जनवरी में घूमने के लिए ये हैं सबसे बेस्ट डेस्टिनेशन!

Tripoto
Photo of जनवरी में घूमने के लिए ये हैं सबसे बेस्ट डेस्टिनेशन! by Rishabh Dev

नया साल, नई घुमक्कड़ी। ऐसी तो होनी चाहिए हर घुमक्कड़ की जिंदगानी। हो सकता है कि बहुत सारे लोग नए साल पर कहीं गए हों, नए साल को खूबसूरत बनाया हो। लेकिन जनवरी में घूमने का मतलब सबसे सुंदर मौसम में घूमना, जब सर्द हवा हमें झकझोरने के लिए तैयार बैठी रहती हैं। कोई कठिन ट्रेक करता है तो कोई कुछ दिन किसी शांत हिल स्टेशन में गुज़ारता है तो कुछ बर्फ की जगह मैदानी इलाकों को देखना पसंद करते हैं। अगर आप जनवरी में घूमने जा रहे हैं तो हम आपके लिए एक लिस्ट लाए हैं जो आपको जनवरी में घूमने जाने का प्लान बनाने में मदद करेगी।

1. केदारकंठा

केदारकंठा, उत्तराखंड की उन फेमस जगहों में से एक है जहाँ ज्यादातर ट्रैवलर सर्दियों में जाने की चाहत रखते हैं। अगर आप घूमते ही रहते हैं, पहाड़ों पर जाते ही रहते हैं तो आपको केदारकंठा भी ज़रूर जाना चाहिए। केदारकंठा 15 कि.मी. का ट्रेक है जिसे दो दिन में पूरा किया जाता है। केदारकंठा ट्रेक करने के लिए आपको सांकरी गाँव जाना होगा। वहाँ जाने के लिए आपको देहरादून से बस या जीप लेनी पड़ेगी। केदाकंठा ट्रेक खूबसूरती के मामले में भी अव्वल है। पहाड़, पेड़ सब कुछ सफेदी में रंगे हुए दिखाई देते हैं। यही वजह है कि लोग केदारकंठा जाने को उत्सुक रहते हैं।

देहरादून से दूरीः 220 कि.मी.

2. नैनीताल

नैनीताल, झीलों का शहर है। अंग्रेजों ने इस शहर को विकसित किया। यहाँ टूरिस्ट गर्मियों में ठंडक पाने आते हैं और सर्दियों में बर्फ के मजे लेने। जनवरी में यहाँ इसलिए भी आना चाहिए क्योंकि तब यहां भीड़ भी कम रहती है। आप यहां भीमताल, नैनी लेक और हिमालय की पहाड़ी के शानदार नज़ारे देख सकते हैं। उत्तराखंड में टूरिस्ट जिस जगह पर आना पसंद करते हैं, नैनीताल उसमें से एक है। ये शहर उत्तराखंड के विकसित नगरों में से एक है। आप नैनी लेक में बोटिंग का भी आनंद ले सकते हैं। जनवरी में ये जगह आपको बहुत रास आएगी।

देहरादून से दूरीः 282 कि.मी.

3. शिमला

जनवरी में जब टूरिस्टों के जेहन में जो जगह आती है, शिमला उनमें से एक है। शिमला कभी अंग्रेजों की गर्मियों की राजधानी हुआ करती थी। आज ये जगह टूरिस्टों के लिए जन्नत है जो ज्यादा दूर न जाकर शहर को घूमना चाहते हैं, चलते-चलते पहाड़ों को देखना चाहते हैं। कुल मिलाकर शांति से एक हिल स्टेशन पर वीकेंड गुजारना चाहते हैं उनके लिए शिमला बेस्ट जगह है। जनवरी में बर्फ गिरने की वजह से चारों तरफ सफेदी ही सफेदी होती है। बस इसी बर्फ को देखने के लिए तो लोग शिमला जाना पसंद करते हैं। शिमला जाने का सबसे अच्छा रूट कालका से जाने वाली टाॅय ट्रेन है।

दिल्ली से दूरीः 340 कि.मी.

4. रानीखेत

अगर आप जनवरी में कहीं शांति और सुकुन वाली जगह खोज रहे हैं तो आपको उत्तराखंड के छोटे-से कस्बे रानीखेत ज़रूर आना चाहिए। रानीखेत अपनी अनूठी आबोहवा और शानदार नज़ारों के लिए फेमस है। टूरिस्टों को ये जगह इसलिए भी पसंद है क्योंकि यहाँ आकर हर चीज़ रूक-सी जाती है। ऐसा लगता है कि जिंदगी अगर कोई जी रहे हैं यहाँ के लोग। यहाँ देखने के लिए बहुत सारे मंदिर, गाॅर्डन हैं। इसके अलावा पहाड़ और हरियाली तो यहाँ के लिए वरदान है ही।

देहरादून से दूरीः 340 कि.मी.

5. कलिमपोंग

अगर आप जनवरी में पश्चिम बंगाल की खूबसूरती देखना चाहते हैं और आप कोलकाता नहीं जाना चाहते हैं तो आपको कलिमपोंग ज़रूर जाना चाहिए। कलिंमपोंग में बेहतरीन मोनेस्ट्री हैं जो देखने लायक है। इसके अलावा यहाँ के बाजार, सुंदर शहर देखने लायक है। जनवरी में सफेद चादर से ढका ये शहर और भी खूबसूरत लगने लगता है। जिनको लगता है कि पश्चिम बंगाल बहुत महंगा और कम खूबसूरत है, उन्हें कलिमपोंग आना चाहिए। यहाँ आकर उनके दोनों भ्रम टूट जाएँगे। ये शांत जगह जनवरी में घूमने के लिए सबसे बेस्ट है।

सिलिगुड़ी से दूरीः 70 कि.मी.।

6. खजुराहो

अगर आप जनवरी में बर्फ नहीं, मैदानी इलाकों में जाना चाहते हैं तो आपको खजुराहो जाना चाहिए। खजुराहो, मध्य प्रदेश की ऐतहासिक जगह है। यहाँ पर हजारों मंदिर हैं और जिनको घूमते हुए आपको उनमें खूबसूरती ही नहीं ऐतहासिक पहलू भी समझ पाएँगे। आप उस समय की कला भी समझ पाएँगे। जब किलों और ऐतहासिक भव्यता की बात आती है तो राजस्थान का नाम लिया जाता है, उस लिस्ट में उनको खजुराहो को भी जोड़ना चाहिए। खजुराहों में सूर्यास्त का नज़ारा बेहद फेमस है, आपको वो ज़रूर देखना चाहिए।

झांसी से दूरीः 175 कि.मी.।

7. जयपुर

जनवरी में जो कला और संस्कृति के रंग में ढलना चाहते हैं उन्हें देश की पिंक सिटी, जयपुर आना चाहिए। आप यहाँ शहर के अंदर और बाहर दोनों जगह भव्यता का रूप पाएँगे। भीतर सिटी पैलेस, हवा महल और म्यूजियम देखने लायक है। जयपुर शहर के बाहर आमेर किला, जयगढ़ फोर्ट और नाहरगढ़ फोर्ट देखने लायक है। सुबह-सुबह नाहरगढ़ की पहाड़ी से लालिमा का नज़ारा सबसे खूबसूरत होता है। वहाँ से जलमहल भी दिखाई देता है। आसमां में इसके अलावा आपको पतंगे ही पतंगें नज़र आएंगी। ये खूबसूरती है इस शहर की। अगर आप जनवरी में आ रहे हैं तो कम से कम तीन दिन का समय लेकर आएँ।

दिल्ली से दूरीः 295 कि.मी.

8. डाॅकी

जब भी हम नाॅर्थ-ईस्ट का नाम सुनते हैं तो वहाँ जान का मन करता है। उसकी वजह है वहाँ की सुंदरता और संस्कृति। नाॅर्थ-ईस्ट हमेशा लोगों को अचंभित करता रहता है। उसी तरह अचंभित करता मेघालय का एक गाँव है, डाॅकी। डाॅकी की सुंदरता आपको मंत्रमुग्ध कर देगी। डाॅकी से बांग्लादेश बाॅर्डर सिर्फ 2 कि.मी. की दूरी पर है। इसका मतलब है कि आप डाॅकी से बांग्लादेश भी जा सकते हैं और देख भी सकते हैं। यहाँ पर नदी, झरने, जंगल और पहाड़ आपका दिल खुश कर देंगे। अगर आप जनवरी में नाॅर्थ-ईस्ट आना ही चाहते हैं तो डाॅकी आ सकते हैं।

शिलांग से दूरीः 95 कि.मी.

