शक्सगाम: भारत की वो घाटी जहाँ भारतीयों को ही नहीं मिलती एंट्री

Tripoto
Photo of शक्सगाम: भारत की वो घाटी जहाँ भारतीयों को ही नहीं मिलती एंट्री 1/2 by Kanj Saurav

एक खूबसूरत देश जहाँ हर मील में कुदरत का नज़ारा बदलता है - भारत में वो सब कुछ है जो आप देखना चाहते हैं - पहाड़, रेगिस्तान, घाटी, समुद्र तट, दलदल, मैन्ग्रोव और वर्षावन। हालांकि, भारत में कुछ शानदार जगहें हैं जो नागरिकों की पहुँच से दूर हैं। ऐसी ही एक जगह है शक्सगाम। आपने इसका नाम पहली बार सुना होगा, लेकिन जब आप भारत के नक्शे पर नज़र डालेंगे तो पाएँगे ये हमेशा से ही यहाँ था।

कहाँ है शक्सगम?

Photo of शक्सगाम: भारत की वो घाटी जहाँ भारतीयों को ही नहीं मिलती एंट्री 2/2 by Kanj Saurav

शक्सगाम घाटी सियाचिन ग्लेशियर के उत्तर-पश्चिम, बाल्टिस्तान के उत्तर, गिलगित के पूर्व और चाइना के ज़िनजियाँग के दक्षिण में स्थित है।दक्षिण में काराकोरम रेंज और उत्तर में कुन लून पर्वत श्रृंखला के बीच बना शक्सगाम दुनिया के कुछ सबसे ऊँचे पहाड़ों से घिरा हुआ है। पहुँचने के मुश्किल रास्ते की वजह से ये इलाका आज भी भीड़ के अतिक्रमण से बचा हुआ है और इसकी सुंदरता वैसे ही बरकरार है। हालाँकि, भारत आधिकारिक रूप से इसे भारतीय क्षेत्र का हिस्सा मानता है, लेकिन 1963 से ये इलाका चीन के प्रशासन में है, और इससे पहले पाकिस्तान इसे कश्मीर का हिस्सा होने का दावा करता था।

फिलहाल तो इस इलाके को लेकर काफी राजनीति हो रही है क्योंकि यहाँ भारत, पाकिस्तान, चीन, अफगानिस्तान और ताजिकिस्तान की अंतर्राष्ट्रीय सीमाएँ एक हो जाती है। लेकिन, इसे छोड़ नजर डालते हैं इस बला कि खूबसूरत ज़मीन पर और उम्मीद करते हैं कि कभी हम भी इस जन्नत पर कदम रख पाएँ।

Photo of शक्सगाम नदी by Kanj Saurav
Photo of शक्सगाम नदी by Kanj Saurav
Photo of शक्सगाम नदी by Kanj Saurav

अगर ये स्वर्ग सी जगह पर्यटन के लिए खुली होती, तो शक्सगाम स्विट्जरलैंड और आइसलैंड जैसी सबसे पसंदीदा विदेशी जगहों को भी पीछे छोड़ देती। दुनिया एक खूबसूरत जगह है, और कभी-कभी यह सुंदरता इसे चाहने वालों के बीच झगड़े का कारण बन जाती है। शक्सगाम वह करामाती जादू है जिस पर फिलहाल पर्दा डाल दिया गया है।

Photo of शक्सगाम: भारत की वो घाटी जहाँ भारतीयों को ही नहीं मिलती एंट्री by Kanj Saurav

क्या आप भी ऐसी किसी अनोखी जगह के बारे में जानते हैं? Tripoto पर अपनी कहानी लिखें और अपना अद्भुत अनुभव बाकी मुसाफिरों के साथ बाँटें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment