इन 7 कारणों से मॉनसून में घूमने के लिए बेस्ट है केरल

Tripoto
Photo of इन 7 कारणों से मॉनसून में घूमने के लिए बेस्ट है केरल by Rishabh Dev

केरल देश के सबसे खूबसूरत प्रदेशों में से एक है। केरल की खूबसूरत बढ़ाते हैं यहाँ के सुंदर पहाड़, नदियाँ और घने जंगल। जहाँ कुदरत का ऐसा संगम हो वो जगह तो शानदार होनी ही है। चारों ओर फैली बेशुमार हरियाली और प्रकृति की छटा देखते ही बनती है। कहीं नारियल पेड़ तो कहीं केले के, हरे-भरे चाय बागान, गर्म मसालों की खुशबू, घने जंगल और अरब सागर का अद्भुत सौंदर्य देखते ही बनता है। केरल में लोग सर्दियों और गर्मियों में आने की सोचते हैं लेकिन केरल सबसे ज्यादा खूबसूरत और लाजवाब होता मॉनसून के दिनों में।

Photo of केरल, India by Rishabh Dev

केरल में लगातार बारिश नहीं होती है जिससे आना-जाना रूक जाये। यहाँ बारिश घूमने वालों की तरह ही है, आती-जाती रहती है। लेकिन जब बारिश रूक जाती है उसके बाद केरल सबसे हसीन लगने लगता है। अगर आप मॉनसून में केरल ना आने की सोच रहे हैं तो बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं। मॉनसून के दिनों में केरल क्यों आना चाहिए वो मैं बता देता हूं।

1. हरियाली ही हरियाली

Photo of इन 7 कारणों से मॉनसून में घूमने के लिए बेस्ट है केरल by Rishabh Dev

घूमते वक्त आप क्या चाहते हो? चारों तरफ हरियाली हो, शांति हो और उस प्रकृति की गोद में हो। मेरा यकीन मानिये जब आप केरल में होंगे तो आपको हरियाली के अलावा और कुछ नहीं दिखेगा। मॉनसून के शुरू होते ही पेड़-पौधे सब चहकने लगते हैं और वो बीच में आती बरसात थोड़ा रोक देती है। उस रूके हुए समय में आप आराम से इस हरियाली को निहार सकते हैं। अगर केरल में मुन्नार की चोटी पर होंगे तो आप प्रकृति को देखकर मंत्रमुग्ध हो जाएंगे। मेरे ख्याल से इतनी खूबसूरती और कहीं नहीं होगी।

2. ओणम फेस्टिवल

केरल के सबसे मशहूर त्योहारों में से एक ओणम मॉनसून सीज़न में ही होता है। इस साल ओणम फेस्टिवल 1 से 13 सितंबर के बीच मनाया जायेगा। मॉनसून के दौरान केरल घूमने का एक फायदा ये भी है कि आप वर्ल्ड फेमस ओणम फेस्टिवल को भी देख सकेंगे। राजा महाबली के स्वागत में मनाए जाने वाले ओणम में आपको केरल के कल्चर की एक समृद्ध झलक देखने को मिलेगी। साथ ही आप यहाँ स्नेक बोट रेस का लुत्फ भी उठा सकते हैं जो खास कर पम्पा नदी में होती है। ओणम फेस्टिवल के दौरान केरल जाने का एक और फायदा है कि आप यहाँ के कुछ ज़ायकेदार पकवानों का लुत्फ भी उठा सकेंगे। जो बाकी दिनों में आपको बहुत कम देखने को मिलेंगे।

3. चाय के बागान

इन सबके अलावा केरल एक और चीज़ के लिए फेमस है, चाय के बागान। इस जगह पर आकर आप बाकी सब कुछ भूल जाएँगे। जो इस जगह पर आ जाये, वो इस जगह से लौटना नहीं चाहता। इन बागानों में सबसे खूबसूरत होता है करीने से लगे पौधे। आप जब पहाड़ की चोटी से इन बागानों को देखते हैं तो ये वैसा ही लगता है जैसा कि हम पेंटिंग या तस्वीरों में देखते आए हैं। यहाँ आप चाय के बागान में चाय पत्ती तोड़ भी सकते हैं। इसके लिए आपको उनकी स्थानीय वेश-भूषा में आना होता है, जो वाकई शानदार अनुभव होता है। केरल में चाय के बागान के लिए सबसे फेमस है, मुन्नार हिल स्टेशन।

4. सुंदर प्राकृतिक नज़ारे

मॉनसून सीज़न में केरल की खूबसूरती अपने पूरे शबाब पर रहती है। इस दौरान आपको एक से एक प्राकृतिक नज़ारे देखने को मिलेंगे। खास कर केरल में मौजूद वाटर फॉल्स इस दौरान देखते ही बनते हैं। केरल के त्रिशूर से 47 कि.मी. दूर अथिराप्पिल्ली वाटरफॉल्स है आप मॉनसून सीजन में इसे देखने आ सकते हैं। साथ ही केरल के बीच और बैकवाटर्स का नज़ारा भी इस दौरान देखने लायक होता है जिसे आप कतई मिस नहीं करना चाहेंगे। केरल में पेरियार झील है, इसके अलावा रास्ते में बहुत सारे प्राकृति वाॅटरफाॅल्स हैं। जिनको आप रूककर देखना चाहेंगे तो सबको नहीं देख पाएँगे।

5. आयुर्वेद ट्रीटमेंट

आयुर्वेद ट्रीटमेंट और मसाज के लिए केरल दुनिया भर में जाना जाता है। आयुर्वेद ट्रीटमेंट के लिए यहाँ दुनिया भर से लोग आते रहते हैं। मॉनसून का सीज़न आयुर्वेद पद्धति पर आधारित मसाज करवाने के लिए सबसे बेस्ट होता है। कहा जाता है कि इस समय मसाज करवाने से शरीर को सबसे ज्यादा फायदा मिलता है। इस समय कम टूरिस्ट होने से आपको आयुर्वेद ट्रीटमेंट किफायती दामों में भी मिल जाती है। पूरे केरल में ढेरों ऐसे संस्थान हैं जहाँ आयुर्वेद ट्रीटमेंट और मसाज आप आसानी से करवा सकते हैं। मॉनसून सीज़न में केरल जाने का सबसे बड़ा फायदा है कि इस दौरान आपको भारी भरकम डिस्काउंट बड़ी ही आसानी से मिल जाएगा।

6. समुद्र किनारे मस्ती

मॉनसून में केरल जाओ और समुद्र के बढ़ते उफान को नहीं देखोगे तो बहुत कुछ मिस कर दोगे। केरल के समुद्र तट इस जगह को और भी खूबसूरत बना देते हैं। जब आप उत्तर भारत से केरल की ओर आते है तो अचानक कुछ बदलाव आते हैं। ये बदलाव यहाँ के समुद्र के किनारों पर भी देखा जा सकता है। समुद्र तट पर यहाँ बहुत बड़ी संख्या में नारियल के पेड़ आपको दिख जाएँगे। नारियल के पेड़ों की लंबी-लंबी क्यारियाँ पूरे राज्य में फैली हुईं हैं जो मॉनसून के दौरान जीवंत बनाती हैं।

यहाँ के स्थानीय लोग मछली भी पकड़ते हैं तो आप बैठे-बैठे इस नज़ारे को भी देख सकते हैं। अगर आप नाॅन-वेजटेरियन हैं तो समुद्र किनारे ताज़ा पकाई हई, मसालेदार समुद्री मछली का आनंद लें सकते हैं। केरल का एक खूबसूरत गाँव है, मारारीकुलम, जो अल्लेपी जिले में है। ये जगह बेहद आकर्षक और खूबसूरत है। ये गाँव समुद्र के किनारे बसा हुआ है, मॉनसून के दिनों में ये गाँव और भी खूबसूरत हो जाता है। जो मॉनसून के दौरान और भी आकर्षक हो जाता है। मॉनसून के दिनों में केरल आएँ तो ऐसे गाँव में जाना न भूलें।

7. कला और संस्कृति

केरल खूबसूरती और प्रकृति के नायाब चेहरे के लिए तो जानी ही जाती है। इसके अलावा केरल डांस, नाटक और म्यूजिक के लिए भी स्वर्ग है। इस राज्य की कला और संस्कृति हमेशा दुनिया भर के लोगों को आकर्षित करती है। केरल प्रकृति के लिए काफी फेमस है जो कई प्रकार की भावनाओं, रोमांच, प्रेम, दया, मिठास, आनंद, आश्चर्य, भय, और साहस आदि का अनुभव करते हैं। ओणम फेस्टिवल में एक भव्य दावत भी होती है जिसमें कई प्रकार के शाकाहारी व्यंजन पारंपरिक रूप परोसा जाता है। 10 दिन तक चलने वाले इस फेस्टिवल में हर दिन अलग-अलग पारंपरिक भोजन होते हैं। जिसमें पूक्कलम, वल्लम काली और पुलीकाली जैसे स्वादिष्ट व्यंजन का स्वाद लेने को भी मिलता है।

झरने, पौधे और रेनफॉरेस्ट से घिरी पहाड़ियाँ फोटोग्राफरों को आकर्षित करती हैं। यहाँ के वन्यजीव अभ्यारणय में मॉनसून के दिनों में कई प्रवासी पक्षियों का झुंड देखने को मिलेगा। यहाँ का पर्यटन विभाग जुलाई में एक मॉनसून कार्निवल का आयोजन भी करता है। कई तरह के स्थानीय खेल जैसे कीचड़ों वाले फुटबॉल और तीरअंदाजी का लुत्फ भी उठा सकते हैं। ऐसे ही केरल को देखते-देखते आपको उससे प्यार हो जायेगा।

तो चलिए बैग पैक करिए और मॉनसून में केरल घूमने की तैयारी शुरू कर दीजिए।

यात्रा से जुड़े सवाल पूछने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment

Further Reads