9. गोकर्ण

सर्दियों में लोग दो जगहें जाना बहुत पसंद करते हैं, बर्फ देखने और समुद्र देखने। अगर आप समुद्र देखना चाहते हैं तो इस जनवरी में आपको गोकर्ण जाना चाहिए। जब समुद्र जाने की बात आती है तो सबके पास एक ही नाम होता है, गोवा। लेकिन गोवा जनवरी में लोग से धकाधक भरा रहता है। अगर आपको गोवा जैसी खूबसूरत कहीं और मिलेगी तो वो गोकर्ण में मिलेगी। गोकर्ण से गोवा ज्यादा दूर नहीं है। आप ट्रैवल करके आराम से गोकर्ण जा सकते हैं

गोवा से दूरीः 134 कि.मी.

10. चंबा

जनवरी में आपको हिमाचल के चंबा ज़रूर जाना चाहिए। अगर आप चंबा नहीं गए तो क्या खाक हिमाचल गए? बिना चंबा गए, हिमाचल घूमना अधूरा है। चंबा में कई ट्रेक हैं, 100 साल पुराना बंगला है और कई मंदिर भी हैं। इसके अलावा सबसे ज्यादा यहाँ आपको हरियाली मिलेगी। अगर आप चंबा जा रहे हैं तो मणिमहेश लेक, काला टाॅप नेशनल पार्क और खज्जिार जरुर जाएँ। चंबा हिमाचल के सभी बड़े शहरों से जुड़ा है। आप यहाँ आराम से पहुँच सकते हैं।

शिमला से दूरीः 360 कि.मी.

11. जांस्कर

इस जनवरी में आपको सफेद चादर की रोड पर चलने का मन हो तो जांस्कर जाना चाहिए। सर्द हवा और खूबसूरत नजारे आपको यहां मंत्रमुग्ध कर देंगे। सर्दियों में यहाँ चारों तरफ बर्फ ही बर्फ होती है। अगर आपका ट्रेक करने का मन है तो आप यहाँ चादर ट्रेक भी कर सकते हैं। चादर ट्रेक भारत का सबसे लंबा ट्रेक है। इसे सबसे कठिन ट्रेक माना जाता है। बर्फ पर चलना सर्दियों में सबसे खूबसूरत अनुभव है। इसी अनुभव को जीने लोग यहाँ आते हैं। ट्रेकिंग के अलावा आप यहाँ रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग भी कर सकते हैं।

कारगिल से दूरीः 250 किमी.।

मदुरै

तमिलनाडु आने का सबसे बेस्ट टाइम जनवरी है। इस समय प्रकृति का अनूठा रूप देखने को मिलता है। जनवरी ही वो महीना है जब यहाँ मामाल्लपुरम डांस फेस्टिवल होता है। इस फेस्टिवल में तमिलनाडु की संस्कृति भी दिखाई देती है। ये सब देखना ही तो भारत को समझना होता है। जनवरी में आप तमिलनाडु जाने की सोच रहे हैं तो मदुरै जाएँ। यहाँ जनवरी में आप मीनाक्षी मंदिर में होने वाले फ्लोट फेस्टिवल को भी देख पाएंगे। एक स्वर में मंत्रों की ध्वनि, रंगोली और डोसा का स्वाद इस जगह को अनोखा बना देता है।

रामेश्वरम से दूरीः 172 कि.मी.

13. कोलकाता

देश की एकमात्र मेट्रो सिटी जो कल और आज को एक साथ लेक चल रही है। यहाँ आधुनिकता भी उतनी ही है जितना यहाँ का आर्ट और कल्चर। इस शहर को देखते समय आपको लगेगा कि गाँव शहर में चल रहा है। जनवरी में ये शहर खूबसूरत की चरम सीमा पर होता है। जनवरी में आप इस शहर में दिन भर चल सकते हैं। जनवरी में ही यहाँ शांति निकेतन में पौष मेला भी होता है। आप यहाँ निक्को पार्क, विक्टोरिया मेमोरियल, हावड़ा ब्रिज, बेलूर मठ देख सकते हैं।

दिल्ली से दूरीः 1500 कि.मी.

तो आप अपने साल की शुरूआत कहाँ घूमने से कर रहे हैं? हमें कॉमेंट में बताएँ या अपना यात्रा अनुभव यहाँ लिखें।

Tripoto हिंदी अब इंस्टाग्राम पर! हमें फॉलो करें और  सुंदर जगहों के बारे में जानें।