Longewala 1/undefined by Tripoto

Longewala

Shashank Jain
We reached Longewala by 1.15 PM. It is a war memorial which has at display the Pakistani tanks and guns that were captured during the 1971 Indo-Pak war. There are a lot of inspirational quotes written everywhere. We also saw a short documentary on the war as it happened and how bravely our soldiers fought an army 30x bigger than them. We felt so patriotic at that place. Longewala is indeed a place to visit and to feel the sacrifices our soldiers make to keep us safe.
Amitesh Kochhar
Tripoto
11. भारत-पाक बोर्डर पर जाएँतनोट माता मंदिर और संग्रहालय की आध्यात्मिक यात्रा के बाद, आप भारत-पाकिस्तान बोर्डर पर जाकर दोनों देशों के बीच की अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखा देख सकते हैं।हालांकि, सीमा पर जाने से पहले, भारतीय मिलिट्री और स्थानीय प्राधिकारी से उचित दस्तावेज और अनुमति लेनी होगी।मुझे यकीन है कि आप जैसलमेर में इन 11 चीजों का भरपूर आनंद लेंगे। हर पुराने शहर की एक जीवंत आत्मा होती है और कुछ आश्चर्यचकित करने वाले किस्से, कहानियाँ और तथ्य होते हैं। आशा है यहाँ आपका बिताया हुआ हर पल एक सुखद याद से भर जाए।अगर आपने भी जैसलमेर का सफर किया है तो अपनी यात्रा की कहानियाँ और अनुभव बाकी यात्रियों के साथ बाँटें और Tripoto पर अपना ब्लॉग बनाएँ।यह आर्टिकल ओरिजनली Travel With Jha पर प्रकाशित हुआ था।
Jaiveer Yadav
Longewala is a border town in the Thar Desert in the western part of Jaisalmer district, in the state of Rajasthan. It is very close to the border with Pakistan and is most notable as the location of the Battle of Longewala during the Indo-Pakistani War of 1971.
Harleen Sandhu
Today, you can see the captured tanks and trucks of Pakistan lying around there, where civilians can climb and click pictures with pride.