल रोड के नाम से जानी जाती थी। उमलिंग ला को (5883 मीटर) अभी हाल ही मे बॉर्डर रोड और्गनाईजेसन द्वारा दुनिया की सबसे ऊंची मोटरेबल रोड घोषित की गई है।

Kharsunlga Top 5359 meters

Photo of Khardung La by RoamingMayank

Turtuk / तुर्तुक

ये भारत का दूसरा सबसे उत्तरी छोर पर बसा गांव है और लेह से 200 किमी दूर है। वहीं LOC से महज 2.5 किमी दूर है। हुंडर घाटी से तुर्तुक तक जाने वाली रोड बेहद खूबसूरत है।

Turtuk Village

Photo of Turtuk by RoamingMayank

पनामिक

खालसार से आप जब सियाचिन बेस कैंप/ सियाचिन ग्लेशियर की तरफ चलते हैं तब बीच में आता है, पनामिक जो सियाचिन/ नुब्रा नदी के साथ साथ चलता है। यहां एक गर्म पानी का प्राकृतिक मेडिकल बाथ है जिसे आप विजिट कर सकते हैं।

Photo of Panamik by RoamingMayank

पैनगांग झील / PANGONG LAKE 

ये झील साफ मौसम के दौरान अपने नीले दिखाई देने वाले पानी के फेमस है। हालांकि थ्री इडियट्स मूवी का आखिरी सीन यहां शूट होने के बाद यहां आने वाले पर्यटकों की भीड़ अचानक बढ़ गई है। इसलिए यहां आपको अगर मजमा लगा दिखे तो कोई आश्चर्य नहीं।

Pangong Tso Lake

Photo of Pangong Lake by RoamingMayank

सो मोरिरी झील / TSO MORIRI 

लद्दाख में पूरी तरह स्थित झीलों में सबसे बड़ी है ये सो मोरिरी झील। 4500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित ये ग्लेसियल झील अपने ज्यादातर नीले दिखाई देने वाले पानी, अपने शांत वातावरण और कम भीड़ के लिए जानी जाती है। लेह से करीब 250 किमी दूर ये बिल्कुल तिब्बत बॉर्डर के पास है। इसे देखना न भूलें 👌

Tso Moriri

Photo of Tsomoriri by RoamingMayank

चांग ला / CHANG LA

लद्दाख के सबसे कठिन रास्तो में से एक चांग ला (5391 मीटर) है जिसकी एश्फाल्ट रोड बहुत प्रसिद्ध है। यहां गाड़ी चलाना अपने आप मे एक चैलेंज है। लेह से पैनगांग झील जाते हुए ये बीच में पड़ता है।

Chang La

Photo of Chang La Pass by RoamingMayank

तो अपनी तैयारी को covid19 के सुरक्षा प्रोटोकोल के साथ शुरू कर लीजिए। ऐसी और पर्यटन संबंधी जानकारी और नयी जगहों के बारे जानने के लिए मेरे साथ tripoto पर जुड़ें और फॉलो करें 🙏