संगीत से है प्यार तो इन शहरों में बिताओ कुछ वक्त

Tripoto

भारत ना केवल अपनी संस्कृति और धर्म के मामले में समृद्ध है, बल्कि संगीत का भी खज़ाना अपनी विविधता में समेटे हुए है। शास्त्रीय और कर्नाटक जैसे विभिन्न संगीत शैलियों का घर है भारत और वीणा, तबला और सितार जैसे वाद्ययंत्रों ने भारतीय संगीत को दुनिया भर में एक अलग पहचान दिलाई है। इसलिए अगर आप अपनी यात्रा में कुछ अलग करना चाहते हैं, और अगर संगीत आपके जीवन का एक अहम हिस्सा है, तो आप संगीत की सरगर्मी के लिए इन लोकप्रिय शहरों में जाने का मौका बिल्कुल ना छोड़ें।

1. कर्नाटक संगीत - चेन्नई

कर्नाटक संगीत, संगीत के सबसे पुराने रूपों में से एक है, जिसकी जन्म दक्षिण भारत, खासकर चेन्नई में हुआ। शायद कोई और शहर अपने संगीत इतिहास को उतने गर्व के साथ नहीं दर्शाता, जितना कि चेन्नई करता है, और इसलिए, वे अपने संगीत को बहुत गंभीरता से लेते हैं। शास्त्रीय और कर्नाटक संगीत प्रेमी कर्नाटक संगीत समारोहों में भाग ले सकते हैं जहाँ कई कर्नाटक गायक साल भर प्रदर्शन करते हैं।

श्रेय: सारा वेल्श

Photo of चेन्नई, Tamil Nadu, India by Bhawna Sati

संगीत सत्र का बढ़िया समय: दिसंबर से जनवरी तक

मुंबई से उड़ान की लागत: ₹4600 (लगभग)

2. मांगनियार गायन - जैसलमेर

राजस्थान को भोपा, जोगी, सपेरा, लंगास, और मांगियार जैसे संगीतकारी कुल से नवाज़ा गया है। मांगानियरों को उदारवादी होने के लिए जाना जाता है। अगर आप एक सांस्कृतिक मेले में संगीत की जन्नत के बीच कुछ वक्त बिताना चाहते हैं, तो आपको जैसलमेर में मांगनियार लोक संगीत समारोह में भाग लेना चाहिए।

श्रेय: सुबोध पाठक

Photo of राजस्थान, India by Bhawna Sati

संगीत सत्र का बढ़िया समय: नवंबर से जनवरी तक

मुंबई से उड़ान की लागत: ₹4000 (लगभग)

3. भारतीय शास्त्रीय संगीत - पुणे

एक शैक्षिक केंद्र और भव्य विरासत का गढ़ होने के अलावा, पुणे कई संगीत समारोहों और सांस्कृतिक समारोहों का घर भी है। पुणे को भारतीय शास्त्रीय संगीत को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है, इतना कि बहुत सारे संगीत प्रेमी भारतीय शास्त्रीय संगीत और वाद्ययंत्रों की पढ़ाई और ट्रेनिंग के लिए यहाँ आना पसंद करते हैं। इसके अलावा, पिछले कुछ साल में ब्लू -फ्रॉग जैसे बड़े वेन्यू की शुरुआत के साथ, पुणे में पॉप, रॉक और मेटल म्यूज़िक को पसंद करने वाले भी तेज़ी से उभरे हैं भी आकर्षित किया है।

श्रेय: माइकल हॉफनर

Photo of पुणे, Maharashtra, India by Bhawna Sati

संगीत सत्र का बढ़िया समय: दिसंबर

मुंबई से उड़ान की लागत: ₹3200 (लगभग)

4. रॉक म्यूज़िक- बेंगलुरु

वैसे तो बेंगलुरु हमेशा कुछ बेहतरीन नाइटक्लब और लाइव म्यूज़िक के लिए सुर्खियों में रहा है, लेकिन बैंगलोर के स्थानीय लोगों का ध्यान अब रॉक म्यूज़िक पर है। और लोगों के इस प्यार ने कई बड़े अंतरराष्ट्रीय संगीत महारथियों को बैंगलोर आने के लिए भी मजबूर किया है। इसलिए, विभिन्न संगीत समारोह, खासतौर पर- फायरफ्लाइज़ फेस्टिवल ऑफ़ म्यूज़िक, स्टॉर्म फ़ेस्टिवल, NH7 वीकेंडर हर साल बैंगलोर में होते हैं।

श्रेय: साद फारुके

Photo of बेंगलुरु, Karnataka, India by Bhawna Sati

संगीत सत्र का बढ़िया समय: जनवरी से अप्रैल

मुंबई से उड़ान की लागत: ₹1700 (लगभग)

5. रवीन्द्र संगीत - कोलकाता

एक बेहतरीन कवि और नोबल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा शुरू किया गया, रबींद्र संगीत, बांगला संगीत की सबसे लोकप्रिय शैली है। संगीत की ये श्रेणी बंगाल के सांस्कृतिक खज़ाने को प्रदर्शित करती है और मानवीय भावनाओं को कई सारे तरीकों से मधुर संगीत के ज़रिए पिरोती है। कुछ गीतों में, आप दर्शन, त्याग, भक्ति, प्रेम और दूसरी भावनाओं का अनुभव कर सकते हैं।

श्रेय: शिहन

Photo of कोलकाता, West Bengal, India by Bhawna Sati

संगीत सत्र का बढ़िया समय: नवंबर से फरवरी

मुंबई से उड़ान की लागत: ₹3500 (लगभग)

तो वक्त है अपने अंदर के संगीत प्रेमी को जगाने का। और भारत के ये जादूई म्यूज़िक फेस्टिवल आपका काम आसान कर देंगे।

क्या आपने कभी संगीत के लिए यात्रा की है? यहाँ क्लिक करें और अपने अनुभव Tripoto पर यात्रियों के समुदाय के साथ बाँटें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment