रोमांच और खूबसूरती का मेल है कसोल

Tripoto

अगर आप कसोल नहीं गए हैं तो आपने उस स्थिरता को महसूस ही नहीं किया है। कसोल कुल्लू का एक ऐसा गाँव जो एक बदलती तस्वीर की तरह है, जहां आपको हर दिन एक नई खूबसूरती दिखेगी और आप वहाँ से निराश नहीं लौटेंगे। अपनी ट्रेकिंग और कैम्पिंग के लिए मशहूर यह जगह आपको भी आनंद और सुकून से भर देगी।

श्रेय: सायन सांत्रा

Photo of कसोल, Himachal Pradesh, India by Aastha Raj

भारत के मिनी इजराइल कसोल तक का बस का सफ़र मेरी ज़िंदगी का सबसे बेहतरीन सफ़र था। हिमालय की उँचाई पर ड्राईवर के लिए गाड़ी चलाना इतना आसान नहीं था, घुमावदार रास्ते, कुछ जगहों पर पड़ाव, सीमित खाना और नींद के बाद कसोल पहुँच कर बहुत ख़ुशी हो रही थी। नए साल के वक़्त कसोल एक मज़ेदार जगह है और उसी समय मैं एक शानदार पार्टी का हिस्सा बनी। द पार्वती शांग्री-ला फेस्ट, एक ऐसा फेस्ट जहाँ के लोग गानों के नशे में झूम रहे थे और इस फेस्ट का आयोजन कताग्ला के स्काई हेवन कैफ़े के मालिक ने करवाया था। अगर आपको झूमने वाला म्यूज़िक, सस्ता बाज़ार, और लाइव डीजे पसंद है तो इस फेस्ट का आनंद आप जून में भी ले सकते हैं। आप ऊँचे पहाड़ों पर चढ़ाई कर सकते हैं और कसोल से 30 मिनट दूर जंगल के रास्ते , पार्वती घाटी के पास चलल तक जा सकते हैं।

प्रकृति के बीच रोमांच

पुराने और नए कसोल के बीच सिर्फ एक पुल की दूरी है और आप आस पास के गाँव घूमने के लिए छोटी पैदल यात्रा पर ज़रूर जा सकते हैं। सभी जगह आपको आरामदायक ठहरने की जगह और मनचाहा खाना नहीं मिलेगा पर आप वहाँ के निवासियों का स्नेह देखकर चौंक जाएँगे। कई लोगों को कैंप, पार्टी और ट्रेकिंग करना पसंद है और यहाँ आपको सब कुछ मिलेगा।

अगर आप ग्रामीण इलाकों का अनुभव करना चाहते हैं तो कसोल से मलाना और तोष तक की चढ़ाई आपके लिए बेहतरीन रहेगी। जब मैं कसोल में थी तो सिर्फ तोष तक जा पाई थी जो कसोल से एक घंटे की ड्राइव पर है। रास्ते में मैं मणिकरण से भी हो कर गुज़री थी जो हिंदू और सिख धर्म के अनुसार पूजनीय स्थल है, तो अगर आप यहाँ आते हैं तो गुरुद्वारा ज़रूर जाएँ।

तोष गाँव की खूबसूरती

तोष 7000 फीट की उँचाई पर बसा है। कसोल से एक घंटे का गाड़ी का सफ़र तय करने के बाद आप पूरा गाँव पैदल घूम सकते हैं और वहाँ के निवासियों से गाँव के बारे में जानकारी ले सकते हैं। गाँव तक का रास्ता हर भरे खेतों और पहाड़ों से भरा है। रास्ते में आपको बर्फ से ढके हिमालय पर्वत का नज़ारा भी मिलेगा।

कई प्रकार के भोजन का शहर

कसोल की अपनी अलग खूबसूरती है और आप कसोल की कई बेहतरीन जगह भी जा सकते हैं और आपको हर जगह नाना प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजनों की भरमार मिलेगी। बस आप एक बार वहाँ पहुँच गए फिर इटैलियन, चाईनीज़, भारतीय, फ्रेंच, इजराइल और जर्मन, किसी भी देश के खाने का लुत्फ़ उठा सकते हैं।

तो आप भी निकल पड़ो इस छोट मगर बेहद खूबसूरत गाँव के सफर पर। अपने दोस्तों को साथ लेना मत भूलना!

अपने सफरनामें  यहाँ लिखें और Tripoto के यात्रियों के समुदाय के साथ बाँटे और अनेकों यात्रियों से जुड़ें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment