"भारत एक कविता"

Tripoto

घुमक्कड़ों की दुनिया में आज एक अहम दिन है, क्योंकि आज वर्ल्ड टूरिज़म डे जो है!  इस साल वर्ल्ड टूरिज़म डे के मौके पर भारत को मेहमाननवाज़ी का मौका मिला है । तो आज एक मुसाफिर और  लेखक के तौर पर मेरी दिलचस्पी और ज़िम्मेदारी दोनों बढ़ गई  हैं।। तो मैंने सोचा कि क्यों न इस साल कुछ अलग किया जाए। भारत के उन जाने-माने, छोटे- बड़े शहरों की सैर आपको अपनी कविताओं के ज़रिए कराउँ। तो चलिए, शुरू करते हैं ये सफर!

"भारत, एक देश"

भारत देश दुनिया का सिर्फ एक छोटा सा हिस्सा नहीं है बल्कि सोच, धारणाओं, भावनाओं, धर्मों, भाषाओं और इतिहास से परिपूर्ण एक देश है, जिसे किसी एक सांचे में ढालना, न्याय करना नहीं होगा। हमें ये बात समझनी चाहिए की सांस्कृतिक और आधुनिक, .ये दोनों भारत एक ही देश में ही बसते हैं और इसी का हिस्सा हैं। तौर तरीक़े बदल ज़रूर गए हैं, क्योंकि वो समय की चाह और ज़रूरतों की मांग थी। आज़ादी के बाद भारत का पुनर्जन्म जब हुआ तब इस शिशु सामान देश की भावनाएंँ, ज़रूरते बदल गईं। हम आज खु़द को आधुनिक मानते हैं। मगर हम सब को गर्व उसी इतिहास पर होता है, जो हम थे। हम वैसी ही कहानियों और पुराणों पर गर्व महसूस करते हैं क्योंकि वो हमें बाकी देशों से अलग बनाती हैं। मेरा ये भारत का दौरा आप सब को उसी ख़ासियत इतिहास को कम शब्दों में बताने का है, जिसे हम धीरे-धीरे भूल रहे हैं ।

1. बंबई जो 1995 में मुंबई हो गया!

Photo of "भारत एक कविता" 1/9 by Nishant Tripathi

2. कोलकाता, 2001 से पहले कलकत्ता कहलाता था।

Photo of "भारत एक कविता" 2/9 by Nishant Tripathi

3. हिन्दी और पंजाबी में दिल्ली और उर्दू के दीवानों के लिए देहली, अब कहलाती है हिन्दुस्तान की राजधानी।

Photo of "भारत एक कविता" 3/9 by Nishant Tripathi

4. अपने शेर से मुख में 1600 कि.मी.  की पश्चिमी तटीय रेखा समाए है गुजरात

Photo of "भारत एक कविता" 4/9 by Nishant Tripathi

5. नवम्बर 1, 1956 को आया था अस्तित्त्व में। केरल रखता है मालाबार की सबसे विशाल तटीय रेखा।

Photo of "भारत एक कविता" 5/9 by Nishant Tripathi

6. बनारस, जहाँ बनता है रस। महक मिलेगी यहाँ अस्सी की, बम भोले की है ये काशी।

Photo of "भारत एक कविता" 6/9 by Nishant Tripathi

7. मिठास है यहाँ की ज़बान में। मुस्कुराइए, क्योंकि आप लखनऊ में है।

Photo of "भारत एक कविता" 7/9 by Nishant Tripathi

8. दक्षिण पश्चिमी तट पर छोटा सा राज्य, जहाँ ज़िन्दा हो उठते हैं दीवाने, बन जाते हैं मस्ताने, आवारा बेफ़िकरों का घर है गोआ।

Photo of "भारत एक कविता" 8/9 by Nishant Tripathi

9. दुनिया का सबसे ऊँचा शिव मंदिर बसता है यहाँ, पंच केदार में नंबर एक पर, करिए सलाम, हमारे प्यारे से शहर तुंगनाथ का।

Photo of "भारत एक कविता" 9/9 by Nishant Tripathi
Be the first one to comment

Further Reads